भारत की एलावेनिल वेलारिवन वर्ल्ड रैंकिंग में बनीं दुनिया की नंबर-1 शूटर

20 वर्षीय भारतीय शूटर एलावेनिल वेलारिवन पुतियान में हुए ISSF वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल जीतकर वर्ल्ड रैंकिंग में भी आईं सबसे ऊपर।

लेखक सैयद हुसैन ·

चीन के पुतियान में हुए ISSF वर्ल्ड कप में स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा जमाने वाली भारत की 20 वर्षीय शूटर एलावेनिल वेलारिवन ने वर्ल्ड रैंकिंग में लंबी छलांग लगाई। 10 मीटर एयर राइफ़ल के महिला वर्ग में एलावेनिल दुनिया की नंबर-1 शूटर बन गईं हैं।

पुरुष वर्ग में 10 मीटर एयर राइफ़ल में स्वर्ण पदक जीतने वाले भारत के युवा शूटर दिव्यांश सिंह पंवार भी इस कैटेगिरी में दुनिया के नंबर-2 शूटर बन गए हैं।

शानदार सीज़न

एलावेनिल के लिए शानदार सीज़न का अंत इससे बेहतर कुछ और नहीं हो सकता था, ये पूरा साल इस भारतीय शूटर के लिए अद्भुत गया था।

म्यूनिक में हुए ISSF वर्ल्ड कप में बेहद क़रीब आकर पोडियम से एलावेनिल ज़रूर चूक गईं थीं, हालांकि 20 वर्षीय इस शूटर ने रियो डे जिनारियो में अपना पहला पदक जीतते हुए दिग्गजों के साथ खड़ी हो गईं थीं। ISSF वर्ल्ड कप 10 मीटर एयर राइफ़ल में गोल्ड मेडल जीतने वाली वह सिर्फ़ तीसरी भारतीय महिला हैं, इससे पहले इस इवेंट में अपूर्वी चंदेला और अंजलि भागवत ने ही स्वर्ण पदक हासिल किया था।

एक साल में दो ISSF गोल्ड मेडल जीतने वाली एलावेनिल अब सिर्फ़ चौथी भारतीय बन गईं हैं, उनसे पहले ये कारनामा चंदेला, सौरभ चौधरी और अभिषेक वर्मा ने ही किया था। भारत के लिए साल 2019 में कई शूटर्स ने कमाल का प्रदर्शन किया है, लेकिन जारी हुई ISSF वर्ल्ड रैंकिंग में सबसे ऊपर नंबर-1 की कुर्सी पर सिर्फ़ एलावेनिल ही विराजमान हैं।

दिव्यांश का दमदार साल

भारत के एक और युवा शूटर 17 वर्षीय दिव्यांश के लिए भी ये साल बेहतरीन रहा है। जहां उन्होंने पूटियान में हुए ISSF वर्ल्ड कप में अपना पहला व्यक्तिगत गोल्ड मेडल जीता। जिसकी बदौलत भारत के इस सितारे ने ISSF वर्ल्ड रैंकिंग में पुरुष वर्ग के 10 मीटर एयर राइफ़ल में दूसरा रैंक हासिल कर लिया है।

राजस्थान के रहने वाले दिव्यांश के नाम इससे पहले वर्ल्ड कप में 3 गोल्ड और एक कांस्य पदक था, जो उन्होंने मिश्रित टीम इवेंट में जीता था लेकिन कभी भी उन्होंने व्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण पदक नहीं जीता था। हालांकि बीजींग में दिव्यांश स्वर्ण पदक से चूक गए थे और उन्हें रजत से संतोष करना पड़ा था। इस बार वह एक बार फिर चीन लौटे जहां उन्होंने रजत का रंग बदलते हुए सुनहरा कर दिया और इस तरह से पहली बार व्यक्तिगत स्वर्ण पदक हासिल किया।

भारतीय शूटर मनु भाकर महिला 10 मीटर एयर पिस्टल रैंकिंग में चौथे पायदान पर हैं।

वहीं पुरुष 10 मीटर एयर पिस्टल रैंकिंग में अभिषेक वर्मा दूसरे स्थान पर हैं, जबकि सौरभ चौधरी चौथे पायदान पर हैं। महिला 10 मीटर एयर पिस्टल रैंकिंग में भारत की मनु भाकर और यशस्विनी सिंह देसवाल क्रमश: चौथे और पांचवें स्थान पर मौजूद हैं।