कोरोना की वजह से उम्मीद न छोड़ें, ध्यान टोक्यो 2020 की तैयारियों पर लगाएं – किरेन रिजिजू

पिछले दो ओलंपिक में कुल 8 पदक जीतने वाले भारतीय एथलिटों से खेल मंत्री को उम्मीद है कि इस बार भारत की नज़र टॉप-5 देशों में रहने की होनी चाहिए

लेखक सैयद हुसैन ·

भारत के युवा मामलों और खेल मंत्री किरेन रिजिजू (Kiren Rijiju) ने भारतीय एथलीटों से उम्मीद की है कि वे सकारात्मक रहें और देश में कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से ध्यान न भटकाएं और जमकर ओलंपिक की तैयारियों में लगे रहें।

पिछले ही हफ़्ते विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने तेज़ी से पूरी दुनिया में पैर पसार चुके कोरोना वायरस (COVID-19) को महामारी घोषित कर दिया है। जिसके बाद सभी देश और खेल संघ अपने खिलाड़ियों को इससे दूर रखने के लिए गंभीर और ज़रूरी क़दम उठा रहे हैं।

ज़्यादातर देशों ने अपने खिलाड़ियों की विदेश यात्राओं पर रोक लगा दी है, ताकि इस वायरस के चपेट में वे आने से बच सकें। लिहाज़ा इस वजह से कई ओलंपिक क्वालिफ़ायर्स भी अब तक रद्द या स्थगित किए जा चुके हैं।

भारतीय खेल मंत्री ने इस बीच अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से खिलाड़ियो का हौसला बढ़ाने की कोशिश की है, उन्होंने कहा है, ‘’कोरोना वायरस की वजह से कई प्रतिस्पर्धाएं और प्रतियोगिताएं स्थगित कर दी गईं हैं। लेकिन मैं अपने एथलिटों को कहना चाहूंगा कि आप हिम्मत न हारें, बस आप अपना ध्यान तैयारियों और प्रशिक्षण पर केंद्रित करें।‘’

कोरोना वायरस ने कई प्रतियोगिताओं को किया स्थगित

जिस बीमारी की शुरुआत कुछ पूर्वी देशों से हुई थी वह अब पूरी दुनिया में फैल चुकी है। जिसकी वजह से कई छोटे और बड़े खेल इवेंट इसकी चपेट में आ गए हैं, और उनपर रोक लग गई है या उन्हें रद्द करना पड़ा है।

जो प्रतियोगिताएं स्थगित या रद्द हुईं हैं, उनमें प्रमुख तौर पर आर्चरी वर्ल्ड कप, BWF इंडिया ओपन, स्विस ओपन, मलेशिया ओपन, सिंगापुर ओपन, मियामी ओपन और BNP पारिबास ओपन शामिल हैं। इनके अलावा FIH प्रो लीग, नई दिल्ली में होने वाला ISSF वर्ल्ड कप, जर्मनी में होने वाला बॉक्सिंग वर्ल्ड कप शामिल है।

हालांकि कुछ भारतीय एथलिटों ने अब तक टोक्यो 2020 का टिकट हासिल कर लिया है, लेकिन अभी भी कई ऐसे हैं जो क्वालिफ़ायर्स के ज़रिए अपने इस ख़्वाब को पूरा करने के लिए तैयारी कर रहे हैं, क्योंकि ओलंपिक में अब पांच महीनों से भी कम का समय बचा है।

प्रतिभा अनुसंधान समिति (Talent Research Committee)

2020 ओलंपिक में शिरकत करने वाले भारतीय दल से खेल मंत्री किरेन रिजिजू को काफ़ी अच्छी उम्मीदे हैं। पिछले दो ओलंपिक में भारत के नाम कुल 8 पदक ही थे, लेकिन किरेन रिजिजू को भरोसा है कि भारत को इस बार टॉप-5 में शामिल रहना चाहिए।

खेल मंत्रालय ने एक प्रतिभा अनुसंधान समिति (Talent Research Committee) बनाने का भी फ़ैसला किया है, जिसका उद्देश्य गांव और छोटे शहरों से भी प्रतिभाओं को खोजकर निकालने का होगा।

रिजिजू ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (PTI) से बाचतीत में कहा, ‘’हमारा सपना है कि भारत खेल में एक सुपरपॉवर देश बने।‘’