भारतीय मिडफिल्डर विवेक प्रसाद चुने गए एफआईएच के राइजिंग स्टार ऑफ द ईयर

अर्जेंटीना के माइको कैसला और ऑस्ट्रेलिया के ब्लैक गोवर्स से होड़ में आगे निकलते हुए भारतीय मिडफिल्डर ने ये सम्मान हासिल किया। 

आने वाले समय के भारतीय हॉकी मिडफील्डर विवेक सागर प्रसाद को सोमवार को घोषित अंतर्राष्ट्रीय हॉकी निकाय के 2019 एफआईएच राइजिंग स्टार ऑफ द ईयर के रूप में सम्मानित किया गया है।

19 साल के इस खिलाड़ी को एक विस्तृत ऑनलाइन पोल के बाद विजेता घोषित किया गया, जिसमें 50 प्रतिशत नेशनल एसोसिएशन, 25 प्रतिशत प्रेस और 25 प्रतिशत प्रशंसकों की वोटिंग कराई जाती है जिसके बाद विजेता का नाम घोषित किया जाता है। एफआईएच ने 2019 सम्मान के लिए विवेक प्रसाद के साथ-साथ अर्जेंटीना के माइको कैसला और ऑस्ट्रेलिया के ब्लैक गोवर्स को भी नोमिनेट किया था।

ये सम्मान विवेक सागर प्रसाद को प्रेरित करता है

पुरस्कार के बारे में बात करते हुए भारतीय हॉकी मिडफील्डर ने कहा कि, “ये मेरे लिए एक बड़ा मौका है और मैं सभी का धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस पुरस्कार को जीतने के लिए मुझे वोट दिया। ये भारतीय टीम के लिए कठिन प्रयास करने और देश के लिए बड़ी उपलब्धियों को प्राप्त करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए एक बड़ी प्रेरणा के रूप में साबित होगा।”

उन्होंने आगे कहा, "मैं अपने साथियों को विशेष रूप से सीनियर्स का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं, जिन्होंने मेरी गलतियों के बाद मुझे लगातार प्रेरित किया। उन्होंने मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए प्रोत्साहित किया।"

ब्यूनस आयर्स में 2018 यूथ ओलंपिक में विवेक सागर प्रसाद ने भारत को रजत पदक दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। फोटो सौजन्य: हॉकी इंडिया मीडिया
ब्यूनस आयर्स में 2018 यूथ ओलंपिक में विवेक सागर प्रसाद ने भारत को रजत पदक दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। फोटो सौजन्य: हॉकी इंडिया मीडियाब्यूनस आयर्स में 2018 यूथ ओलंपिक में विवेक सागर प्रसाद ने भारत को रजत पदक दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। फोटो सौजन्य: हॉकी इंडिया मीडिया

विवेक सागर प्रसाद ने 2018 में न्यूजीलैंड में एक फोर-नेशन इंविटेशनल प्रतियोगिता में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी शुरुआत की, जिसमें भारतीय हॉकी टीम को विश्व चैंपियन बेल्जियम और जापान के अलावा मेजबान टीम का भी सामना किया। तब से लेकर अब तक भारतीय हॉकी टीन के इस मिडफील्डर ने राष्ट्रीय टीम के लिए 60 से अधिक मैच में अपना योगदान दिया है।

2018 में इस युवा खिलाड़ी को ब्यूनस आयर्स में 2018 युवा ओलंपिक में भारतीय टीम का नेतृत्व करते हुए देखा गया था, जहां उन्होंने फाइनल में 1-3 से हार के बाद रजत पदक जीता था।

हालांकि, साल 2019 में मध्य प्रदेश के इस खिलाड़ी ने भारतीय जर्सी में अपने स्मार्ट स्टिक का जलवा दिखाया। 19 साल के इस खिलाड़ी को सुल्तान अजलान शाह कप में भारतीय हॉकी टीम में देखा गया, जहां वो अक्सर हमला करने वाले खिलाड़ियों को चकमा देते नज़र आए थे।

विवेक प्रसाद: भारतीय हॉकी टीम के भाविष्य की उम्मीद 

विवेक प्रसाद: भारतीय हॉकी टीम के भाविष्य की उम्मीद 

भले ही भारतीय हॉकी टीम को फाइनल में दक्षिण कोरिया से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन विवेक सागर प्रसाद ने दो गोल कर भारतीय सीनियर टीम के दरवाजे पर दस्तक दे दी थी।

बाद में एफआईएच श्रृंखला के फाइनल में भारतीय मिडफील्डर ने अपने प्रदर्शन से भारतीय हॉकी टीम की शानदार जीत को सुनिश्चित किया और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। जिसके बाद विवेक सागर प्रसाद को टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी चुना गया।

टोक्यो 2020 ओलंपिक की उल्टी गिनती शुरू हो जाने के बाद से ये भारतीय मिडफील्डर एफआईएच प्रो लीग में सबको प्रभावित करने के लिए उत्सुक है, ताकि वो जुलाई में होने वाली ओलंपिक-बाउंड टीम जगह बना सकें। बेल्जियम के खिलाफ उनका प्रदर्शन तो सिर्फ एक झलक है, जिसे मुख्य कोच ग्राहम रीड ने निश्चित तौर पर उनके योगदान को ध्यान में रखा होगा।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!