तेजस्विन शंकर ने हेप्टाथलॉन में बनाया नया राष्ट्रीय कीर्तिमान

युवा भारतीय एथलीट अमेरिका में आयोजित इनविटेशनल मीट में सबसे ऊपर रहे, और इस तरह उन्होंने 2008 में किए गए पीजे विनोद के प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया।

लेखक सैयद हुसैन ·

भारत के उभरते हुए ट्रैक एंड फ़ील्ड स्टार तेजस्विन शंकर (Tejaswin Shankar) ने हेप्टाथलॉन में एक नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बना डाला है। रविवार को अमेरिका के कनसास सिटी में आयोजित एक इंटरकॉलिजिएट स्तर के इंडोर डेलॉस डॉड्स इनविटेशनल मीट में ख़िताब अपने नाम किया।

कनसास स्टेट की एक यूनिवर्सिटी का प्रतिनिधित्व करते हुए 22 वर्षीय इस भारतीय एथलीट ने कुल 5650 अंक स्कोर किए और इस तरह से उन्होंने 2008 में पीजे विनोद (PJ Vinod) के 5561 के स्कोर को पीछे छोड़ दिया। विनोद ने ये प्रदर्शन क़तर में हुई एशियन इनडोर चैंपियनशिप में किया था।

अपने पहले हेप्टाथलॉन में प्रतिस्पर्धा करते हुए तेजस्विन का प्रदर्शन लाजवाब रहा, उन्होंने इस दौरान एक नया मीट रिकॉर्ड भी बना डाला। जो इससे पहले अहर्न फ़ील्ड हाउस में कोलोराडो स्टेट के जोश कॉगडिल (Josh Cogdill) का था, उन्होंने 2017 में 5217 अंक हासिल किए थे।

इतना ही नहीं यूनिवर्सिटी के इतिहास में इस भारतीय ने सातवां सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

के-स्टेट के ट्रैक एंड फ़ील्ड और क्रॉस कंट्री के निदेशक क्लिफ़ रोवेल्टो ने स्कूल की वेबसाइट के साथ बातचीत में कहा, “एक शब्द में कहूं तो तेजस्विन का प्रदर्शन लाजवाब था। पहली बार वह हेप्टाथलॉन प्रतिस्पर्धा में शिरकत कर रहे थे, पहली बार उन्होंने अपनी ज़िंदगी में वॉल्ट लगाया। उन्होंने तीन महीने पहले पोल को छुआ था, और ये देश में टॉप-10 या टॉप-15 में आएगा। ये सचमुच अद्भुत है जो उन्होंने किया।“

तेजस्विन शंकर ने मीट की शुरुआत जीत के साथ की थी जब उन्होंने 60 मीटर का डैश 7.21 सेकंड्स में ही जीत लिया था। इसके बाद लॉन्ग जंप में भी उन्होंने 7.31 मीटर के साथ सबसे ऊपर रहे। हालांकि शॉट-पुट में वह कुछ ख़ास न कर सके और महज़ 11.90 मीटर के साथ वह आख़िरी स्थान पर रहे।

हाई जंप में राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक 23 वर्षीय तेजस्विन ने हाई जंप 2.25 मीटर के साथ जीता और फिर 8.32 सेकंड्स में 60 मीटर हर्डल्स को पूरा करते हुए शीर्ष पर रहे।

इस भारतीय एथलीट को पोल वॉल्ट इवेंट में क़ामयाबी नहीं मिली, जो वह पहली बार कर रहे थे। उन्होंने इसमें 3.75 मीटर का स्कोर किया। लेकिन उन्होंने शाम को बेहतरीन तब बना दिया जब 1000 मीटर में तेजस्विन ने हैरतअंगेज़ प्रदर्शन किया और सिर्फ़ 2:41.22 की टाइमिंग के साथ उन्होंने रेस फ़िनिश की।

इस जीत के बाद तेजस्विन शंकर ने कहा, “मुझे इसकी उम्मीद थी और नया रिकॉर्ड बनाकर मुझे बहुत अच्छा लगा।“

“मैंने सोचा था कि मैं अपने सभी व्यक्तिगत स्कोर के साथ 6000 का आंकड़ा पार कर सकता हूं। लेकिन ग़लतियों के लिए कहीं गुंजाइश नहीं होती, लेकिन मैंने फिर भी 5600 अंक हासिल किए, जो मैं मानता हूं कि मेरे प्रदर्शन के हिसाब से औसत है।“