भारत लगातार तीसरी बार जूनियर पुरुष हॉकी विश्व कप की करेगा मेज़बानी

प्रतियोगिता में कुल 16 टीमें हिस्सा लेंगी, जिसमें छह यूरोपीय टीमों का हिस्सा लेना पहले से ही सुनिश्चित है।

लेखक रितेश जायसवाल ·

अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (International Hockey Federation) ने सोमवार को घोषणा करते हुए कहा कि साल 2021 के अंत में भारत जूनियर पुरुष हॉकी विश्व कप की मेज़बानी करेगा। जहां भारतीय जूनियर पुरुष हॉकी टीम अपने खिताब को बचाने के लिए मैदान में उतरेगी। हालांकि इसकी तारीखों और स्थान की घोषणा बाद में की जाएगी। 

वहीं, महिला जूनियर हॉकी विश्व कप दक्षिण अफ्रीका में होगा। यह पहला मौका होगा जब जूनियर महिला हॉकी विश्व कप अफ्रीकी धरती पर होगा और इसकी तारीखों की घोषणा बाद में की जाएगी।    

पिछली बार उत्तर प्रदेश के लखनऊ (Lucknow) में 2016 में इस टूर्नामेंट का आयोजन किया गया था। जहां भारतीय हॉकी पुरुष जूनियर टीम ने मेजर ध्यानचंद स्टेडियम (Dhyan Chand Hockey Stadium) में खेले गए ख़िताबी मुक़ाबले में बेल्जियम को 2-1 से हराते हुए खिताब अपने नाम किया था।

आयोजन स्थल और तिथियों की घोषणा हालांकि बाद के चरण में की जाएगी, लेकिन एफआईएच (FIH) ने एक विज्ञप्ति में कहा कि "प्रतियोगिता 2021 के अंत में खेली जाएगी।"

आपको बता दें, भारत अब लगातार तीसरी बार जूनियर पुरुष हॉकी विश्व कप की मेज़बानी करने के लिए तैयार है, जिसका 2013 संस्करण देश की राजधानी नई दिल्ली (New Delhi) में आयोजित किया गया था।

मलेशिया (Malaysia) एकमात्र अन्य देश है जिसने तीन बार इस प्रतियोगिता की मेज़बानी की है। आखिरी बार साल 2009 में मलेशिया ने सिंगापुर के साथ मेज़बानी के खर्चों को साझा किया था। किसी भी अन्य देश ने इस प्रतियोगिता की मेज़बानी एक बार से अधिक नहीं की है।

भारत ने तीन बार सीनियर पुरुष हॉकी विश्व कप की मेज़बानी भी की है। 2018 में ओडिशा के भुवनेश्वर के कलिंगा हॉकी स्टेडियम में तीसरी बार इसका आयोजन किया गया था। उससे पहले 1982 और 2010 में यह टूर्नामेंट भारत में आयोजित किया गया था और अब साल 2023 में एक बार फिर यह भारत में आयोजित किया जाएगा।

भारतीय हॉकी पुरुष जूनियर टीम दो बार विजेता रही। पहली बार 2001 में ऑस्ट्रेलिया में अर्जेंटीना को 6-1 से हराकर भारतीय टीम विजेता बनी थी।

6 यूरोपीय टीमों का स्थान पक्का

जूनियर पुरुष हॉकी विश्व कप के इस संस्करण में कुल 16 टीमें मैदान में उतरेंगी; यूरोप से छह, एशिया से चार, अफ्रीका से दो, ओशिनिया और समस्त अमेरिका से एक-एक टीम हिस्सा लेगी। छह यूरोपीय टीमों में जर्मनी, इंग्लैंड, नीदरलैंड, स्पेन, बेल्जियम और फ्रांस शामिल है। इन सभी टीमों ने पिछले साल यूरोपीय महाद्वीपीय चैंपियनशिप में अपने प्रदर्शन के आधार पर जूनियर पुरुष हॉकी विश्व कप में जगह बना ली है।