जानिए कैसा रहा था भारतीय महिला हॉकी टीम का पिछला विदेशी दौरा

करीब एक साल बाद भारतीय महिला हॉकी टीम अर्जेंटीना दौरे के साथ एक्शन में लौटने को है तैयार   

लेखक दिनेश चंद शर्मा ·

रानी रामपाल के नेतृत्व में भारतीय महिला हॉकी की एक मजबूत टीम रविवार को अर्जेंटीना के लिए रवाना हुई। यहां भारत को मेजबान और विश्व में दूसरे नम्बर की टीम अर्जेंटीना से कड़ी चुनौती मिलेगी। चार मैचों का दौरा 26 जनवरी से शुरू होगा। मेहमान टीम मेजबान की सीनियर टीम से भिड़ने से पहले अर्जेंटीना की जूनियर और बी टीम के खिलाफ दो अभ्यास मैच खेलेगी।

पिछली बार भारतीय टीम ने कोरोना महामारी से पहले विदेशी धरती पर जनवरी 2020 में न्यूजीलैंड में मैच खेला था। इसमें रानी रामपाल की बिग्रेड उत्साहजनक प्रदर्शन के साथ लौटी थी।

आइये नजर डालते हैं भारतीय महिला हॉकी टीम के पिछले विदेशी दौरे पर:

2020 में भारतीय टीम का न्यूजीलैंड दौरा

भारतीय टीम ने जनवरी 2020 में न्यूजीलैंड में प्रदर्शन के साथ साल 2020 की शुरुआत की।

कप्तान रामपाल शुरू से ही अपने प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त थी। क्योंकि उन्होंने दो बार गोल दागकर भारत का आत्मविश्वास बढ़ाया और न्यूजीलैंड के विकास दल पर 4-0 से जीत दर्ज की है। अन्य दो गोल शर्मिला और नमिता टोप्पो ने किए।

हालांकि, भारतीय टीम, न्यूजीलैंड की सीनियर टीम के खिलाफ फॉर्म दोहराने में नाकाम रही और दौरे के दूसरे मैच में 1-2 से हार गई।

भारतीय महिला हॉकी टीम

मैच के पहले क्वार्टर में मेजबान टीम की खिलाड़ी मेगन हल ने एक पेनल्टी कार्नर के साथ स्कोर बनाया। पहले क्वार्टर के अंतिम मिनटों में भारत की सलीमा टेटे ने पेनल्टी कार्नर से एक गोल के अंतर को पाट दिया। दूसरी और तीसरे क्वार्टर में दोनों टीमें बराबरी पर थी लेकिन एक रक्षात्मक त्रुटि ने हल को जीत के लिए स्कोर करने का मौका ​दे दिया। 

तब मेहमान टीम को तीसरे मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 0-1 से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच का एकमात्र गोल होप राल्फ ने दागा था। भारत ने न्यूजीलैंड को दो पेनल्टी के सामने मजबूत डिफेंस दिखाया और इसे गोल में नहीं बदलने दिया। 

भारतीय टीम ने अगले मैच में वापसी की। भारत की ग्रेट ब्रिटेन पर 1-0 से जीत में एकमात्र गोल रानी रामपाल ने किया। 47वें मिनट में रामपाल ने गोल करके अपनी टीम को जीत दिलाई।

भारत ने आखिरी मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए न्यूजीलैंड को 3-0 से हराया। नवनीत कौर (45वें, 58वें मिनट) में गोल दागा जबकि जबकि शर्मिला ने 58वें मिनट में गोल करके भारतीय टीम का मनोबल बढ़ाने वाली जीत दिलाई।