वॉलीबॉल

ओलंपिक क्वालिफायर में हार से हुई भारतीय मेंस वॉलीबॉल टीम की शुरुआत

2020 ओलंपिक क्वालिफिकेशन प्रतियोगिता में क़तर ने भारत को 3-0 से हराया। 

लेखक जतिन ऋषि राज ·

चीन में आयोजित 2020 ओलंपिक क्वालिफायर में भारतीय मेंस वॉलीबॉल टीम की शुरुआत निराशाजनक रही। मंगलवार को अपने पहले मुकाबले में भारत को करारी शिकस्त मिली। क़तर ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मुकाबला 3-0 से जीत लिया। आपको बता दें, यह इवेंट टोक्यो 2020 के क्वालिफिकेशन के लिए खेला जा रहा है। 

यह कहना गलत नहीं होगा कि भारतीय मेंस वॉलीबॉल टीम ने मैच के दौरान वापसी करने की कई बार कोशिश की। जिसकी वजह से क़तर को जीत हासिल करने के लिए एड़ी-चोटी का ज़ोर लगाना पड़ा। अंततः भारत को 22-25, 20-25 और 23-25 से हार का सामना करना पड़ा।  

अब भारत अगले बुधवार को साउथ कोरिया के साथ भिड़ेगा और टोक्यो 2020 के क्वालिफिफेशन की राह को आसान बनाने की कोशिश करेगा। भारत के इस प्रदर्शन ने जीत तो नहीं दिलाई, लेकिन अपने खेमे में उम्मीद की किरण ज़रूर जलाए रखी है। इसी मुकाबले के अगले दिन भारत ऑस्ट्रेलिया से प्रतिस्पर्धा करता नज़र आएगा। 2020 ओलंपिक गेम्स के लिए जगह बनाने के लिहाज़ से देखा जाए तो यह दोनों ही मुकाबले भारत के लिए अहम होने वाले है।

जिराल्ड़ो ग्रेसियानो दा सिल्वा फिल्हो ने अपनी टीम को 15 अंक दिलाए: फोटो क्रेडिट: FIVB

क़तर को दी कड़ी टक्कसाउथ एशियन गेम्स को जीतने के बाद भारतीय टीम ने इस ओलंपिक क्वालिफायर में आत्मविश्वास के साथ कदम ज़रूर रखे लेकिन उनके सामने क़तर के इरादे कुछ और निकले। एशियन कप विजेता क़तर ने भारत से अच्छा खेल दिखाते हुए मुकाबले को अपने हक में कर अपने भविष्य का प्रमाण दे दिया है।

क़तर के लजिराल्ड़ो ग्रेसियानो दा सिल्वा फिल् ने बेहद शानदार प्रदर्शन दिखाया और अपने अटैक से भारतीय डिफेंस को कमज़ोर करते गए। जिराल्ड़ो ग्रेसियानो ने स्मैश और अपने आक्रामक खेल के ज़रिए अपनी टीम को 15 अंक भी निकालकर दिए और ये अंक हार जीत का फैसला करने के लिए काफी थे।

भारतीय मेंस वॉलीबॉल टीम क़तर को हराने में रही असफल: फोटो क्रेडिट: FIVB

जहां एक तरफ जिराल्ड़ो ग्रेसियानो के अटैक ने भारत को बैकफुट पर रखा हुआ था वहीं बेलाल नबेल अबुनबोट और इब्राहिम ने डिफेंस के ज़रिए अपने खेमे को मजबूती प्रदान की और भारत के अटैक को संभालामोहन उक्रापांडियन नहीं दिखा सके कमाल

भारत के हवाले से बात करें तो मोहन उक्रापांडियन और कप्तान विनीत कुमार अपनी फॉर्म से जूझते दिखे। भारतीय मेंस वॉलीबॉल टीम ने क़तर को टक्कर तो कड़ी दी लेकिन उनकी गलतियों का फायदा नहीं उठा सके और नतीजन मुकाबले भारत के हाथों से निकल गया।

इस टोक्यो 2020 क्वालिफिकेशन में बहरत की ओर से सी जेरोम विनीथ ने सर्वश्रेठ प्रदर्शन दिखाया और अपनी 21 कोशिशों में से 12 अंक। वहीं जीकेएस अखिन ने बटोरने भी अपने खेल से अपने खेमे को 7 अंकों का योगदान दिया।

अब देखना यह होगा की भारतीय टीम अपने आने वाले मुकाबलों को की तरह से देखती और उनकी रणनीति क्या होगी।।