ब्रॉन्ज़ मेडल के साथ ही एश्वर्य सिंह तोमर ने जीता ओलंपिक कोटा

भारत के एश्वर्य सिंह तोमर ने एशियन चैंपियनशिप में टोक्यो 2020 खेलों के लिए 13वां ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया है।

भारतीय निशानेबाज़ कतर के दोहा में चल रही 14वीं एशियाई चैंपियनशिप में लगातार शानदार प्रदर्शन करते हुए नज़र आ रहे हैं। 18 वर्षीय एश्वर्य सिंह तोमर ने रविवार (10 नवंबर) को मेंस थ्री पोज़िशन एयर राइफल वर्ग में बेहतरीन निशानेबाज़ी करते हुए ब्रॉन्ज़ मेडल जीतकर टोक्यो 2020 के लिए 13वां ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया है।

इसी वर्ष की शुरुआत में ISSF रियो वर्ल्ड कप में संजीव राजपूत की जीत के बाद एश्वर्य इस वर्ग में ओलंपिक कोटा हासिल करने वाले दूसरे भारतीय हैं।

लक्ष्य पर साधा निशाना

18 वर्षीय इस युवा तीरंदाज़ ने घुटने के बल, लेटकर और खड़े होकर शूटिंग करने के इवेंट में अपनी शुरुआत क्रमशः 96, 99, 95 के साथ की। उन्होंने अपना यह प्रदर्शन लगातार जारी रखा। लेटकर शूटिंग करने में उन्होंने लगातार 2 बार पूर्णांक हासिल किया। यही नहीं घुटने की पोज़िशन में भी एश्वर्य ने 100 अंक का पूर्णांक हासिल करते हुए चौथे राउंड को 392 अंकों के साथ खत्म किया। इस तरह यह युवा निशानेबाज़ सभी राउंड में कुल 1173 अंक हासिल करते हुए तीसरे स्थान पर रहा और फाइनल के लिए अपनी जगह पक्की कर ली।

भारत के अन्य थ्री पोज़िशन एयर राइफल निशानेबाज़ चैन सिंह और पारुल कुमार क्रमशः 17वें और 20वें स्थान पर रहे और आगे के लिए क्वालिफाई करने में विफल रहे।

कांटे का रहा फाइनल मुकाबला

दोहा में अभी तक हुए फाइनल मुकाबलों में यह सबसे कांटे का मुकाबला था। भारत के तोमर ने कोरिया के किम जोंगह्यून और चीन के झोंगहाओ झाओ से पोडियम चरण के लिए प्रतिस्पर्धा की। आख़िर में तोमर 449.1 के स्कोर के साथ ब्रॉन्ज़ मेडल हासिल करने में सफल रहे। जबकि कोरियाई ने सिर्फ 0.8 की बढ़त के साथ पोडियम पर शीर्ष स्थान हासिल किया।

ब्रॉन्ज़ के साथ तोमर ने भारत के लिए 13वां ओलंपिक कोटा भी हासिल कर लिया। इसका मतलब यह भी हुआ कि भारत के निशानेबाजों ने 2016 के रियो ओलंपिक से इस बार अपना ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर कर लिया है। आपको बता दें रियो के लिए सिर्फ 12 भारतीय निशानेबाज़ ही कोटा स्थान हासिल कर सके थे।

भाकर और वर्मा ने जीता गोल्ड

भारतीय दल के लिए मनु भाकर और अभिषेक वर्मा भी खुशी की वजह बनें। 10 मीटर एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम में इस जोड़ी ने गोल्ड मेडल जीता। भारत के अन्य एयर पिस्टल मिक्स्ड टीम निशानेबाज़ सौरभ चौधरी और यशस्विनी देसवाल ने भी एक और शानदार सिल्वर मेडल जीतकर खुशी को दोगुना कर दिया।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!