भारत करेगा अंतरराष्ट्रीय रेस वॉकिंग चैम्पियनशिप की मेजबानी, जानिए कब, कहां और कैसे होगा आयोजन? 

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (AFI) करेगा चौथी अंतरराष्ट्रीय रेस वॉकिंग चैम्पियनशिप का आयोजन

लेखक भारत शर्मा ·

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (AFI) 2021 में 8वीं राष्ट्रीय ओपन और चौथी अंतरराष्ट्रीय रेस वॉकिंग चैम्पियनशिप का आयोजन करने के लिए तैयार है। ओलंपिक के लिए योग्यता हासिल करने के लिहाज से इस चैम्पियनशिप का आयोजन बहुत ही महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

कब होगा चैम्पियनशिप का आगाज?

अंतरराष्ट्रीय रेस वॉकिंग चैम्पियनशिप का आयोजन 13 और 14 फरवरी, 2021 को किया जाएगा।

कहां होगा चैम्पियनशिप का आयोजन?

AFI ने झारखंड एथलेटिक्स एसोसिएशन (JAA) को चैंपीयनशिप की मेजबानी करने की जिम्मेदारी दी है। JAA इसका आयोजन रांची के मोराबादी में करेगा। यह लगातार दूसरा साल होगा जब रांची इस चैंपीयनशिप की मेजबानी करेगा।

चैंपीयनशिप के तहत किन श्रेणियों में होगा मुकाबला?

इस चैंपीयनशिप में तीन श्रेणियों के तहत मुकाबले आयोजित किए जाएंगे। इनमें 50 किमी वॉकिंग रेस पुरुष, 20 किमी पुरुष और महिला (ओलंपिक योग्यता स्प्रिंट) और 10 किमी अंडर-20 पुरुष और महिला (एशियाई चैम्पियनशिप योग्यता)।

चैंपीयनशिप में कौन-कौन लेगा हिस्सा?

लगभग 280 भारतीय एथलीट और 30 से अधिक विदेशी एथलीट चैंपीयनशिप में अपने हुनर का जौहर दिखाएंगे।

जब रांची ने 2020 में इस चैंपीयनशिप की मेजबानी की थी उसमें 24 वर्षीय भावना जाट अकेली उम्मीदवार थी। उसके दम पर ही उन्होंने महिलाओं की 20 किमी स्पर्धा में टोक्यो ओलंपिक के लिए अपना स्थान पक्का कर लिया था।

JAA के संयुक्त कोषाध्यक्ष शशांक सिंह ने कहा, "पुरुषों और महिलाओं की श्रेणियों में कुल चार एथलीटों के लिए एक जगह है। इसलिए, तीन और खिलाड़ियों को चुना जाना है।"

उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि चैंपीयनशिप के आयोजन में सरकार और AFI द्वारा निर्धारित कोरोना महामारी से सुरक्षा के सुरक्षा मानदंडों का पालन किया जाएगा। इसके अलावा, उन्होंने यह भी दावा किया कि रांची के बुनियादी ढांचे और मौसम से एथलीटों को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा, "मोराबादी में पहले संस्करण में इस्तेमाल किए गए वॉकिंग ट्रेल ने सभी प्रतिभागियों को अनुकूल बनाया और सभी ने यहां की मौसम स्थितियों को पसंद किया। इसलिए, हमें इस टूर्नामेंट की मेजबानी करने का दूसरा मौका दिया गया है। हमें उम्मीद है कि फरवरी तक, कोरोना महामारी धीरे-धीरे कम हो जाएगी।"

JAA को भी उम्मीद है कि इस चैंपीयनशिप का आयोजन राज्य में खेल को लोकप्रिय बनाने में मदद करेगा।