टोक्यो 2020 का टिकट हासिल करने के लिए आश्वस्त हैं जिनसन जॉनसन

केरल के इस एथलीट ने 800 मीटर स्पर्धा में 2016 ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने में कामयाबी हासिल की थी लेकिन सेमीफाइनल में पहुंचने में असमर्थ रहे।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

भारत के मीडिल-डिसटेंस (1500 मीटर) धावक जिनसन जॉनसन (Jinson Johnson) टोक्यो 2020 ओलंपिक में अपनी जगह सुनिश्चित करने के लिए आश्वस्त नज़र आ रहे हैं, जहां वो चोट से लौटने के बाद एक चुनौतीपूर्ण सफर के लिए तैयार है।

कोलोराडो स्प्रिंग्स में प्रशिक्षण के दौरान दिसंबर में 2018 एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को एड़ी में चोट लगी थी। हालांकि, उस समय ओलंपिक के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा था, जिसके बाद वो भारत लौट आए और जिनसन जॉनसन ने मुंबई के एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में इलाज़ शुरू करवाया।

अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ (3: 35.34) के साथ, 1500 मीटर के इवेंट के लिए 3: 35.00 के ओलंपिक क्वालिफिकेशन कट-ऑफ समय से ज्यादा दूर नहीं है, केरल स्प्रिंटर अब टोक्यो के लिए अपने टिकट को हासिल करने के लिए आश्वस्त हैं।

जिनसन जॉनसन ने स्पोर्ट्स्टार को बताया कि "मुझे पता है कि मेरा सर्वश्रेष्ठ मार्क से कम है, लेकिन मैं ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने के लिए आश्वस्त हूं।"

“एथलेटिक्स में फिटनेस बहुत महत्वपूर्ण है और मीडिल डिसटेंस में मुझे पता है कि मुझे अपनी दौड़ को कैसे तेज करना है। मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं और SAI बेहतरीन सुविधाओं के साथ वास्तव में अच्छी तरह से हमारी देखभाल कर रहा है।

800 मीटर के इवेंट में 2016 के ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले जॉनसन सेमीफाइनल तक पहुंचने में असफल रहे थे। जिनसन जॉनसन ने कहा, "मुझे उम्मीद है कि मैं क्वालिफाई कर लूंगा और उम्मीद है कि ये महामारी जल्द ही समाप्त हो जाएगी और जीवन सामान्य हो जाएगा और खेल भी होंगे।”

अनिश्चितता के मंडराते बादल

हालांकि जिनसन जॉनसन अपनी चोट से उभर गए हैं लेकिन उनकी ओलंपिक क्वालिफिकेशन इवेंट को  कोरोना वायरस महामारी के कारण अनिश्चित काल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।

रद्द किए जाने वाले इवेंट्स में इंडियन ग्रां प्री शामिल है जिसे हाल ही में रद्द कर दिया गया, जबकि फेडरेशन कप को निलंबित कर दिया गया है। कई एथलीट अलग से प्रशिक्षण के लिए संघर्ष कर रहे हैं और जिनसन जॉनसन भी कुछ वैसे ही ट्रेनिंग ले रहे हैं।

कोलोराडो स्प्रिंग्स में प्रशिक्षण के दौरान जिनसन जॉनसन की एड़ी में चोट लगी थी।

उन्होंने कहा, "मैं इनविटेशनल टूर्नामेंट में भाग लेने और वहां से क्वालिफाई करने को लेकर आश्वस्त हूं। मीडिल-डिसटेंस की दौड़ में टाइमिंग बहुत महत्वपूर्ण हैं और मैंने विदेश में अच्छा प्रदर्शन किया है।" "पिछले साल मैंने नीदरलैंड में हुए नेक्स्ट जेन एथलेटिक्स मीट भी भाग लिया था, साथ ही बर्लिन में IWF वर्ल्ड चैलेंज में भी मैंने प्रतिस्पर्धा की थी। मुझे उम्मीद है कि स्थिति में सुधार होगा। ”

जिनसन जॉनसन के लिए आगे का सफर

अप्रैल के अंत तक रद्द कर दी गई अधिकांश ओलंपिक क्वालिफिकेशन इवेंट्स के बाद, 28 वर्षीय जिनसन जॉनसन अगले यूरोपीय मीट में भाग लेना चाह रहे हैं, जो मई से जून तक आयोजित होने वाले हैं। जब तक इस महामारी के प्रकोप की खत्म हो जाने की संभावना भी है।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई इवेंट रद्द होने के बावजूद जिनसन जॉनसन अभी भी रैंकिंग के माध्यम से क्वालिफाई कर सकते हैं, हालांकि ये थोड़ा मुश्किल ज़रुर लग रहा है।

58वीं रैंकिंग वाले मीडिल-डिसटेंस रनर को 29 जून, 2020 की कट-ऑफ तारीख से पहले 45 स्लॉट्स को पूरा करने के लिए IAAF विश्व रैंकिंग में अपनी जगह सुधारने के लिए कई आयोजनों में प्रतिस्पर्धा करने की आवश्यकता होगी।

जिनसन जॉनसन ने कहा कि "मुझे पता है कि मेरी रैंकिंग इतनी बढ़िया नहीं है और मुझे उम्मीद है कि मुझे क्वालिफाई करने का मौका मिलेगा।"

भारतीय एथलीट जो पहले ही ओलंपिक के लिए कर चुके हैं क्वालिफाई 

भारत के एथलेटिक्स दल में आठ खिलाड़ियों ने अपने-अपने ओलंपिक टिकट हासिल कर ली है, इसके बाद कोरोना वायरस के प्रकोप ने सब कुछ रोक दिया।उन 8 खिलाड़ियों में 20 किलोमीटर रेस वॉकर इरफान कोलोथुम थोदी (Irfan Kolothum Thodi) और भावना जाट (Bhawna Jat), 3,000 मीटर स्टीपलचेसर अविनाश साबले (Avinash Sable), जोवोलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra), और 4x400 मीटर मिक्स टीम में मोहम्मद अनस (Muhammed Anas), वीके विसमाया (VK Vismaya), जिस्ना मैथ्यू (Jisna Mathew) और टॉम निर्मल नोआह (Tom Nirmal Noah) शामिल हैं।