टोक्यो ओलंपिक के लिए भारतीय शूटर्स का बायो बबल कैंप 15 अक्टूबर से आयोजित

COVID-19 की वजह से इससे पहले दो बार राष्ट्रीय शूटिंग कैंप स्थगित किया जा चुका है।

लेखक सैयद हुसैन ·

कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से दो बार स्थगित किए गए भारतीय शूटिंग कैंप को एक बार फिर 15 अक्टूबर से आयोजित किया जा रहा है लेकिन इस बार ये बायो बबल के अंदर होगा। टोक्यो ओलंपिक की तैयारी में लगे भारतीय शूटर्स के लिए ये कैंप दिल्ली के डॉ करणी सिंह रेंज में दो महीने के लिए आयोजित होगा।

शूटरों, कोच और सपोर्ट स्टाफ़ की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए स्पोर्ट्स ऑथिरिटी ऑफ़ इंडिया (SAI) और नेशनल राइफ़ल एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया (NRAI) एक साथ काम करेगा और इस कैंप को सभी सुरक्षा मानकों (SOP) के मद्देनज़र बायो बबल के अंदर आयोजित किया जाएगा।

दो महीने तक चलने वाले इस कैंप की शुरुआत 15 अक्टूबर 2020 से होगी और 17 दिसंबर 2020 को ये ख़त्म होगा। इस कैंप में कुल 32 शूटर्स हिस्सा लेंगे (18 पुरुष और 14 महिला) जिनमें टोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल कर चुके 15 शूटर्स भी शामिल हैं। इनके अलावा 8 कोच, 3 विदेशी कोच और दो सपोर्ट स्टाफ़ भी कैंप में शामिल रहेंगे।

शूटर्स, कोच और सपोर्ट स्टाफ़ के ठहराने की व्यवस्था NRAI की होगी जिन्हें पास के किसी होटल में रखा जाएगा, SAI भी इसमें मदद प्रदान करेगा।

NRAI के सुरक्षा मानकों के मुताबिक़ बाहर से आने वाले शूटर्स और कोच 7 दिनों तक होटल में ही ख़ुद को क्वारंटाइन करेंगे और उसके बाद ही वह कैंप का हिस्सा होंगे।

दिल्ली और आस-पास के शूटर्स, कोच या सपोर्ट स्टाफ़ को आदेश दिया गया है कि वह पहले अपने आप को 7 दिनों तक जहां हैं वहीं आइसोलेट कर लें और उसके बाद फिर कैंप के लिए होटल में जाएंगे।

होटल से लेकर शूटिंग रेंज तक आने जाने की ज़िम्मेदारी NRAI पर होगी, और बायो बबल का उल्लंघन न हो इसका ख़ास ध्यान रखा जाएगा।

दिल्ली में स्थित डॉ करणी सिंह शूटिंग रेंज को पूरी तरह से बायो बबल के अंदर रखा जाएगा ताकि शूटर्स सुरक्षित रहें। तस्वीर साभार: SAI

डॉ करणी सिंह शूटिंग रेंज को तीन कैटेगरी ज़ोन में बांटा जाएगा; हरा, नारंगी, पीला और लाल।

NRAI के सचिव राजीव भाटिया (Rajiv Bhatia) ने कहा कि, “देश में लगे लॉकडाउन के बाद ये पहला राष्ट्रीय कैंप है जिसे आयोजित किया जा रहा है। शूटरों की सुरक्षा के ख़ास ख़्याल रखे गए हैं और माहौल को भी आरामदायक बनाया जा रहा है।“

कैंप में शामिल प्रत्येक शख़्स और खिलाड़ियों को पहले कोरोना वायरस टेस्ट से गुज़रना होगा, जिसे कराने की ज़िम्मेदारी NRAI की होगी।

इससे पहले शूटिंग कैंप 1 अगस्त से होने वाला था लेकिन फिर उसे कोरोना महामारी की वजह से एक अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दिया गया था। हालांकि बाद में कोविड की वजह से ही वह भी नहीं हो पाया था।

भारत के 15 शूटरों ने अभी ही अगले साल होने वाले टोक्यो 2020 का कोटा हासिल कर लिया है और उम्मीद है कि इस आंकड़े को भारतीय शूटर्स और भी ज़्यादा कर दें।