दक्षिण एशियाई खेलों में भारत के पदकों की संख्या 40 पहुंची

भारतीय एथलीटों का प्रदर्शन नेपाल के काठमांडू में चल रहे साउथ एशियन गेम्स के तीसरे दिन भी शानदार रहा।

लेखक सैयद हुसैन ·

नेपाल की राजधानी काठमांडू के दसरथ स्टेडियम में चल रहे दक्षिण एशियाई खेलों में सोमवार की ही तरह तीसरे दिन भी भारतीय एथलीटों का दबदबा बरक़रार रहा, भारत की झोली में अब तक 40 पदक आ चुके हैं।

एथलीटों का बेहतरीन प्रदर्शन

भारतीय एथलीट दल ने तीसरे दिन कमाल का प्रदर्शन करते हुए 4 स्वर्ण, 4 रजत और 2 कांस्य पदक अपनी झोली में डाले। अजय कुमार सरोज और अजीत कुमार ने देश के लिए 1500 मीटर दौड़ में क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक जीते तो महिला वर्ग में चंदा ने रजत और पी यू चित्रा ने कांस्य पदक पर कब्ज़ा जमाया।

महिलाओं की 10000 मीटर दौड़ में कविता यादव ने देश को सिल्वर मेडल दिलाया, वहीं 100 मीटर दौड़ में भारतीय महिला धावक अर्चना सुसीन्द्रण ने सभी को पीछे छोड़ते हुए गोल्ड मेडल देश के नाम किया। पुरुषों के हाई जंप में सरवेश अनिल कुशारे और चेतन बालासुब्रमनियम ने भारत के लिए क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक जीता।

शूटरों ने भी गोल्ड पर साधा निशाना

भारतीय तिकड़ी मेहुली घोष, श्रीयंका सादंगी और श्रेया अग्रवाल ने महिला 10 मीटर एयर राइफ़ल इवेंट में किसी और को मौक़ा ही नहीं दिया। टीम इवेंट में इस तिकड़ी ने गोल्ड मेडल पर कब्ज़ा जमाने के साथ साथ 10 मीटर एयर राइफ़ल के व्यक्तिगत इवेंट में भी पोडियम के तीनों स्थान आपस में ही बांटे। इस तरह से इस तिकड़ी ने भारत को कुल 4 पदक दिलाए। व्यक्तिगत कैटेगिरी में घोष ने गोल्ड, सादंगी ने रजत और श्रेया ने कांस्य पदक अपने अपने नाम किए।

वहीं पुरुषों के 50 मीटर राइफ़ल 3 पोजीशन इवेंट में भारत के लिए रिकॉर्ड प्रदर्शन के साथ चैन सिंह ने गोल्ड मेडल जीता। इस भारतीय शूटर ने दक्षिण एशियाई खेलों का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 1179/1200 स्कोर किया। सिंह के हमवतन अखिल श्योरॉण उनसे ज़्यादा पीछे नहीं रहे और उन्होंने भी इस इवेंट में भारत के लिए रजत पदक जीता।

मार्शल आर्ट्स के मास्टर

प्रतियोगिता के दूसरे दिन ताइक्वांडो में 9 पदक जीतने वाले भारतीय दल ने आज 4 पदक और हासिल किए। इस तरह से इस इवेंट में अब तक भारत के नाम 13 पदक हो गए। महिलाओं के 57 किग्रा वर्ग में कशीश मलिक ने गोल्ड मेडल जीता, तो वहीं राधा भाटी ने महिलाओं के 46 किग्रा वर्ग में रजत पदक पर कब्ज़ा जमाया।

वहीं पुरुषों की तरफ़ से कान्हा मैनाली और पृथ्वी राज चौहान ने क्रमश: 54 किग्रा और 68 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता। इसके बाद वुशु के चान कुआन थाउलो इवेंट में तीसरे स्थान पर रहते हुए अनजुल नामदेव ने भारत की झोली में एक और कांस्य पदक डाला।

वॉलीबॉल और टेबल टेनिस में शानदार प्रदर्शन

भारत के लिए वॉलीबॉल में दिन की शुरुआत में ही बड़ी सफलता देखने को मिली। पुरुष और महिला दोनों टीमें पोडियम के शीर्ष स्थान पर रहीं। मेज़बान नेपाल को भारतीय महिलाओं की टीम से 3-2 से हार का सामना करना पड़ा। जबकि भारतीय पुरुष टीम ने पाकिस्तान से हुए मुकाबले में उसे 3-1 से हराकर शीर्ष स्थान हासिल किया।   

दक्षिण एशियाई खेलों में भारतीय पुरुष और महिला टेबल टेनिस टीमों ने भी गोल्ड मेडल पर कब्ज़ा जमाया। भारतीय पुरुष टीम ने नेपाल पर 3-0 से जीत हासिल की तो वहीं महिलाओं की टीम ने इसी स्कोर के साथ श्रीलंका को शिकस्त देने में सफलता हासिल की।