ओलंपिक टेस्ट इवेंट में हरमनप्रीत सिंह करेंगे भारत का नेतृत्व

हरमनप्रीत ने कहा कि उन्हें थोड़ी हैरानी हुई। लेकिन यह गौरव के साथ ही जिम्मदारी वाला काम है। इसलिए मैं इसके लिए उत्साहित हूं और आने वाली सभी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हूं।

लेखक रितेश जायसवाल ·

भारत के 23 वर्षीय ड्रैग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह ने ओलंपिक टेस्ट इंवेट के लिए भारतीय टीम का कप्तान बनाए जाने के बाद बुधवार को कहा कि कप्तान बनाए जाने पर उन्हें हैरानी हुई, लेकिन वह ओलंपिक टेस्ट टूर्नामेंट में मिलने वाली सभी चुनौतियों से निटपने के लिए तैयार हैं। आपको बता दें, हरमनप्रीत को यह ज़िम्मेदारी ओलंपिक टेस्ट इवेंट के लिए ही दी गई है। जबकि भारतीय हॉकी टीम के नियमित कप्तान मनप्रीत सिंह को इस टूर्नामेंट के लिए आराम दिया गया है। यह टूर्नामेंट 17 से 21 अगस्त 2019 के बीच जापान में खेला जाएगा। जिसमें भारत के अलावा मलयेशिया, न्यूजीलैंड और मेज़बान जापान की टीमें शिरकत करेंगी।

हरमनप्रीत इससे पहले 2016 में जूनियर विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने कहा...

"जब बताया गया कि मुझे टीम का कप्तान बनाया जा रहा है, तो थोड़ी हैरानी हुई। लेकिन यह मेरे लिए गौरव के साथ ही ज़िम्मेदारी वाला काम है। इसलिए मैं इसके लिए उत्साहित हूं और आने वाली सभी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हूं।"

आत्मविश्वास से लबरेज़ एक युवा खिलाड़ी

2016 रियो ओलंपिक में खेलने वाले हरमनप्रीत भारतीय टीम के सबसे युवा खिलाड़ियों में से एक थे। उन्होंने लंदन में हुई एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी में यादगार प्रदर्शन करते हुए भारतीय टीम में अपना स्थान सुनिश्चित किया था। साल 2016 में हुई एफआईएच चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय हॉकी टीम ने ऐतिहासिक सिल्वर मेडल जीता था। इसमें हरमनप्रीत को टूर्नामेंट का उभरता हुआ सितारा चुना गया था।

हरमनप्रीत सिंह ने 2018 एफआईएच पुरुष हॉकी विश्व कप के दौरान पेनल्टी का जश्न मनाया

अपने पीछे के सफर को याद करते हुए हरमनप्रीत ने कहा, "जब भी मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो मैं खुद को भाग्यशाली समझता हूं। मैं ऐसे समय में भारतीय टीम का हिस्सा बना जब इसमें कई दिग्गज खिलाड़ी मौजूद थे। जिनके बीच मैं बहुत कुछ सीख सकता था। सरदार सिंह और वी आर रघुनाथ जैसे खिलाड़ियों का मुझ पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा। उनके मार्गदर्शन से मुझे अंतरराष्ट्रीय हॉकी के दबाव से बाहर निकलने में आसानी हुई।"