FIH प्रो लीग: ग्रेट ब्रिटेन पर एक और जीत के बाद शीर्ष पर बरक़रार बेल्जियम

इस जीत के बाद सात अंकों की बढ़त के साथ बेल्जियम FIH प्रो लीग की अंक तालिका में शीर्ष बनी हुई है। दूसरे स्थान पर नीदरलैंड की टीम है।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

FIH प्रो लीग के मुक़ाबले में बेल्जियम की पुरुष टीम ने रविवार को ब्रसेल्स के रॉयल उक्कल स्पोर्ट्स क्लब में ग्रेट ब्रिटेन को 2-1 से हरा दिया।

इस जीत के साथ शीर्ष स्थान पर मौजूद रेड लायंस को दूसरे स्थान पर मौजूद नीदरलैंड से सात अंकों बढ़त मिल गई है। बेल्जियम के 10 मैचों में 24 अंक हैं, जबकि नीदरलैंड के आठ मैचों में 17 अंक हैं। अब मंगलवार को बेल्जियम का सामना नीदरलैंड से होगा।

बेल्जियम ने मैच की शुरुआत में अच्छा खेल दिखाया लेकिन ग्रेट ब्रिटेन ने शुरुआत इसका जल्दी ही जवाब देना शुरू कर दिया।

बेल्जियम के गोलकीपर लोइक वान डोरेन (Loic Van Doren) ने अपनी टीम के लिए पांच मिनट के भीतर दो गोल बचाए, लेकिन 5 मिनट बाद 24 वर्षीय से चूक हो गई। डेविड कॉन्डन (David Condon) ने गोल कर के ग्रेट ब्रिटेन को मुक़ाबले में बढ़त दिला दी।

रेड लायन्स ने आक्रामक खेल के साथ जवाब दिया लेकिन ब्रिटिश बैकलाइन ने पहले क्वार्टर तक उनको गोल करने का मौका नहीं दिया।

शनिवार को ब्रिटेन के खिलाफ 3-2 की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले जॉन-जॉन डोहमेन (John-John Dohmen) ने शानदार खेल दिखाया और गोल करके स्कोर को 1-1 से बराबर कर दिया।

बेल्जियम के ड्रैग-फ्लिकर अलेक्जेंडर हेंड्रिक (Alexander Hendrickx) ने पेनल्टी कार्नर के जरिए एक पॉवरफुल शॉट लगाकर अपनी टीम को 2-1 से बढ़त दिला दी। इस तरह उन्होंने एफआईएच प्रो लीग में आठवां गोल किया।

बेल्जियम के अलेक्जेंडर हेंड्रिक्स में FIH प्रो लीग 2020 में संयुक्त शीर्ष स्कोरर है।

एक गोल से आगे होने के बावजूद बेल्जियम ने अपना आक्रामक रवैया नहीं छोड़ा और ग्रेट ब्रिटेन पर तीसरे और चौथे क्वार्टर में हमला करते रहे।

ग्रेट ब्रिटेन के रूपर शिपरले के पास एक अच्छा मौका था, जब वो अपनी टीम को बराबरी का मौका दे सकते थे, लेकिन गेंद साइड नेट को लगकर बाहर चली गई।

ग्रेट ब्रिटेन की महिला टीम ने दर्ज की जीत

शनिवार को महिलाओं के मुक़ाबले में स्कोरलाइन बदल गई और ब्रिटेन की टीम ने बाज़ी मारी।

ग्रेट ब्रिटेन की महिला टीम एफआईएच प्रो लीग में चौथे स्थान पर पहुंच गई। 24 घंटे में दो बार एक ही टीम से खेलने वाली इस महिला टीम ने दूसरे मुक़ाबले में बेल्जियम को 2-1 हराया।

इससे पहले शुक्रवार के मैच में पेनल्टी शूटआउट के जरिए उन्हें 3-1 से हराया था, ग्रेट ब्रिटेन ने रेड पैंथर्स के खिलाफ पांच अंक हासिल किए।

इस मुक़ाबले की शुरुआत निराशाजनक रही, क्योंकि किसी भी टीम ने मैच के पहले 12 मिनट में कोई गोल करने का प्रयास नहीं किया। हालांकि, पहले क्वार्टर के अंतिम तीन मिनटों में कहानी पूरी तरह बदल गई।

ग्रेट ब्रिटेन ने हमला करने की शुरुआत की और 14वें मिनट में पेनल्टी कार्नर के जरिए गोल कर बेल्जियम को पीछे छोड़ दिया।

अन्ना टोमन (Anna Toman) के शॉट को बेल्जियम की गोलकीपर एलेना सोत्जियु (Elena Sotgiu) ने अच्छी तरह से कवर किया, लेकिन लिली ओवस्ले (Lily Owsley) ने बाद में आकर ग्रेट ब्रिटेन के लिए पहला गोल कर दिया।

हालांकि, ये बढ़त ज्यादा देर तक नहीं रही और दूसरे क्वार्टर में बेल्जियम की कप्तान बारबरा नेलन ने गोल कर स्कोर बराबर कर दिया।

बेल्जियम दूसरे हाफ में ज्यादा आक्रामक दिख रही थी, ग्रेट ब्रीटेन ने तीसरे क्वार्टर में फिर से बढ़त बना ली। पेनल्टी कॉर्नर के जरिए सारा रॉबर्टसन (Sarah Robertson) ने गोल कर टीम को बढ़त दिला दी। सारा रॉबर्टसन अपना 150 वां मैच खेल रही थीं।

ग्रेट ब्रिटेन की सारा रॉबर्टसन ने अपने 150वें मैच में बेल्जियम के खिलाफ विजयी गोल दागा।

स्कोर बराबर करने की उम्मीद से बेल्जियम ने अंतिम क्वार्टर में और आक्रामक खेल दिखाया। एलेना ने ग्रेट ब्रिटेन के लिए दो शानदार बचाव किए और बेल्जियम की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

जीत के साथ, ग्रेट ब्रिटेन आठ मैचों में 11 अंकों के साथ चौथे स्थान पर आ गई है, जबकि बेल्जियम आठ मैचों में सात अंकों के साथ छठे स्थान पर है।