टेनिस

ओलंपिक साल का आगाज़, शरण-सिटक की जोड़ी ने किया हार के साथ 

भारत-कीवी जोड़ी की क़तर ओपन 2020 के पहले ही दौर में चुनौती हुई समाप्त, सीधे सेटों में चार्डी-मार्टिन के हाथों मिली हार

लेखक सैयद हुसैन ·

एक दिन पहले जहां भारतीय टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना ने भारतीय फ़ैन्स को जश्न मनाने का मौक़ा दिया। वहीं ठीक अगले ही दिन बुधवार को दोहा के ख़लीफ़ा इंटरनेश्नल एंड स्कॉयश कॉम्पलेक्स में खेले जा रहे क़तर ओपन 2020 में दिवीज शरण उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाए। इस भारतीय खिलाड़ी को अपने कीवी साझेदारअर्टेम सिटक के साथ इस युगल जोड़ी को हारकर बाहर होना पड़ा।

इस एटीपी 250 इवेंट में भारत-कीवी की जोड़ी को पूर्व चैंपियन फ़्रांस के जेरेमी चार्डी और फ़ैब्रिस मार्टिन से 6-7(4), 2-6 से हार मिली। चौथी वरीयता प्राप्त फ़्रांस की जोड़ी ने शुरुआत से भारत-कीवी जोड़ी पर अपनी पकड़ बना ली थी।

फ़्रेंच जोड़ी की ताक़त उनकी सर्विस थी, उन्हें पहली सर्विस में 81 % जीत मिली। इस मैच में इनकी ओर से कुल 7 ऐस देखने को मिले जबकि भारत-कीवी जोड़ी की ओर से एकमात्र ऐस सिटक ने लगाया था।

2017 की इस चैंपियन जोड़ी का सामना अब ग्रेट ब्रिटेन के ल्यूक बैंब्रिज और मेक्सिको के सैंटियागो गोनज़ालेज़ से होगा। यह मुक़ाबला जीतने वाले को सीधे सेमीफ़ाइनल का टिकट मिल जाएगा।.

फ़्रेंच जोड़ी जेरेमी चार्डी और फ़ैब्रिस मार्टिन लाजवाब फ़ॉर्म में थे और उन्होंने क़तर ओपन 2020 के पहले राउंड में सीधे सेटों में जीत हासिल की। 

ओलंपिक का सपना

शरण और बोपन्ना इन दोनों ही भारतीय टेनिस स्टार की नज़र इस साल होने वाले टोक्यो 2020 का टिकट पाने पर है। टाइम्स ऑफ़ इंडिया के साथ बातचीत करते हुए बोपन्ना ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि टोक्यो 2020 में उनके साझेदार शरण होंगे।

उन्होबे बताया कि ‘’शरण और मैं एक टीम की तरह टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफ़ाई करना चाहते हैं। लेकिन उससे पहले हमें यह भी आश्वस्त करना है कि हमारी व्यक्तिगत रैंकिंग अच्छी रहे।‘’

‘’तब तक हम चाहे किसी के साथ भी टीम बनाएं, लेकिन फ़्रेंच ओपन के समय हम चाहेंगे कि साथ खेलें, क्योंकि वही वह वक़्त रहेगा जब हमारी रैंकिंग अच्छी हो और एक टीम की तरह हम टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफ़ाई करें और भारत का प्रतिनिधित्व करें।“

अंकिता की जीत

दूसरी तरफ़, ऑस्ट्रेलिया के बेंडीगो में भारत की महिला टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना ने 2020 की शुरुआत धमाकेदार अंदाज़ में की। उन्होंने इटली की मार्टिना डी गायसपे को 6-1, 7-5 से सीधे सेटों में शिकस्त दी।

भारत की सर्वोच्च रैंकिंग वाली इस महिला खिलाड़ी ने डब्लू25 कैनबेरा आईटीएफ़ इवेंट में यह जीत हासिल की है। विक्टोरिया स्टेट के जंगलों में आग लगने की वजह से इस प्रतियोगिता को कैनबेरा से बेंडीगो स्थानांतरित किया गया है।

रैना अब यूएसए की इरिना फ़ालकोनी के ख़िलाफ़ गुरुवार को खेले जाने वाले दूसरे राउंड के मुक़ाबले में कोर्ट पर उतरेंगी।