भारतीय महिला हॉकी टीम ने ब्रिटेन के खिलाफ मुकाबले को 1-1 से किया बराबर

भारतीय महिला हॉकी टीम का न हारने का सिलसिला बरकरार

लेखक ओलंपिक चैनल ·

रविवार को मार्लो में भारत और इंग्लैंड के बीच हुए महिलाओं के हॉकी मुकाबले ने जमकर सुर्खियां बटोरीं। 1-0 से पीछे रहते हुए भारत ने अच्छा खेल दिखा कर मुकाबले को 1-1 से ड्रॉ किया। पेनल्टी स्ट्रोक की मदद से मेज़बान टीम को बढ़त बनाने का मौका मिला और इस मौके का फायदा उन्होंने बखूबी उठाया। इंग्लैंड टीम 1-0 से बढ़त बनाकर आगे चल रही थी और भारतीय टीम को अलग खेल खेलने पर मजबूर कर रही थी। तीसरे क्वार्टर में भारत लालरेमसियामी ने गोल दागकर इस फासले को बराबर किया और भारत की हार न मानने वाली आदत को दर्शकों के आगे पेश किया।

पेनल्टी स्ट्रोक पड़ा भारी

पहला मुकाबला 2-1 से जीतने के बाद भारतीय महिला हॉकी टीम से अच्छे प्रदर्शन की पूरी उम्मीद थी। हालांकि भारत को शुरुआत में कुछ पेनल्टी कार्नर के अवसर मिले लेकिन इंग्लैंड के गोलकीपर मैडी हिंच के फील्ड पर कमाल दिखाने की बदौलत भारत किसी भी शॉट को गोल में तब्दील करने में असफल रहा। इस प्रकार इंग्लैंड ने भारत को कुछ समय तक बांधे रखा।

हिंच के इस जोश को देखकर पूरी टीम में मानो एक जुनून की लहर दौड़ उठी और इंग्लैंड टीम ने भारतीय महिला हॉकी टीम से सवाल पूछने शुरू कर दिए।आक्रामक खेल दिखाते हुए इंग्लैंड ने कुछ पेनल्टी कार्नर भी चुराए लेकिन उन्हें गोल में तब्दील न कर सका। भारतीय डिफेंस ने उच्च कोटि का खेल दिखाया और प्रतिद्वंदियों को गोल करने से रोका। इसी बीच रेफरी द्वारा देखी गई भारतीय खिलाड़ी की गलती ने इंग्लैंड को पेनल्टी स्ट्रोक दिलवाया जिसके चलते मेज़बान ने 1-0 से बढ़त बना

आक्रामक तेवर

एक गोल से पीछे रही भारतीय टीम ने आक्रामक रवैया इख़्तियार किया और इंग्लैंड की मुश्किलों को बढ़ाना शुरू कर दिया। फील्ड पर मानो भारतीय महिलाओं ने जादू सा भिखेरना शुरू कर दिया और इंग्लैंड को बैक फुट पर खेलने पर मजबूर कर दिया। लेकिन गोलकीपर हिंच के इरादों को पस्त कर पाना बहुत मुश्किल था और दूसरे क्वार्टर के ख़त्म होने तक मुकाबला 1-0 से इंग्लैंड की पकड़ में तीसरा क्वार्टर भारत के लिए खुशियां लाया। भारत की लालरेमसियामी ने चालाकी दिखाते हुए सफाई से गोल कर भारत की मुकाबले में वापसी कराई और स्कोर को 1-1 से बराबर कर दिया। समय कम होता जा रहा था और दोनों ही टीमों का जज़्बा देखते ही बन रहा था। दोनों ही टीमों ने कुछ देर डिफेंसिव खेल अपनाया और एक-दूसरे को गोल मारने के ज़्यादा मौके नहीं दिए। चौथे और अंतिम क्वार्टर की शुरुआत भी डिफेंस के साथ ही हुई लेकिन भारतीय महिलाओं ने देखते ही देखते अटैक करना शुरू किया और मुकाबले को अपने हक में करने की पूरी कोशिश की। हालांकि अंत में स्कोर 1-1 रहा और कोई भी टीम इस मुकाबले को जीत न पाई लेकिन इस निर्णय से भारत का यह दौरा अभी तक हार से वंचित चल रहा है और हर मुकाबले के बाद भारतीय महिला हॉकी टीम के हौंसलें बढ़ते जा रहे है।

LALREMSIAMI SCORED THE EQUALISING GOAL FOR INDIA IN THE THIRD QUARTER. IMAGE COURTESY: HOCKEY INDIA