भारतीय शटलरों की नज़र इंडोनेशिया मास्टर्स में बदले पर

पांच कैटेगिरी में भारत के कुल 12 शटलर इंडोनेशिया मास्टर्स में करेंगे शिरकत

लेखक सैयद हुसैन ·

मलेशिया मास्टर्स में क्वार्टर फ़ाइनल तक ही भारतीय शटलरों का सफ़र ख़त्म हो गया था, अब भारतीय शटलरों की नज़र बुधवार से शुरू हो रहे इंडोनेशिया मास्टर्स पर है। ऐसे में जब अब ओलंपिक क्वालिफ़िकेशन का समय भी नज़दीक है तो भारतीय शटलरों को कुआलालंपुर में किए प्रदर्शन से सबक़ लेने की ज़रूरत होगी।

दूसरे दौर में साइना-सिंधु हो सकती हैं आमने-सामने

पी वी सिंधु और साइना नेहवाल दोनों ही भारतीय दिग्गज शटलरों का सफ़र क्रमश: ताई ज़ू यिंग और कैरोलिना मरीन के हाथों हार कर मलेशिया मास्टर्स के क्वार्टर फ़ाइनल में थम गया था। इन दोनों के लिए इंडोनेशिया ओपन का ड्रॉ भी काफ़ी कठिन माना जा रहा है।

सिंधु की टक्कर पहले दौर में जहां जापान की आया ओहोरी से होगी तो साइना एक और जापानी शटलर सायाकी ताकाहाशी से भिड़ेंगी। अगर दोनों ही भारतीय शटलर अपने अपने मैच जीत जाती हैं तो फिर दूसरे दौर में इन साइना और सिंधु के बीच जंग देखने को मिलेगी।

सिंधु ने ओहोरी को अब तक सभी 9 मुक़ाबलों में शिकस्त दी है, तो वहीं साइना को भी ताकाहाशी के ऊपर 4-2 की बढ़त हासिल है।

साई प्रणीत, एच एस प्रणॉय की राह भी नहीं आसान

2019 बीडब्लूएफ़ वर्ल्ड चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाले बी साई प्रणीत के लिए मलेशिया मास्टर्स काफ़ी निराशाजनक रहा था, जहां उन्हें पहले ही राउंड में डेनमार्क के शटलर रसमस गेमके से हार मिली थी।

इस बार प्रणीत के सामने पहले दौर के मुक़ाबले में चीन के शी यू की होंगे, जिन्हें इंडोनेशिया मास्टर्स में 8वीं वरीयता प्राप्त है। मई 2018 से अब तक प्रणीत और चीन के इस शटलर के बीच तीन भिड़ंत हुई है और तीनों ही बार जीत का सेहरा चीनी शटलर के सिर बंधा है।

बी साई प्रणीत की बैडमिंटन एशिया टीम चैंपियनशिप में लगातार दूसरी हार

एच एस प्रणॉय ने मलेशिया मास्टर्स में आग़ाज़ शानदार अंदाज़ में किया था जब पहले ही दौर के मुक़ाबले में उन्होंने अपने से ऊपर रैंकिंग के शटलर को शिकस्त दे दी थी, लेकिन अगले ही मैच में उनका सफ़र दुनिया के नंबर-1 खिलाड़ी केंटो मोमोटा से हारकर थम गया था।

प्रणॉय के लिए इस बार भी चुनौती कठिन है, उनके सामने पहले दौर के मुक़ाबले में 6ठी वरीयता प्राप्त इंडोनेशिया के जोनाटन क्रिस्टी होंगे।

किदांबी श्रीकांत पर रहेंगी नज़रें

एक वक़्त था जब किदांबी श्रीकांत को भारतीय पुरुष एकल शटलरों में सबसे ऊपर माना जाता था। 2017 में तो श्रीकांत ने चार सुपर सीरीज़ ख़िताब जीतकर सनसनी मचा दी थी, लेकिन अब वह अपने फ़ॉर्म से लगातार जूझ रहे हैं। साई प्रणीत ने अब उनकी जगह ले ली है, और अगर एक और ख़राब प्रतियोगिता का मतलब श्रीकांत का ओलंपिक 2020 का सपना भी चकनाचूर हो जाएगा।

मलेशिया मास्टर्स में श्रीकांत को पहले राउंड के ही मुक़ाबले में दूसरी वरीयता हासिल चो टीन चेन ने शिकस्त दी थी। लेकिन इंडोनेशिया मास्टर्स में श्रीकांत एक बार फिर जीत की पटरी पर लौटने को बेताब होंगे, पहले दौर में उनके सामने मेज़बान शटलर शेशार हिरेन रुस्तावितो की चुनौती होगी। हालांकि अब तक हुई टक्करों में दो बार श्रीकांत को रुस्तावितो के हाथों हार भी झेलनी पड़ी है, जो उनसे आठ रैंक नीचे के खिलाड़ी हैं।

अन्य ड्रॉ की बात करें तो पारुपल्ली कश्यप का सामना सातवीं वरीयता प्राप्त एंथनी गिंटीग से होगा, जिन्हें पहले से ही दावेदार माना जा रहा है। तो वहीं समीर वर्मा की टक्कर टॉमी सुगिआर्टो से होगी, जो उनसे 12 पायदान रैंकिंग में ऊपर हैं। अगर इन दोनों भारतीय शटलरों को पहले दौर में जीत मिलती है तो दूसरे राउंड में यही दोनों आमने सामने हो सकते हैं।

जापान ओपन 2019 में श्रीकांत किदांबी

चिराग-सात्विक की भी मुश्किल है डगर

पुरुष युगल में भारत के दो सितारे सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी के लिए मलेशिया मास्टर्स निराशाजनक रहा था, जहां इस भारतीय जोड़ी को मलेशिया के ओंग ये सीन और टो ए ई ने मात दी थी।

इंडोनेशिया मास्टर्स में तो इस भारतीय जोड़ी के सामने चुनौती और भी मुश्किल है, जहां पहले राउंड में इनका सामना दूसरी वरीयता प्राप्त मोहम्मद अहसन और हेंड्रा सेटिआवन से होगा।

एक और युगल ड्रॉ में भारतीय महिला जोड़ी अश्विनी पोनप्पा और एन सिकी रेड्डी का मुक़ाबला जापान की जोड़ी नामी मत्सुयामा और चिहारू शिडा के विरुद्ध प्रस्तावित है। जबकि मिश्रित युगल में पोनप्पा और रंकीरेड्डी की टक्कर आयरलैंड की मिश्रित जोड़ी सैम मैगी और च्लो मैगी से होगी।