वॉलीबॉल

टोक्यो 2020 में क्वालिफ़ाई करने में नाकाम रही भारतीय वॉलीबॉल टीम

भारतीय पुरुष वॉलीबॉल टीम को साउथ कोरिया से मिली हार, ओलंपिक क्वालिफ़ायर से हुए बाहर

लेखक सैयद हुसैन ·

टोक्यो 2020 में जगह बनाने की दौड़ से भारतीय पुरुष वॉलीबॉल टीम बाहर हो गई है। बुधवार को चीन के जियांगमेन में चल रहे मेंस कॉन्टिनेन्टल वॉलीबॉल क्वालिफ़िकेशन इवेंट में भारतीय टीम को साउथ कोरिया से हार का सामना करना पड़ा। भारत की यह लगातार दूसरी हार रही और इसके चलते वे प्रतियोगिता के साथ-साथ ओलंपिक क्वालिफ़िकेशन से भी बाहर हो गए।

एक दिन पहले क़तर के ख़िलाफ़ हार झेलने वाले भारतीय स्पाइकर्स बुधवार को भी आसानी के साथ घुटने टेक गए। साउथ कोरिया ने भारत को सीधे सेटों में 3-0 (25-19, 25-20, 25-23) से शिकस्त दी।

इसी हार के साथ भारत का सेमीफ़ाइनल और टोक्यो 2020 के लिए क्वालिफ़ाई करने का सपना भी ख़त्म हो गया। अब गुरुवार को भारत का मुक़ाबला ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ होगा, जो बस एक प्रतिष्ठा का सवाल रह गया है।

साउथ कोरिया के जिसयोक जंग 12 अंकों के साथ अपनी टीम के लिए टॉप स्कोरर रहे। तस्वीर साभार: एफ़आईवीबी

कोरिया की तिकड़ी के सामने नतमस्तक

एक दिन पहले ही भारत को खेलता देख चुकी साउथ कोरियाई टीम ने सबसे ज़्यादा वहीं आघात पहुंचाया, जहां भारतीय टीम कमज़ोर थी। जिसयोक जंग, शिन यंग सुक और हो सुबंग की तिकड़ी ने तुरंत ही मैच को भारत की पकड़ से दूर कर किया।

जिसयोक सबसे ज़्यादा ख़तरनाक नज़र आए और आक्रमण में उन्होंने 10 प्वाइंट्स बटोरे। इस 24 वर्षीय खिलाड़ी ने आक्रमण का नेतृत्व किया और यंग सुक और हो सुबंग ने 8-8 अंक हासिल किए। इसके अलावा कोरियाई टीम की शानदार सर्विस भी इस मैच में निर्णायक रही, उनके ताक़तवर और काफ़ी अंदर तक की गई सर्व ने कुल 7 प्वाइंट्स दिलाए।

आखीन ने किया प्रभावित

भारत के लिए अगर कुछ सकारात्मक रहा तो वह थे जी एस आखीन, उन्होंने बेहतरीन ऑलराउंड प्रदर्शन किया। केरेला का यह ब्लॉकर इस मैच में शानदार फ़ॉर्म में था, एक तरफ़ से उन्होंने भारत को मैच में बनाए रखने की पूरी कोशिश की। उन्होंने मैच में कुल 10 प्वाइंट्स हासिल किए, 6 अटैक में और 4 अंक ब्लॉक में।

शिन यंग सुक भी लाजवाब रंग में थे, उन्होंने भारत के ख़िलाफ़ उन्होंने कुल 10 अंक बटोरे। तस्वीर साभार: एफ़आईवीबी

अटैकर की बात करें तो भारत की ओर से अमित को सबसे ज़्यादा अंक मिले। शुरुआत में ही उन्होंने कई प्वाइंट्स लिए और अपने मज़बूत स्पाइक्स के ज़रिए कोरियाई खिलाड़ियों को परेशान भी किया। अमित को कुल 13 अंक प्राप्त हुए।

भारत का अगला मुक़ाबला ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़

भारत अब गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया के सामने कोर्ट पर उतरेगा, हालांकि भारत के लिए ग्रुप का यह आख़िरी मुक़ाबला केवल प्रतिष्ठा की लड़ाई बन कर रह गया है।

दूसरी तरफ़ लगातार दो जीतों के साथ क़तर ने सेमीफ़ाइनल में स्थान बना लिया है। ऑस्ट्रेलिया के लिए राह थोड़ी मुश्किल हो गई है। उन्हें पहले भारत को हराना होगा और फिर उम्मीद करनी होगी कि साउथ कोरिया को क़तर से हार मिले। अगर यह दोनों चीज़ें होती हैं तभी ऑस्ट्रेलियाई टीम सेमीफ़ाइनल में प्रवेश करेगी।