टेनिस

रोहन बोपन्ना ने क़तर ओपन के फाइनल में बनाई अपनी जगह

इस भारतीय टेनिस खिलाड़ी और उनके साथी ने सीधे सेटों में जीत हासिल करते हुए फाइनल में पहुंचने का गौरव हासिल किया।

लेखक रितेश जायसवाल ·

रोहन बोपन्ना और वेस्ली कूलहॉफ की जोड़ी ने दोहा में खलीफा इंटरनेशनल कॉम्प्लेक्स में कतर ओपन के फाइनल में फिनलैंड के हेनरी कॉटन और क्रोएशियाई फ्रेंको स्कोगोर को सीधे सेटों में हराकर जीत हासिल की।

तीसरी वरीयता प्राप्त बोपन्ना-कूलहॉफ की जोड़ी ने टूर्नामेंट में इंडो-डच जोड़ी से ऊंची रैंक हासिल करने के लिए पहले सेट में एक बार और दूसरे में दो बार ब्रेक करते हुए 7-5, 6-2 से जीत हासिल की।

मैच मूल रूप से गुरुवार के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन बारिश में रुकावट की वजह से यह एक दिन देर से हुआ। फाइनल में खिताब के लिए बोपन्ना-कूलहॉफ़ जोड़ी का सामना ल्यूक बैम्ब्रिज और मैक्सिकन सैंटियागो गोंजालेज की जोड़ी से होगा, जो आज दिन के बाद में आयोजित किया जाएगा।

बैम्ब्रिज और गोंजालेज दूसरे सेमीफाइनल में डेन फ्रेडरिक नीलसन और जर्मन टिम पुतज की युगल जोड़ी को हराने के लिए एक सेट के बाद वापसी की थी। यह मैच गुरुवार को शुरू हुआ था, लेकिन केवल एक ही सेट पूरा हो सका, जिसके बाद बारिश के कारण इसे शुक्रवार को खेला गया।

सेमी-फाइनल में पहुंचीं अंकिता रैना

इस बीच, भारत की अंकिता रैना को उनकी प्रतिद्वंदी और तीसरी वरीयता प्राप्त अमेरिकी सचिया विकीरी के टाई से सेनानिवृत्त होने के बाद शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया के बेंदिगो में आईटीएफ के महिला एकल टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में वॉकओवर दिया गया।

अंकिता रैना ने इससे पहले विकीरी की हमवतन और पूर्व विश्व नम्बर 63, इरि फाल्कोनी को 16 के राउंड में हराया। पहला सेट 2-6 से हारने के बाद, भारतीय टेनिस की शीर्ष खिलाड़ी ने डटकर मुकाबला किया। अगले दो सेट उन्होंने 6-4 के समान स्कोर के साथ जीतते हुए क्वार्टर में प्रवेश किया। यह कड़ा मुक़ाबला 1 घंटे और 41 मिनट तक चला।

वह शनिवार को सेमीफाइनल में रोमानियाई शीर्ष वरीयता प्राप्त पेट्रीसिया मारिया टाइग से भिड़ेंगी। इससे पहले उन्होंने हंगरी की अन्ना बॉन्डार को 6-2, 7-5 से हराया।