हांग कांग ओपन में ख़त्म हुआ किदांबी का सफ़र, सेमीफाइनल में मिली हार 

चुकयीयू ली ने हांग कांग ओपन सुपर 500 के सेमीफाइनल के दौरान कोर्ट में कमाल कर भारतीय शटलर श्रीकांत किदांबी पर दर्ज की शानदार जीत

लेखक जतिन ऋषि राज ·

भारत के स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी श्रीकांत किदांबी का हांग कांग ओपन सुपर 500 का सफ़र उस समय समाप्त हो गया जब सेमीफाइनल में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। शनिवार (16 नवंबर) को हुए सेमीफाइनल मुकाबले में उन्हें हांग कांग के चुकयीयू ली के सामने हार का सामना करना पड़ा। किदांबी की हार के साथ ही भारतीय खेल प्रेमियों की उम्मीदें पस्त हो गईं।

किदांबी के खिलाफ क्वार्टरफाइनल में चेन लोंग को चोट की वजह से खेल को बीच में ही छोड़ना पड़ा था जिस वजह से भारतीय शटलर का कारवां जीत के साथ आगे बढ़ा और वह सेमीफाइनल में प्रवेश किए। आपको बता दें कि किदांबी के प्रतिद्वंदी ने क्वार्टरफाइनल में विश्व नंबर 6 के खिलाड़ी विक्टर अक्सेल्सन को कोर्ट में पस्त कर सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाई थी।

लड़खड़ाए किदांबी के कदम

शुरुआत में ही ली ने मुकाबले में अपनी पकड़ बनानी शुरू कर दी जिस वजह से किदांबी की मुश्किलें बढ़ने लगीं। उच्च स्तर के शॉट्स खेलते ली के सवालों के जवाब किदांबी के पास न थे। अटैक और डिफेंस दोनों में माहिर ली ने किदांबी को पूरी तरह से खेल में बांधे रखा और 11-4 से गेम में बढ़त बना ली। हालांकि किदांबी ने जवाबी हमले में 5 अंक बटोरे लेकिन ली के अटैक और ड्रॉप शॉट्स का सामना करना उनके लिए मुश्किल हो रहा था।

किदांबी का पलटवार

दूरसे गेम में किदांबी ने रणनीति बदल कर अटैक करना उचित समझा जिस वजह से वह 5-1 से बढ़त बनाने में सफल भी हुए। तेज़ रफ़्तार से चल रहे इस गेम में किदांबी के वार ने ली से कुछ अनचाही गलतियां भी करवाईं जिसका भरपूर फायदा भारतीय शटलर ने उठाया। हांग कांग के रहने वाले ली ने गेम में खुद की वापसी की पुरज़ोर कोशिश की। लेकिन यह वह समय था जब लय किदांबी के पास ही थी।

किदांबी न कर सके कोर्ट को फतह

गेम अब 20-15 से किदांबी के हक में था और मानो किदांबी के कदम हांग कांग ओपन के फाइनल के एक कदम और करीब जाने लगे। ली भी कहां हार मानने वाले थे और उन्होंने एक के बाद एक अंक हासिल कर स्कोर को बराबर कर दिया। अब बारी थी दो लगातार अंक लेकर इस गेम को जीतने की और दिलचस्प बात यह रही कि दोनों ही खिलाड़ी ऐसा करने में बार-बार नाकाम हो रहे थे।

दोनों ही खिलाड़ियों के बेहतरीन खेल ने दर्शकों को बांधे रखा और दोनों ने ही यह बता दिया कि उनके तरकश में कितने तीर हैं। मौका देखते ही ली ने स्मैश शॉट का उपयोग करना शुरू कर दिया और 25-23 से किदांबी के हाथ से गेम और मुकाबला दोनों छीन लिया। इस हार के साथ ही किदांबी का 2019 हांग कांग ओपन जीतने का सपना अधूरा रह गया।

ग़ौरतलब है कि दो साल पहले यानि 2017 न्यूज़ीलैंड ओपन को जीत कर ली ने अपने खेल से सभी का दिल जीता था और अपने बेहतरीन खिलाड़ी होने का प्रमाण भी पेश किया था। रविवार (17 नवंबर) को फाइनल में ली का मुकाबला जोनाथन क्रिस्टीया एंथोनी सिनीसुका गिंटिंग से होगा।