बैडमिंटन

इंडोनेशिया मास्टर्स में जूझते नज़र आए भारतीय शटलर

सुभांकर डे और लक्ष्य सेन सीधे गेम में हार के बाद क्वालिफिकेशन राउंड से बाहर हो गए।

लेखक रितेश जायसवाल ·

भारतीय शटलर शुभंकर डे और लक्ष्य सेन के लिए इंडोनेशिया मास्टर्स 2020 सुपर 500 इवेंट का पहला दिन काफी निराशाजनक रहा। मंगलवार को जकार्ता में क्वालिफिकेशन राउंड में खेलते हुए दोनों शटलर हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए।  

शुभकंर डे का थाईलैंड के सपेन्यू एविंग्सनोन से कोई मुकाबला नहीं था, वह 16-21, 12-21 से हार गए। उनके बाद सेन को एक अन्य थाई शटलर तोंगोंगसाक सेंसोमबोन्सुक से 13-21, 12-21 हार का सामना करना पड़ा।

शुभंकर डे लिए मुश्किल दिन

पिछले सप्ताह मलेशिया मास्टर्स में क्वालिफिकेशन राउंड से बाहर होने के साथ मैदान पर अपने 2020 के अभियान को पाने के लिए संघर्ष करते हुए डे मंगलवार को इस्तोरा गेलोरा बुंग कारनो में बेहतर फॉर्म की उम्मीद कर रहे थे।

भारत के शुभंकर डे मंगलवार को सीधे गेम में हार के बाद इंडोनेशिया मास्टर्स से बाहर हो गए।

लेकिन यह मैच इस भारतीय शटलर के लिए योजना के अनुसार नहीं रहा, क्योंकि उन्हें एविहिंगसैनन ने गेम के मध्य-खेल अंतराल में 11-4 से पीछे कर दिया। वहां से बीडब्ल्यूएफ रैंकिंग में 45वें स्थान पर काबिज़ इस भारतीय के लिए वापसी करना काफी मुश्किल हो गया। डे ने वापसी करने की पूरी कोशिक की लेकिन एविहिंगसैनन ने खेल पर अपनी पकड़ बनाए रखी और डे को कोई भी मौका नहीं दिया। जिसके चलते डे यह गेम 21-16 से हार गए।

हालांकि दूसरे गेम में डे ने अपने प्रतिद्वंदी को कड़ी टक्कर दी और स्कोर की बराबरी करते नज़र आए। लेकिन एक बार फिर से जब थाई शटलर ने अपनी ज़ोर-आज़माईश की तो डे के लिए अपने विरोधी को रोक पाना मुश्किल हो गया।

30 वर्षीय एविहिंगसैनन ने मध्य-खेल अंतराल में 11-9 की बढ़त बनाई और मैच को 40 मिनट के भीतर टाई में समाप्त करने के लिए डे पर हावी हो गए।

लक्ष्य को भी हुई मुश्किल

पिछले सीज़न में शानदार प्रदर्शन करने वाले लक्ष्य ने निचली रैंकिंग में कई खिताब जीते थे, इसलिए 2020 में इस उभरते हुए सितारे से सभी को काफी उम्मीद थी। लेकिन 2018 के युवा ओलंपिक में रजत पदक विजेता वरिष्ठ सर्किट में अपने प्रदर्शन को बरकरार रखने में असफल रहे।

इंडोनेशिया मास्टर्स में भी उनका यही हाल रहा; 18 वर्षीय सेन जकार्ता के एक अनुभवी शटलर सेंसोम्बोन्सुक से क्वालिफिकेशन राउंड में हार गए।

सेन्सोम्बोन्सुक ने मंगलवार को टाई पर अपने वर्चस्व को कायम रखने के लिए तेज शुरुआत की और शुरुआती गेम के मध्य-अंतराल में ही 11-7 की बढ़त हासिल की।

हालांकि सेन ने अच्छे शॉट्स खेलते हुए गेम में वापसी करने की पूरी कोशिश की। लेकिन 29 वर्षीय सेंसोमबोन्सुक को कोई परेशानी नहीं हुई और उसने शुरुआती गेम 21-13 से अपने नाम कर लिया।

दूसरा गेम भी कुछ अलग नहीं था। शुरुआती कुछ मिनटों बाद सेंसोमबोन्सुक एक बार फिर सेन पर हावी हो गए और टाई को 21-13, 21-12 से जीतने के लिए 11-7 की बढ़त हासिल करते हुए जीत हासिल की।