फ़िटनेस से अलग: लॉकडाउन में भारतीय एथलीटों की छुट्टी की एक झलक

देश की पूरी आबादी की तरह भारतीय स्टार एथलीट्स भी लॉकडाउन में अलग-अलग तरीके से टाइम पास कर रहे हैं।

कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी ने भारत की 130 करोड़ जनसंख्या को घर की चारदीवारी में रहने को मजबूर कर दिया है। लॉकडाउन के इस लंबे वक्त की वास्तविकता को समझते हुए भारतीय लोग वह हर काम कर रहे हैं, जिसे करने का पहले उन्हें समय नहीं मिलता था। वहीं कुछ अपने खास लोगों से दोबारा जुड़ने के लिए इस समय का उपयोग कर रहे हैं।

कुछ ऐसी ही स्थिति का सामना भारत के स्टार एथलीट्स कर रहे हैं। बहुत सारे खिलड़ियों ने फैंस के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया कि वह कैसे अपना समय बिता रहे हैं।

सिमरनजीत कौर  ने दिया अपनी कला का परिचय

भारतीय बॉक्सर सिमरनजीत कौर (Simranjeet Kaur), जिन्होंने हाल ही में महिला लाइटवेट (57-60 किलोग्राम) कैटेगिरी में  टोक्यो 2020 का कोटा हासिल किया है, वह स्केचिंग (तस्वीर बनाना) कर अपना समय बिता रही है।

उनके द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में देखा जा सकता है कि सिमनरनजीत एक स्केच बना रही हैं और इसके साथ ही सभी से घर में रहने की अपील कर रही हैं।

मैरी कॉम ने अपनी स्टाइल में लगाई झाड़ू

हम सभी की तरह ही भारत की महान बॉक्सर एमसी मैरी कॉम (MC Mary Kom) घर पर रोजाना झाड़ू लगा रही हैं। 6 बार की वर्ल्ड चैंपियन ने हालांकि बैकग्रांउड में गाना बजा इस काम को भी मजेदार अंदाज़ में अंजाम दिया।

पुस्तकों के साथ लवलीना बोरगोहेन और ज्योति गुलिया का मुकाबला

जब आप बॉक्सिंग जैसे आक्रमक खेल का हिस्सा होते हैं तो हम अंदाजा नहीं लगा सकते कि ये खिलाड़ी शांति वाला काम भी कर सकते हैं लेकिन भारतीय बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain) और ज्योति गुलिया (Jyoti Gulia) से तरफ से कुछ ऐसा ही देखने को मिला, दोनों ही खिलाड़ी किताब पढ़कर इस वक्त का सदुपयोग कर रहे हैं।

साइना, शरत, प्रणॉय और विजेंदर का फैमिली टाइम

बिल्कुल किसी भी काम से जरूरी परिवार के साथ समय बिताना है। वे एथलीट्स जिन्हें पूरे साल परिवार के साथ समय बिताने का वक्त नहीं मिलता था, वह इस मौके को दोनों हाथों से भुना रहे हैं।

जहां एक तरफ भारतीय टेबल डेनिस खिलाड़ी शरत कमल (Sharath Kamal) अपने बेटे और बेटी के साथ कुकिंग और पेंटींग करने में व्यस्त हैं तो दूसरी तरफ बैडमिंटन खिलाड़ी एचएस प्रणॉय (HS Prannoy) अपनी बेटी को बैडमिंटन के गुर सिखा रहे हैं

एक और भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) ने अपनी माता के साथ एक सुंदर तस्वीर साझा की। वहीं 2008 ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता विजेंदर सिंह (Vijender Singh) गार्डन में अपने बेटे साथ समय बिता रहे हैं।

अंजुम मोदगिल ने दिखाए मूव्स

अंजुम मोदगिल (Anjum Moudgil) ने लॉकडाउन के समय का जो वीडियो शेयर किया है, वह अब तक सबसे एनर्जेटिक कहा जा सकता है। भारतीय शूटर एनर्जेटिक क्लब म्यूजिक पर अपने डांस मूव्स दिखा रही हैं।

मनदीप और रूपिंदर पाल सिंह के साथ हंसी के पल

विदेशियों के साथ साथ मेजबान देशों के लिए भी कई हालात चुनौतीपूर्ण होते है क्योंकि विदेशियों को लोकल भाषा सीखने में काफी मुश्किल होती है।

कुछ इसी मानसिकता के साथ भारतीय हॉकी खिलाड़ी रूपिंदर सिंह (Rupinder singh) और मनदीप सिंह (Mandeep Singh) विदेशी भाषा को सीखते हुए मस्ती कर रहे हैं। ये दोनों ही खिलाड़ी बाकी हॉकी खिलाड़ियों की तरह लॉकडाउन के समय SAI सेंटर में फंसे हुए हैं।

गौरव बिधूड़ी की मस्ती

सैलन बंद होने के कारण, गौरव बिधूड़ी (Gaurav Bidhuri ) ने अपनी बहन को अपने सिर पर हाथ आजमाने का मौका किया, हालांकि इसके नतीजे उतने डरावने नहीं हुए, जितने कि हममें से कई लोगों ने घर-संवारने के दौरान पहले प्रयास में अनभुव किए होंगे

वहीं नई हेयर स्टाइल के साथ ही उन्होंने सोशल मीडिया पर फोटो भी पोस्ट की, जिसमें वह छोले-भटूरे का आनंद ले रहे हैं।

सुमा शिरूर और शरथ कमल को कैसे छोड़ सकते हैं

साल 2004 ओलंपिक फाइनलिस्ट शूटर सुमा शिरूर (Suma Shirur) को यह दिखाने का मौका मिला कि इतने सालों में उन्होंने भारत की तरफ से कितने ब्लेजरों को प्राप्त किया। उनका ये संग्रह वास्तव में देखने लायक है और इसे देखकर किसी को भी उन पर गर्व होगा।

बच्चों के साथ समय बिताने के अलावा, शरत कमल ने अपनी कला को सभी के सामने दिखाते हुए ट्रिक शॉट्स करते हुए एक वीडिया बनाया। इस वीडियो में खेल के प्रति उनका जूनुन साफ तौर पर देखा जा सकता है।

फूलों की शौकीन मेहुली घोष

भले ही वह ट्रिगर दबाने वाली अंगुलियों के लिए जानी जाती हों लेकिन मेहुली घोष (Mehuli Ghosh) ने ये भी दिखाया कि वह इन अंगुलियों से और कुछ भी कर सकती हैं। 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स की सिल्वर मेडलिस्ट अपनी बालकनी में गार्डन की देखभाल करती दिखीं।

सोशल डिस्टेंसिंग का उदाहरण देती अदिति अशोक 

जहां एक तरफ हर जगह सोशल डिस्टेंसिंग का महत्व सभी को बताया जा रहा है, वहीं भारतीय गोल्फर अदिति अशोक (Aditi Ashok) ने भी अपनी खिड़की से चींटियों के ज़रिए इसका उदाहरण हर किसी के साथ साझा किया।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!