2019 सैयद मोदी अंतरराष्ट्रीय क्वालिफिकेशन में भारत का रहा दबदबा

अनुभवी शटलर तानवी लाड, ऋतुपर्णा दास और अलाप मिश्रा ने मुख्य दौर में बनाई जगह।

लेखक सैयद हुसैन ·

लखनऊ के बाबू बनारसी दास स्टेडियम में मंगलवार को खेले गए 2019 सैयद मोदी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता के क्वालिफिकेशन राउंड में भारतीय शटलर पूरी तरह से छाए रहे। भारत के चार पुरुष शटलरों और तीन महिला शटलरों ने जीत के साथ मुख्य दौर में प्रवेश कर लिया।

मिश्रा ने बिखेरी चमक

युवा शटलर अलप मिश्रा ने बेहतरीन जीत के साथ आगाज़ किया, जहां उन्होंने हर्षील दानी पर सीधे गेम में 21-16, 21-12 से जीत हासिल की। अलप मिश्रा का दूसरा मुक़ाबला किरण जॉर्ज के ख़िलाफ़ था, जिन्होंने रघु मरिस्वामी पर 22-20, 21-16 की एकतरफा जीत हासिल की थी। इस मुक़ाबले में दोनों ही शटलरों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली, जिसमें 19 वर्षीय मिश्रा ने 22-20, 22-20 से मैच अपने नाम कर लिया। इस जीत के साथ ही अलप ने मुख्य दौर में जगह बना ली है, जहां पहले राउंड में मॉरीशस के जॉर्ज्स जुलिएन पॉल उन्हें चुनौती देंगे।

दूसरी तरफ़ राहुल चीताबोएना के लिए मंगलवार का दिन आसान रहा, उन्होंने अपना पहला मैच 21-13, 21-17 से हमवतन कार्तिके गुलशन कुमार के ख़िलाफ़ जीता। जबकि दूसरे मुक़ाबले में राहुल ने आर्यमण टंडन को 21-10, 21-16 से शिकस्त दी। मुख्य दौर के मुक़ाबले में अब 21 वर्षीय राहुल की टक्कर थाईलैंड के शटलर कुन्लावुत वितिदसार्न के ख़िलाफ़ होगी।

अलप और राहुल के उलट भारत के एक और युवा शटलर अंसल यादव को मुख्य दौर में जगह बनाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। 22 वर्षीय अंसल को अपने पहले मुक़ाबले में मिथुन मंजूनाथ को हराने के लिए तीन गेम का इंतज़ार करना पड़ा, जिसमें उन्हें 21-16, 13-21 और 21-16 से जीत हासिल हुई। हालांकि अंसल ने अपने दूसरे मुक़ाबले में चिराग सेन को सीधे गेम में 21-18, 21-18 से मात देते हुए मुख्य दौर में जगह बना ली। जहां पहले राउंड में उन्हें सातवीं वरीयता प्राप्त सोन वान हो कड़ी चुनौती देंगे।

भारतीय शटलरों के अलावा इस क्वालिफिकेशन दौर में एकमात्र विदेशी शटलर जिन्होंने मुख्य दौर में प्रवेश किया, वह हैं चाइनीज़ ताइपे के हुआंग पिंग-सीन। 19 वर्षीय इस शटलर ने अपने पहले मैच में भारत के श्रेयंस जायसवाल को 21-10, 21-14 से मात दी। अपने दूसरे मुक़ाबले में भी हुआंग पिंग भारतीय शटलर कौशल धर्मवीर के ऊपर 11-4 की बढ़त बनाए हुए थे, लेकिन धर्मवीर चोट की वजह से आगे नहीं खेल पाए और हुआंग पिंग को विजेता घोषित कर दिया गया। बुधवार को पहले राउंड के मुक़ाबले में हुआंग पिंग का सामना भारत के सिरिल वर्मा से होगा।

लाड ने नहीं हारी हिम्मत

महिला क्वालिफायर्स में भारतीय शटलर तानवी लाड ने पहला गेम हारते हुए बाज़ी अपने नाम की। लाड ने हमवतन प्राशी जोशी को 19-21, 21-18 और 21-8 से शिकस्त दी, लाड के सामने मुख्य दौर के पहले राउंड में रशियन शटलर नटालिया परमीनोवा की चुनौती होगी। वहीं, अश्मिता छलीहा ने भी आकर्षी कष्यप को 21-13, 21-18 से हराते हुए मुख्य दौर की टिकट हासिल कर ली। 20 साल की अश्मिता की टक्कर पहले दौर के मुक़ाबले में व्रुषाली गुम्माड़ी के साथ होगी।

ऋतुपर्णा दास ने भी आसानी से अपना मुक़ाबला जीता, जहां उन्होंने शिखा गौतम पर 21-10, 21-10 से जीत दर्ज की। वहीं श्रुति मुंदाडा ने भी अपना क्वालिफ़ाइंग मुक़ाबला 21-19, 21-13 से जीतते हुए मुख्य दौर में पहुंच गईं जहां अब उनके सामने हमवतन रिया मुखर्जी की चुनौती होगी तो ऋतुपर्णा दास की टक्कर पहले राउंड में हांग कांग की ईप पुई ईन से होगी।

सैयद मोदी इंटरनेशनल से साइना नेहवाल ने वापस लिया अपना नाम

नेहवाल ने नाम वापस लिया

कुछ ही दिनों पहले भारतीय महिला स्टार शटलर सायना नेहवाल ने प्रीमियर बैडमिंटन लीग में न खेल पाने की घोषणा की थी, और अब उन्होंने ख़ुद को 2019 सैयद मोदी अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट से भी बाहर कर लिया है।

29 वर्षीय सायना इन दिनों अपने करियर के बेहद कठिन दौर से गुज़र रही हैं, इस सीज़न में उन्होंने 6 बार कोशिश की लेकिन कभी भी वह पहले दौर से आगे नहीं जा पाईं। 2012 लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली सायना नेहवाल को उम्मीद होगी कि वह जल्द ही इस दौर से उबरते हुए ओलंपिक से पहले एक बार फिर फॉर्म हासिल करें।