पीवी सिंधु पहले राउंड में मिली हार के बाद चाइना ओपन से हुईं बाहर

चाइना ओपन के पहले राउंड के तीन रोमांचक मुकाबलों में मिली हार के चलते वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु बाहर हो गई हैं।

लेखक रितेश जायसवाल ·

वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु पहले ही दौर में हारकर फूझोउ चाइना ओपन से बाहर हो गईं हैं। मंगलवार को वर्ल्ड रैंकिंग में छठे पायदान पर काबिज़ भारतीय शटलर का मुकाबला 42वीं रैंकिंग वाली चीनी ताइपे पाई यू पो से हुआ। 74 मिनट तक चले इस मुकाबले में पाई ने सिंधु को 21-13, 18-21, 21-19 से मात दी।

भारत के लिए निराशाजनक रहा पहला दिन

पाई ने पहले गेम में 3-0 की बढ़त बनाई लेकिन सिंधु ने स्कोर 4-4 से बराबर किया। इसके बाद ताइवानी शटलन ने अगले सात अंकों में से छह अंक हासिल किए। फिर सिंधु ने इस गेम में वापसी करने की पुरज़ोर कोशिश की। लेकिन भारतीय शटलर ने शानदार वापसी करते हुए लगातार पांच अंक हासिल किए। हालांकि फिर भी 28 वर्षीय पाई पहला गेम 21-13 से जीतने में कामयाब रहीं।

सिंधु बासेल में हुई BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप से ही बुरे फॉर्म से जूझ रही हैं 

पहले की तरह ही दूसरे गेम की शुरुआत भी समान रूप से हुई और स्कोर 8-8 से बराबर हो गया। सिंधु ने फिर से बाज़ी मारी और खेल को नियंत्रित करने के लिए लगातार चार अंक हासिल किए और पाई के वापसी करने के कई प्रयासों के बावजूद सिंधु ने 21-18 से जीत हासिल की।

तीसरे गेम की शुरुआत में स्कोर 2-2 से बराबर रहा। इसके बाद पाई ने 9-1 से बढ़त बनाते हुए स्कोर 11-3 कर दिया। हालांकि, सिंधु ने प्रतियोगिता में वापसी करने के लिए बाद में 8 अंक हासिल किए। जिसके चलते मैच 19-19 से बराबर हो गया। इसके बाद ताइवानी शटलर ने मैच जीतने के लिए अंतिम के दो अंक बटोरते हुए सिंधु को टूर्नामेंट से बाहर की राह दिखा दी।

सिंधु के लिए बीते कुछ महीने बेहद चुनौतीपूर्ण रहे। वह अपने पिछले पांच टूर्नामेंट में महज़ एक बार क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हो सकीं। विक्टर चाइना ओपन में वह दूसरे दौर में ही हारकर बाहर हो गईं। वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीत हासिल करने के बाद यह उनकी पहली प्रतियोगिता थी। इसके बाद कोरिया ओपन और डेनमार्क ओपन में भी वह शुरुआती दौर में ही बाहर हो गईं। हालांकि, फ्रेंच ओपन में उन्होंने काफी शानदार प्रदर्शन किया। लेकिन क्वार्टर फाइनल में वह शीर्ष रैंक खिलाड़ी ताई ज़ू यिंग से हार गईं।

अश्विनी पोन्नप्पा ने एक ओर जहां मिक्स्ड डबल में जीत हासिल की तो वहीं वूमेंस डबल्स में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

पुरुषों का प्रदर्शन भी रहा निराशाजनक

पुरुष एकल में भी निराशा ही हाथ लगी। एचएस प्रणॉय भी पहले दौर में बाहर हो गए, उन्हें डेनमार्क के रासमुस गेम्के के खिलाफ 17-21 18-21 से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की दुनिया की 30वें नंबर की मिश्रित युगल जोड़ी जोशुआ हर्लबर्ट यू और जोसेफीन वू की कनाडा की जोड़ी को 21-19 21-19 से हराकर दूसरे दौर में जगह बनाने में कामयाब रही।