फीफा 2022 वर्ल्ड कप की रेस से बाहर हुई भारतीय फुटबॉल टीम

मुहसेन अल गसानी के गोल ने भारत के सपनों पर पानी फेरते हुए फीफा 2022 वर्ल्ड कप क्वालिफायर में अपनी जगह मज़बूत कर ली।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

फीफा 2022 वर्ल्ड कप क्वालिफायर में भारतीय फुटबॉल टीम पूरे देश की उम्मीदों के साथ मैदान फतह करने उतरी थी।करोड़ों लोगों की दुआएं लेकर सुनील छेत्री और उनके साथी फीफा 2022 वर्ल्ड में हिस्सा लेने की चाह लेकर अपने देश की अगुवाई करते नज़र आए। अभी तक जीत से वंचित भारतीय फुटबॉल टीम के मनोबल पर सवाल उठ रहे थे और इस मुकाबले को जीतना उनके लिए ज़रूरी हो गया था। भारतीय टीम की उम्मीदों को उस समय करारा झटका लगा जब ओमान मुहसेन अल गसानी ने एक ज़ोरदार गोल दाग कर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई।

ओमान के खिलाफ मिली हार के बाद भारतीय फुटबॉल टीम का फोकस अब टॉप 3 में आकर एशियन कप में क्वालिफाई करना होगा।

भारतीय अटैक पड़ा फीका

फीफा 2022 में अपनी जगह बनाने के लिए उतरी भारतीय टीम के हाथ एक बार फिर निराशा ही आई। इसमें कोई दो राय नहीं कि ओमान के घर में खेलती भारतीय फुटबॉल टीम का जोश देखते ही बना। खेल के दौरान फ्री किक के रूप में टीम को सुनेहरा मौका मिला लेकिन ब्रैंडन फर्नांडिस और सुनील छेत्री के खराब ताल मेल की वजह से भारत उस मौके को गोल में तब्दील नहीं कर पाया।

फीफा वर्ल्ड कप क्वालिफायर के दौरान भारत और ओमान की टक्कर। फोटो क्रेडिट एआईएफएफ मीडिया

दोनों ही टीमें जीत पर निशाना लगाए आगे बढ़ रहीं थी और दोनों के ही दिलों में 2022 में होने वाले फुटबॉल वर्ल्ड कप खेलने की चाह साफ़ दिख रही थी। खेल के दृष्टिकोण के हिसाब से बात करें तो ओमान का पलड़ा भारतीय टीम से भारी दिख रहा था। देखते ही देखते मोहसिन अल खाल्दी ने भारतीय डिफेंसको मात देते हुए जगह बनाई और अल गसानी को पास देते हुए उन पर भरोसा जताया। भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू के पास भी अल गसानी के शॉट का कोई जवाब नहीं था। अपने घर में खेलती हुई ओमान टीम ने इस गोल के साथ 1-0 की बढ़त बना ली और भारतीय टीम के लिए इस बढ़त की बराबरी करना एक चिंता का विषय बन चुका था।

भारतीय अटैक को किया पस्त 

सेकंड हाफ में ओमान ने डिफेंस करने की रणनीति बनाई और इसमें वह सफल भी हुए। मुकाबले में आगे चल रही ओमान टीम को एक बार फिर भारत के खिलाफ शिकंजा कसने का मौका मिला और उन्होंने गोल कोस्ट पर निशाना साधा। संधू की चतुराई और जोश ने ओमान को एक और गोल दागने से तो रोक लिया लेकिन अंक तालिका अभी भी ओमान के ही हित में थी। दबाव भारतीय खिलाड़ियों पर बढ़ता जा रहा था और भारत को कुछ अलग करने की ज़रूरत थी। इसी ज़रूरत को नज़र में रखते हुए उदांता सिंह ने अटैक करने की ठानी लेकिन ओमान के बेहतरीन डिफेंस ने भारत के गोल दागने के सपने पर एक बार फिर पानी फेर दिया।

मुकाबले के अब आखिरी 10 मिनट बचे थे और भारतीय टीम अभी भी गोल करने से वंचित थी। इस मौके को देखते हुए आशिक कुरुनियान और निशु कुमार ने अटैक करने की रणनीति बनाई। फीफा 2022 में खेलने का सपना लिए इस भारतीय टीम ने पूरी प्रतियोगिता में भरपूर कोशिश की लेकिन वह अपने नाम के आगे विजेता लिखने से वंचित रह गई। इस हार की वजह से फीफा 2022 फुटबॉल वर्ल्ड कप की रेस से भारत अब लगभग बाहर हो गया है। 1-0 से जीत हासिल कर चुकी ओमान ने भारतीय दिलों को ठेस पहुंचाते हुए अपनी आगे की राह यक़ीनन काफी आसान कर ली है।