साउथ एशियन गेम्स में भारत अव्वल 

भारतीय शूटर, भारतीय कबड्डी टीम ने शानदार प्रदर्शन कर साउथ एशियन गेम्स में भारत का नाम ऊंचा किया।  

लेखक जतिन ऋषि राज ·

साउथ एशियन गेम्स 2019 में भारत का प्रदर्शन दिन ब दिन अच्छा होता जा रहा है। चाहे खिलाड़ियों के लिए खेल को जीत कर अपना मनोबल हासिल करना हो या अपने देश के नाम पर मेडल सजाना हो, हर कार्य में भारतीय खिलाड़ी अव्वल आ रहे हैं। इस रिपोर्ट के ख़त्म होने तक भारत की झोली में 114 गोल्ड, 71 सिल्वर और 37 ब्रॉन्ज़ आ चुके थे।

मेंस 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल वर्ग में युवा अनीश भनवाला ने 31 स्कोर हासिल कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। वहीं पाकिस्तान के बशीर गुलाम मुस्तफ़ा ने सिल्वर और भारत के भावेश शेखावत ने ब्रॉन्ज़  मंडला जीता। 

अगर बात करें 10 मीटर मिक्स्ड एयर राइफल की तो उसमें भारतीय जोड़ी यशवर्धन और मेहुली घोष ने शानदार खेल दिखाते हुए गोल्ड मेडल पर निशाना साधा। इतना ही नहीं मेंस 25 मीटर में भी भारतीय तिकड़ी अव्वल रही। भनवाला, शेखावत और आदर्श सिंह द्वारा बनीं टीम ने कुल 1721 स्कोर कर एक औरगोल्ड मेडल की चमक भारतीय झंडे में लगा दी।

साइकिलिंग और स्विमिंग में भारत के नाम गोल्ड

गोल्ड मेडल और भारत की दोस्ती साउथ एशियन गेम्स में मानों सातवें आसमान पर है। सतबीर सिंह और सोनाली चानू ने साइक्लिंग इवेंट में गोल्ड मेडल जीत कर इस बात को सिद्ध भी कर दिया। सतबीर और सोनाली दोनों ने व्यक्तिगत वर्ग में प्रदर्शन करते हुए पोडियम के सबसे ऊपरी हिस्से पर अपने नाम की मुहर लगा दी। वहीं स्वाति सिंह ने भी ज़ोरदार खेल दिखाकर सिल्वर मेडल पर कब्ज़ा जमाया।

हर खेल की तरह स्विमिंग में भी भारतीय खिलाड़ियों का बोलबाला रहा। मन्ना पटेल ने गोल्ड मेडल जीतने के साथ साथ 1:02.36 की टाइमिंग द्वारा नया नेशनल रिकॉर्ड भी सेट किया। 100 मीटर बैकस्ट्रोक में मन्ना के साथ रिद्धिमा वीरेन्द्र कुमार ने ब्रॉन्ज़ मेडल अपने नाम किया। वहीं दूसरी तरफ वूमेंस 800 मीटर फ्रीस्टाइल में ऋचा मिश्र ने गोल्ड मेडल पर अनम नाम लिखा और मेंस 400 मीटर इंडिविजुअल मेडले में श्रीधर सिवा ने 4:27.77 की टाइमिंग द्वारा गोल्ड मेडल हासिल किया और पूरे देश को सम्मान दिलाया।

कबड्डी कबड्डी कबड्डी

साउथ एशियन गेम्स में भारतीय कबड्डी खिलाड़ियों के प्रदर्शन ने सभी के दिलों में रेड की और साथ ही फाइनल में अपनी जगह बना ली। नेपाल के खिलाफ खेलते हुए भारतीय कबड्डी टीम ने 62 - 26 के बड़े अंतर से जीत दर्ज करते हुए अपने मनोबल को ऊंचाई प्रदान की। इस जीत की वजह से ग्रुप स्टेज में भारतीय कबड्डी टीम ने एक भी मुकाबला नहीं हारा और इसी के साथ साउथ एशियन गेम्स में मेडल जीतना भी पुख्ता कर लिया है। भारतीय पुरुष कबड्डी टीम का सामना गोल्ड मेडल मैच के लिए सोमवार को श्रीलंका के ख़िलाफ़ होगा।

वहीं वूमेंस भारतीय कबड्डी टीम भी नेपाल के खिलाफ़ गोल्ड मेडल मैच में खेलती नज़र आएगी। लीग स्टेज में भारत ने नेपाल को 43 – 19 के बड़े अंतर से हराया और इस जीत के बाद गोल्ड मेडल मैच में उनका मनोबल बहुत ऊंचा होगा। यह कहना गलत नहीं होगा कि साउथ एशियन गेम्स में भारत ने हर खेल में बेहद अच्छा प्रदर्शन किया है।