भारत की पुरुष वॉलीबॉल टीम एशियाई ओलंपिक क्वालिफायर के लिए चीन रवाना

नेपाल में आयोजित दक्षिण एशियाई खेलों में उनके हालिया शानदार प्रदर्शन के बाद भारतीय दल आत्मविश्वास से लबरेज़ होगा। 

लेखक रितेश जायसवाल ·

चीन में 7 से 12 जनवरी तक होने वाले एशियन मेंस टोक्यो वॉलीबॉल ओलंपिक क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट के लिए भारत की टीम की घोषणा कर दी गई है। उत्तराखंड के विनीत कुमार इस टीम का नेतृत्व करेंगे। इरविन डी मेनिनो जीसस सोरेस प्रतिभागियों के मैनेजर होंगे, जबकि जीई श्रीधरन दो अन्य सहायक कोचों के साथ मुख्य कोच होंगे। इस टीम में राजस्थान के कमलेश खटीक ने भी जगह बनाई है।

भारत की टीम पिछले साल सितंबर में ईरान के तेहरान में एशियाई पुरुष चैंपियनशिप में मोहन उक्रपांडियान के नेतृत्व में दूसरे स्थान पर रही थी। टीम ने कज़ाकिस्तान, चीन और ओमान का सामना किया था और कज़ाकिस्तान और ओमान पर जीत के साथ समूह में दूसरे स्थान पर रहते हुए टूर्नामेंट को समाप्त किया था। इस टूर्नामेंट में प्रत्येक समूह की शीर्ष-दो टीमें आगे के मुक़ाबलों के लिए बढ़त बनाने में सफल रहीं।

ओलंपिक क्वालिफिकेशन प्रक्रिया

टोक्यों में होने वाले 2020 मेंस ओलंपिक वॉलीबॉल टूर्नामेंट में बारह टीमें हिस्सा लेंगी – मेज़बान देश की टीम, छह इंटरकांटिनेंटल क्वालिफाइंग टूर्नामेंट की विजेता टीम और पांच महाद्वीपीय ओलंपिक क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट चैंपियन टीमें।

जो टीमें पहले ही इवेंट के लिए क्वालिफाई कर चुकी हैं, वे क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगी। एशियाई क्वालिफायर के अलावा, अफ्रीकी, यूरोपीय, दक्षिण अमेरिकी और उत्तरी अमेरिकी क्वालिफायर भी होंगे।

भारत के आगे का सफर

भारत को पूल बी में ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया और कतर के साथ रखा गया है, जबकि ईरान, चीनी ताइपे, चीन, और कज़ाकिस्तान एशियाई क्वालिफायर के पूल ए में हैं। कज़ाकिस्तान ने टूर्नामेंट से हटने के बाद पहले समूह में भारत के पड़ोसी और दक्षिण एशियाई खेलों के फाइनलिस्ट पाकिस्तान की जगह ली है।

भारत 7 जनवरी को कतर के साथ खेलने वाला है, वहीं क्रमशः 8 और 9 जनवरी को दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच होंगे। विजेता अंकों के अलावा, पूल स्टैंडिंग प्रक्रिया मैच अंक, सेट अनुपात, अंक अनुपात, और टाई हुई टीमों के बीच अंतिम मैच के परिणाम को भी ध्यान में रखा जाएगा।

भारत से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद

भारतीय टीम पिछले महीने दक्षिण एशियाई खेलों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रही थी, जहां उन्होंने पुरुष और महिला दोनों स्पर्धाओं में स्वर्ण पदक हासिल किए। पुरुषों की टीम ने फाइनल मुक़ाबले में विरोधी प्रतिद्वंद्वियों से कड़े मुकाबले में शानदार प्रदर्शन करते हुए 20-25, 25-15, 25-17 और 29-27 के स्कोर से जीत हासिल की।

भारतीय पुरुष टीम: विनीत कुमार (कप्तान), जीएस अखिन, अमित, रंजीत सिंह, गगन कुमार, कमलेश खटीक, अजीतलाल चंद्रन, दीपेश कुमार सिन्हा, मिधुन कुमार, सी. जेरोम विनित, मोहन उक्रपांडियान, थंगालाथिल जॉन, अश्वल राज, अशोक कार्तिक।

कोच: जीई श्रीधरन, सहायक कोच: नरेश कुमार, राजेश कुमार सिंह, मैनेजर: इरविन डे मेनिनो जेसस सोरेस, फीजियोथेरेपिस्ट: दिग्विजय सिंह राठौड़,रेफरी: रामेश्वर सिंह चौहान।