I-League Qualifiers: अपने प्रदर्शन में निखार लाने पर होगी बेंगलुरु यूनाइटेड की नज़र

ऐसे में जब ग़लती की गुंजाइश बेहद कम है तो हेड कोच रिचर्ड हूड को उम्मीद है कि अपने दूसरे आई-लीग क्वालिफ़ायर्स में अच्छा प्रदर्शन करने के इरादे से उतरेगी।

लेखक सैयद हुसैन ·

भारत के लिए फ़ुटबॉल का 2020-21 सीज़न बिल्कुल अनोखा और अलग होने वाला है। जहां इस बार कोई भी दर्शक स्टेडियम में नहीं दिखेगा, और सभी टीम भी कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी की वजह से बायोसेक्योर बबल के अंदर ही रहने को मजबूर होंगी।

लेकिन इन चुनौतियों के बावजूद बेंगलुरु यूनाइटेड आई-लीग क्वालिफ़ायर्स 2020 (I-League Qualifiers) में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार हैं।

आई-लीग की आधिकारिक वेबसाइट के साथ बातचीत में प्रमुख कोच रिचर्ड हूड ने कहा, “इस बार की तरह कभी कोई प्री-सीज़न नहीं रहा था, क्योंकि इस बार तो हम सभी लॉकडाउन में थे और पिछले छ: महीनों से सारी गतिविधियां बंद थीं। जो हमारी प्लानिंग के लिए बेहद अहम रही।”

“हालांकि इन सबके बावजूद हमनें अपनी तैयारियों पर बारीक नज़र रखी हैऔर हमने अपी पूरी टीम और हरेक व्यक्तिगत खिलाड़ी को भी अक्टूबर से पहले पूरी तरह तैयार रहने के लिए कहा है।“

क्वालिफ़ायर राउंड रोबिन के आधार पर खेला जाएगा जहां पांच टीमों को सभी से एक एक बार भिड़ना होगा। सारे मैचों के ख़त्म हो जाने के बाद जो ग्रुप में शीर्ष पर रहेगा उसे 2020-21 आई-लीग में खेलने का मौक़ा मिलेगा जो भारतीय फ़ुटबॉल की दूसरी सर्वश्रेष्ठ लीग है।

बेंगलुरु के सामने इस क्वालिफ़ायर्स में आरा एफ़सी (ARA FC), भवानीपुर एफ़सी (Bhawanipore FC), गढ़वाल एफ़सी (Garhwal FC) और मोहम्मडन स्पोर्टिंग (Mohammedan Sporting) की चुनौती होगी। जिसे देखते हुए प्रमुख कोच रिचर्ड मानते हैं कि इस बार टीम के पास ग़लती की गुंजाइश बिल्कुल नहीं है।

हेड कोच रिचर्ड हूड अपनी टीम FC बेंगलुरु यूनाइटेड को आई-लीग क्वालिफ़ायर्स के लिए कर रहे हैं तैयार

रिचर्ड हूड ने कहा, “इस क्लब का भरोसा और आत्मविश्वास पहले से कहीं ज़्यादा बढ़ा है, इस हाई-परफॉर्मेंस मॉडल में मेरे साथ साथ सभी स्टाफ़ अपना पूरा समर्थन और समर्पण दे रहे हैं।”

“हम लोग बेहद प्रतिस्पर्धी होंगे जहां हमारा ध्यान सिर्फ़ एक ही चीज़ पर होगा कि कैसे पूरे 90 मिनट तक मैच में अपना दबदबा बनाए रखें। हम ये अच्छे से जानते हैं कि इस टूर्नामेंट में कोई भी टीम ऐसी नहीं है जो बस भाग लेने आई हो।”

रिचर्ड हूड का हाथ बटाने के लिए भारतीय फ़ुटबॉल टीम के पूर्व अनुभवी खिलाड़ी गौरामंगी सिंह (Gouramangi Singh) को भी शामिल किया गया है, जो मुख्य कोच के सहायक के तौर पर होंगे।

हूड ने गौरामंगी को शामिल किए जाने पर कहा, “मंगी (गौरामंगी सिंह) के आने से क्लब को उनके अनुभव का बहुत फ़ायदा मिलेगा। हमारी टीम में बहुत ही कम ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने इस खेल को बढ़ते हुए देखा है।“

“हर कोई जानता है कि वह कितने प्रोफ़ेशनल थे और आज भी हैं। वह एक ऐसी शख़्सियत हैं जिन्हें हमेशा जीत की भूख रहती है और अब बतौर कोच भी वह इसी चीज़ को आगे बढ़ाएंगे।“

आई-लीग क्वालिफ़ायर 2020 की शुरुआत 8 अक्टूबर से होगी जो कोलकाता के सॉल्टलेक स्टेडियम और कल्याणी के मुनिसिपल स्टेडियम में खेला जाएगा। इस प्रतियोगिता का अंत 19 अक्टूबर को ख़त्म होगा।