भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के रोडमैप ने की आदिल बेदी की मदद

युवा आदिल बेदी ने पिछले 2 साल में अब तक 13 पीजीटीआई टूर्नामेंट में हिस्सा लिया और बंगाल ओपन के रूप में अपना पहला खिताब जीता।

आदिल बेदी (Aadil Bedi) के पिता हैरी बेदी (Harry Bedi) ने खुलासा किया कि भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने इस युवा गोल्फर की सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आपको बता दें, हाल ही में इस गोल्फर ने बंगाल ओपन जीता है।

19 साल के इस युवा गोल्फर की काबिलियत को सबसे पहले विराट कोहली फाउंडेशन (वीकेएफ) ने साल 2017 में पहचाना था। इस दौरान विराट कोहली ने हैरी बेदी से कहा था, अगले तीन साल में आदिल जिन टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगे उसकी लिस्ट मुझे दो।

हैरी बेदी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में बताया, “रोडमैप बनाने का आइडिया विराट कोहली का ही था। यह एक लंबी प्रक्रिया थी लेकिन हमें पता था कि हम सही दिशा में जा रहे हैं। मैं अपनी खुशी को शब्दों में बयां नहीं कर सकता।” हैरी बेदी ने बताया कि विराट कोहली ने उनसे कहा, “आदिल को लेकर जाओ, प्लेन का टिकट लो और पैसों की कोई चिंता मत करना।”

आदिल बेदी की रोमांचक जीत

आदिल बेदी ने जिस तरह से बंगाल ओपन का खिताब जीता, उसे लंबे समय तक याद किया जाएगा। चंडीगढ़ के इस युवा खिलाड़ी ने छठे प्लेऑफ में एक चिप-इन बर्डी के साथ अपने अभियान को समाप्त किया, जिसके कारण पीजीटीआई टूर पर अनुभवी उदयन माने (Udayan Mane) का तीन मैचों की विजयी अभियान रुक गया।

यह 30 लाख रुपए के इस टूर्नामेंट में भारतीय गोल्फ दौरे का सबसे लंबे समय तक चलने वाला प्लेऑफ था। चौथा प्ले-ऑफ में जाने वाला आखिरी इवेंट जीव मिल्खा सिंह इंवीटेशनल 2019 (Jeev Milkha Singh Invitational 2019) था, जहां अजितेश संधू (Ajeetesh Sandhu ) ने राशिद खान (Rashid Khan) को पीछे छोड़ दिया था।

आदिल बेदी ने छठे प्लेऑफ में अपने बंगाल ओपन अभियान को चिप-इन बर्डी के साथ किया समाप्त
आदिल बेदी ने छठे प्लेऑफ में अपने बंगाल ओपन अभियान को चिप-इन बर्डी के साथ किया समाप्तआदिल बेदी ने छठे प्लेऑफ में अपने बंगाल ओपन अभियान को चिप-इन बर्डी के साथ किया समाप्त

आदिल बेदी ने टीओआई को बताया, “मैं काफी अचंभित था, मुझे अब भी विश्वास नहीं हो रहा है कि मैंने अपना पहला खिताब जीत लिया है। मुझे ये विश्वास करने में 13 घंटे लगे, यह मेरे लिए अगले इवेंट की तैयारी जैसा ही है। अभी आगे इंडियन और ढाका ओपन आने वाला है जो कोरोना वायरस के कारण रद्द हो गया है”।

स्टार बनने की तैयारी

आदिल बेदी ने 275 चैंपियनशिप में से 175 जीती, साल 2019 एशियाई टूर कार्ड को सुरक्षित ने करने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय गोल्फर बनने से पहले उन्होंने 2018 एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया था।

दो साल पहले बेंगलुरु में हुए पैनासोनिक ओपन (Panasonic Open) करने वाले आदिल अब तक 13 पीजीटीआई टूर्नामेंट में हिस्सा ले चुके हैं। पिछले हफ्ते से पहले उन्होंने कोई खिताब नहीं जीता था।

पिछले 5 चैंपियनशिप में टॉप 5 में जगह बनाने वाले आदिल ने बंगाल ओपन जीतकर अपने खिताब के इंतजार को खत्म किया और वर्ल्ड रैंकिंग में अपने स्थान में सुधार किया। आदिल ने कहा, “मेरी रैंकिंग 800 के लगभग है लेकिन मुझे विश्वास है कि अभी और अच्छे नतीजें देखने को मिलेंगे।”

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!