शादी के बंधन में बंधे तीरंदाज़ दीपिका कुमारी और अतानु दास, अब साथ-साथ करेंगे टोक्यो ओलंपिक की तैयारी

तीन साल तक एक-दूसरे को समझने के बाद दोनों तीरंदाज़ों ने भारत में लॉकडाउन के बीच लिए सात फेरे।

भारतीय तीरंदाज़ अतानु दास (Atanu Das) और दीपिका कुमारी (Deepika Kumari) ने मंगलवार को झारखंड के रांची में एक छोटे समारोह का आयोजन कर शादी कर ली है। इस ओलंपियन जोड़े ने इस बात पर खास ध्यान दिया कि उनके जीवन के इस बड़े और महत्वपूर्ण दिन पर कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी से जुड़े सभी स्वास्थ्य और सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन किया जाए।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक अतानु दास और दीपिका कुमारी ने केवल 60 शादी के कार्ड छपवाए थे और उनकी शादी में 50 लोगों के दो दलों ने अलग समय-समय पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। समारोह में शामिल हुए सभी 100 मेहमानों को मास्क और सेनेटाइजर प्रदान किए गए।

शामिल हुए मेहमानों में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और भारतीय तीरंदाज़ी संघ (AAI) के नए अध्यक्ष अर्जुन मुंडा जैसे हाई प्रोफ़ाइल लोग थे।

साथ में मज़बूती से बढ़ रहे आगे

अतानु दास और दीपिका कुमारी पहली बार 2008 में जमशेदपुर में टाटा तीरंदाज़ी अकादमी में नए छात्रों के तौर पर एक-दूसरे से मिले और तीन साल पहले ही दोनों ने एक-दूसरे को डेट करना शुरू किया। उनकी लंबी दोस्ती ने दोनों को करीब ला दिया।

अतानु दास ने ईएसपीएन को दिए एक इंटरव्यू में कहा, "हम काफी लंबे समय से एक-दूसरे को जानते हैं, इसलिए हमारे बीच दोस्ती के मजबूत बंधन के साथ ही एक ख़ास कम्फर्ट ज़ोन है।”

उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि अब उनकी पत्नी बन चुकीं दीपिका कुमारी से उन्होंने बहुत कुछ सीखा है।

अतानु दास ने कहा, “मैं चीजों को हासिल करने के लिए उनके प्रयासों और उनकी शारीरिक फिटनेस के लिए किए गाए उनके प्रयासों की प्रशंसा करता हूं। जब से मैंने उन्हें जाना है, उन बीते वर्षों में कभी भी उनका यह जोश कम नहीं हुआ है।”

दोनों भारतीय तीरंदाजों ने बीते वर्षों में कई प्रतियोगिताओं में एक साथ हिस्सा लिया है और कई व्यक्तिगत पदक जीते हैं। उन्होंने 2016 में चीन के शंघाई में हुए तीरंदाज़ी विश्व कप में टीम इवेंट में एक साथ ब्रॉन्ज़ मेडल जीता था।

अतानु दास ने रियो 2016 में अपना ओलंपिक डेब्यू किया था और दीपिका कुमारी ने लंदन और रियो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। वह पूर्व विश्व नम्बर-1 तीरंदाज़ हैं। दोनों ने अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए तीरंदाज़ी में कोटा स्थान हासिल कर लिया है।

ऐसा शायद पहली बार होगा जब एक ही खेल से पति-पत्नी की जोड़ी ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करेगी। हालांकि इससे पहले वीस पेस और जेनिफ़र पेस भी बतौर पति पत्नी ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। लेकिन एक ही खेल में दीपिका और अतानु की ये जोड़ी एक नया इतिहास लिख सकती है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!