मैरी कॉम सहित भारतीय दल कोरोनो वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते जल्द छोड़ेगा इटली प्रशिक्षण शिविर

ओलंपिक मुक्केबाज़ी क्वालिफायर के लिए भारतीय मुक्केबाज़ी टीम को 28 फरवरी को जॉर्डन पहुंचना था।

एम सी मैरी कॉम (Mary Kom) की अगुवाई में भारतीय मुक्केबाज़ी दल अम्मान में अगले महीने की शुरुआत में शुरू होने वाले ओलंपिक मुक्केबाज़ी क्वालिफायर के लिए वर्तमान में असीसी में प्रशिक्षण ले रहा है, जो इटली के उत्तरी भाग में कोरोनो वायरस के बढ़ते मामलों के चलते जल्द ही इस शिविर को छोड़ना चाह रहा है।

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (BFI) के कार्यकारी निदेशक आरके साचेती ने मंगलवार को कहा कि जिस वजह से इवेंट में हाल ही में बदलाव किया गया, उसके मामलों में और बढोतरी होने की वजह से इटली में हवाई अड्डों को भी बंद किया जा सकता है। ऐसे में अब भारतीय बॉक्सिंग दल समय से पहले ही इटली से जॉर्डन के लिए रवाना हो जाएगा।

सचेती ने एएनआई (ANI) से बात करते हुए कहा, "रोम एयरपोर्ट पूरी तरह से चालू है, और हम एक घंटे में जानकारी लेंगे कि टीम कब रवाना होगी। टीम आज या कल जॉर्डन के लिए उड़ान भर सकती है। टीम इस समय असीसी ओलंपिक केंद्र में है।"

उन्होंने कहा, "हमने जॉर्डन में अधिकारियों के साथ बात की और उन्होंने हमें अपनी टीम को जॉर्डन भेजने के लिए कहा है। घबराने की जरूरत नहीं है। हम तैयार हैं, हमने पहले ही सीटें बुक कर दी हैं।"

आपको बता दें, भारतीय मुक्केबाज़ी टीम को 28 फरवरी को जॉर्डन के लिए रवाना होना था, लेकिन अभी के हालात के मुताबिक राष्ट्रीय मुक्केबाजी महासंघ के उच्च प्रदर्शन निदेशक सैंटियागो नीवा भी चाहते हैं कि उनके एथलीट मिलान को पूरी तरह से बंद किए जाने से पहले-पहले ओलंपिक क्वालिफायर के लिए प्रस्थान करें।

सैंटियागो ने कहा, “हम शुक्रवार को रवाना हो रहे थे, लेकिन मुझे लगता है कि हमें पहले से ही रवाना होने की जरूरत है (यदि हम जल्द से जल्द नहीं जाते हैं, तो हम यहां फंस सकते हैं। यदि वे हवाई अड्डे को बंद कर देते हैं, तो हम क्वालिफायर के लिए नहीं जा पाएंगे।"

कोरोनावायरस के प्रकोप से बदले हालात

फरवरी की शुरुआत में कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) बॉक्सिंग टास्क फोर्स (BTF) को पहले ही मुक्केबाज़ी क्वालिफायर को चीन के वुहान से जॉर्डन में स्थानांतरित करने के लिए मजबूर कर दिया था।

चीन में ही COVID-19 की उत्पत्ति हुई, जिसका आधिकारिक नाम कोरोनावायरस है। इसके चलते पिछले कुछ हफ्तों में कई खेल आयोजनों को चीन से हटाकर दूसरे देशों में आयोजित किया जा रहा है।

मुक्केबाज़ी के अलावा, फुटबॉल में एशियाई चैंपियंस लीग मैच, विश्व एथलेटिक्स इंडोर चैंपियनशिप, लॉन टेनिस में फेड कप एशिया/ओशिनिया ग्रुप-I इवेंट, बैडमिंटन में चीन मास्टर्स टूर्नामेंट, एक हॉकी प्रो-लीग मैच और कई अन्य खेल प्रतियोगिताएं चीन से बाहर स्थानांतरित की जा चुकी हैं।

ओलंपिक क्वालिफायर के लिए भारतीय मुक्केबाज़ी दल

जॉर्डन के अम्मान में 3 से 11 मार्च तक होने वाले एशिया-ओशिनिया ओलंपिक क्वालिफ़ायर की तारीखों में बदलाव किया गया है।

भारत की पुरुष टीम में अमित पंघल (Amit Panghal) (52 किग्रा), गौरव सोलंकी (Gaurav Solanki) (57 किग्रा), मनीष कौशिक (Manish Kaushik) (63 किग्रा), विकास कृष्णन (Vikas Krishan) (69 किग्रा), आशीष कुमार (Ashish Kumar) (75 किग्रा), सचिन कुमार (Sachin Kumar) (81 किग्रा), नमन तंवर (Naman Tanwar) (91 किग्रा) और सतीश कुमार (Satish Kumar) (+91 किग्रा) में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे।

महिलाओं की टीम में एम सी मैरीकॉम (51 किग्रा) भार वर्ग में वापसी करते हुए साक्षी चौधरी (Sakshi Chaudhary) (57 किग्रा), सिमरनजीत कौर (Simranjit Kaur) (60 किग्रा), लवलीना बोरगोहाइन (Lovlina Borgohain) (69 किग्रा) और पूजा रानी (Pooja Rani) (75 किग्रा) के साथ देश का प्रतिनिधित्व करेंगी।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!