ओलंपिक की नई तारीख ने रोहन बोपन्ना समेत कई खिलाड़ियों को किया ख़ुश 

IOC द्वारा टोक्यो 2020 की अगली तारीख स्पष्ट होने पर कुछ इस तरह से खिलाड़ियों ने दी प्रतिक्रियाएँ।

(International Olympic Committee IOC) ने ऐलान कर दिया है कि ओलंपिक गेम्स अगले साल यानि साल 2021 में होंगे| ऐसे में खिलाड़ियों और उनके कोच को उनके साथ अधिक समय बिताने का मौका मिल गया है| आपको बताद दें कि टोक्यो गेम्स अब 23 जुलाई और 8 अगस्त 2021 के बीच आयोजित किए जाएंगे और एक बार फिर खेलों के महाकुँभ में पूरा विश्व जमकर हिस्सा लेगा|

ओलंपिक चैनल के साथ बहुत से जानेमाने खिलाड़ियों ने खेलों के स्थगित होने पर टिप्पणी दी| ज़्यादातर खिलाड़ी इस निर्णय से खुश दिखे क्योंकि उन्हें अभ्यास के लिए अतिरिक्त समय मिल गया है|

स्वास्थ्य का नंबर पहला

भारतीय टेनिस दिग्गज और टोक्यो गेम्स में भारत की बड़ी उम्मीद रोहन बोपन्ना (Rohan Bopanna) ने इस निर्णय की प्रशंसा की| इस खिलाड़ी ने बात करते हुए कहा “एक साल के लिए खेलों को स्थगित करना सही है क्योंकि सेहत से बढ़कर कुछ नहीं है| फिलहाल मैं यह नहीं कह सकता कि इससे खिलाड़ियों को फायदा होगा या नुकसान| प्रतियोगिताओं की तारीख अभी फाइनल नहीं हुई है और हमे नहीं पता की इनका रैंकिंग पर क्या असर पड़ेगा|”

दो ओलंपिक गेम्स में मेडल जीतने वाले सुशील कुमार (Sushil Kumar) ने भी स्वस्थ्य और सुरक्षित रहने पर बयान दिया और कहा “अभी बहुत समय है| फिलहाल हमे कोरोना वायरस (COVID-19) से सतर्क रहना होगा| जो भी भारत सरकार बोल रही है हमे उसे फॉलो करना होगा| हम इसे बाद ओलंपिक के लिए तैयारियां शुरू कर सकते हैं|

नई तारीखों से हो सकती है रणनीति बेहतर

वही भारतीय टेबल टेनिस के सितारे साथियान गणानाशेखरन (Sathiyan Gnanasekaran) का मानना है कि टोक्यो ओलंपिक गेम्स को अगले साल स्थगित करने के बाद खिलाड़ियों को रणनीति बनाने का अधिक समय मिल गया है|

साथियान ने कहा कि “मेरे ख्याल से खेलों को स्थगित कर देना ही उचित निर्णय था| सबकी सेहत और स्वास्थ्य सबसे ज़्यादा ज़रुरी है| यह अच्छा हुआ और अब कोई भी एथलीट तारीख को लेकर बेचैन नहीं होगा|”

उन्होंने आगे कहा “खेलों को पूरे एक साल आगे बढ़ाने से सभी प्रक्रियाएं अच्छे से होंगी| हमे बस अपनी रणनीतियों को बरकरार रखते हुए कुछ चीज़ों को दोबारा से प्लान करना होगा| एक बार क्वालिफिकेशन की प्रक्रिया स्पष्ट हो जाए उसके बाद प्लान करने सभी के लिए आसान हो जाएगा| ऐसे में जुलाई के महीने में ITTF स्थगित की गई प्रतियोगिताओं को भी दोबारा करने के बारे में सोचा जा सकता है।''

ओपन 13 प्रोवेंस के क्वार्टरफाइनल में पहंचे रोहन बोपन्ना 
ओपन 13 प्रोवेंस के क्वार्टरफाइनल में पहंचे रोहन बोपन्ना ओपन 13 प्रोवेंस के क्वार्टरफाइनल में पहंचे रोहन बोपन्ना 

तैयारियों का मिला अधिक समय

भारतीय बॉक्सर स्वीटी बूरा (Saweety Boora) का मानना है कि एक साल का लंबा अरसा खिलाड़ियों को अपने कौशल को बेहतर करने का मौका देगा| स्वीटी बूरा ने कहा “कोरोना वायरस की वजह से खेलों को स्थगित करना एक अच्छा निर्णय है| ऐसे में खिलाड़ियों को और ज़्यादा ट्रेनिंग करने का मौका मिलेगा| अगर खिलाड़ियों को इस स्थिति में खेलना होता तो इस वायरस से संक्रमित भी हो सकते थे| नई तारीख के आजाने से खिलाड़ियों को हौंसला मिलेगा|”

एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में टोक्यो गेम्स में स्थान बनाने वाले बॉक्सर मनीष कौशिक (Manish Kaushik) भी स्वीटी की बात से सहमत हैं और उनका मानना भी यही है कि नई तारीख से खिलाड़ियों को हौंसला ज़रूर मिलेगा|

मनीष ने कहा “अब हमारे पास तैयारी करने के लिए एक अधिक साल है| हम इससे और बेहतर हो सकते हैं| जो इवेंट रह गए हैं वे भी महत्वपूर्ण है और मैं हर स्थिति के लिए तैयार हूं|” मनीष कौशिक के अलावा नमन तनवर (Naman Tanwar) भी ओलंपिक खेलों में भारत को गौरवान्वित करना चाहते हैं| हाल ही में हुए एशियन बॉक्सिंग ओलंपिक क्वालिफायर्स में तनवर ओलंपिक गेम्स के लिए क्वालिफाई तो नहीं कर पाएं लेकिन अब आगे आने वाला समय उनके लिए बेहद खास है|

बॉक्सर तनवर ने बताया “एक साल का समय काफी है और खिलाड़ी अपनी फिटनेस और ट्रेनिंग पर ध्यान दे सकते हैं| ऐसे में खिलाड़ियों को ज़्यादा मौके मिलेंगे|”

ओलंपिक गेम्स के 124 साल के इतिहास में पहली बार किसी महामारी की वजह से खेलों को स्थगित किया गया है| COVID-19 के चलते IOC ने गेम्स को अगले साल करने का फैसला किया है और हम उम्मीद करते हैं कि यह निर्णय सभी के हित में साबित हो।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!