किसने क्या कहा: टोक्यो ओलंपिक को स्थगित किए जाने के बाद भारतीय एथलीटों की प्रतिक्रियाएं

64 भारतीय एथलीटों ने कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लॉकडाउन से पहले ही ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर लिया था।

लेखक ओलंपिक चैनल ·

भारतीय एथलीटों और कोचों ने बड़े पैमाने पर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के टोक्यो ओलंपिक को एक साल तक स्थगित करने के फैसले का स्वागत किया है, जिसे अब साल 2020 से आगे की तारीख पर पुनर्निर्धारित किया जाएगा लेकिन 2021 की गर्मियों से आगे नहीं।

आधुनिक ओलंपिक के 124 साल पुराने इतिहास में ये सिर्फ चौथी बार है जब खेलों को स्थगित किया गया हो। पिछले तीन बार पहले और दूसरे विश्व युद्ध के कारण थे, जिससे पता चलता है कि स्थगन के फैसले केवल वर्तमान स्थिति की गंभीरता को देखते हुए लिए गए हैं।

दुनियाभर में हर दिन कोरोना वायरस (COVID-19) के मामलों की संख्या बढ़ रही है, जिससे देशों को लॉकडाउन होने पर मजबूर होना पड़ा है, ये निर्णय 24 मार्च को एक संयुक्त आईओसी-टोक्यो आयोजन समिति के बाद लिया गया था।

मैरी कॉम (Mary Kom), लिएंडर पेस (Leander Paes), पीटी उषा ( PT Usha) और अन्य के नेतृत्व में भारतीय एथलीटों ने ऐतिहासिक फैसले का स्वागत किया। नीचे पढ़िए किसने क्या कहा-

मैरी कॉम: मुझे लगता है कि ये सभी के लिए अच्छा है

पहले ही 2020 ओलंपिक के लिए अपनी बर्थ सुरक्षित करने वाली और 2012 ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता एमसी मैरी कॉम ने प्रेस ट्र्स्ट ऑफ़ इंडिया (PTI) को बताया कि, "अभी जो स्थिति है वो ठीक नहीं है। जीवन हमेशा पहले आता है, बाकी सब कुछ के लिए इंतजार किया जा सकता है। खिलाड़ियों की सुरक्षा सर्वोपरि है। इस फैसले को लेने वाले सभी लोगों ने इस बात की पुष्टि की। मुझे लगता है कि ये सभी के लिए अच्छा है। अब मुझे तैयारी के लिए और समय मिल गया है, हमारी ट्रेनिंग योजना को बढ़ाया जा सकता है। और ये सिर्फ मेरे लिए ही नहीं है, ये दुनिया भर में सभी के लिए है।"

लिएंडर पेस: खेलों को स्थगित करने के लिए IOC को पूरा श्रेय

1996 के ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाले 46 वर्षीय लिएंडर पेस ने स्पोर्टस्टार को बताया कि, "इस तरह से एक कठिन समय में, जहां कोरोना वायरस महामारी दुनिया के लगभग हर कोने में फैला हुआ है, टोक्यो भी इससे बचा नहीं था, इसलिए 2021 तक के लिए खेलों को स्थगित करने के लिए ओलंपिक समिति को पूरा श्रेय जाता है। ये लाखों लोगों के लिए एक बहुत कठिन निर्णय है। खेलों के आयोजन के लिए ओलंपिक के प्रयास को देखते हुए, यह एक कठिन निर्णय है। ये सुनिश्चित करने के लिए मैं आईओसी, जापान ओलंपिक समिति और भारतीय ओलंपिक संघ सहित सभी लोगों को धन्यवाद देता हूं कि सभी एथलीटों और खेल प्रेमियों को इन जैसे कठिन समय से बचाने के लिए।”

लिएंडर पेस ने IOC और जापान ओलंपिक कमेटी के इस फ़ैसले की तारीफ़ की

पीटी उषा: किसी को भी निराशा नहीं होना चाहिए

पीटी उषा ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया (TOI) से कहा कि, "मैं अब दुनिया की सबसे खुश इंसान हूं कि ओलंपिक को एक साल के लिए स्थगित कर दिया गया है। किसी को भी निराश होने की जरुरत नहीं हैं। दो साल के अंतराल के बाद इसे आयोजित करने से अच्छा है कि इसे एक साल के लिए स्थगित कर दिया गया है। मैं सभी को बधाई देती हूं।” "भले ही ये थोड़ा निराशाजनक है, लेकिन ओलंपिक बड़ा है और इंसानों की ज़िंदगी बड़ी है। इस निर्णय के लिए सभी को धन्यवाद देती हूं।"

अंजू बॉबी जॉर्ज: ओलंपिक ने अपना आकर्षण बचाए रखा

अंजू बॉबी जॉर्ज (Anju Baby George) ने TOI को बताया कि, “टोक्यो खेलों के आयोजकों और जापानी सरकार के साथ मिलकर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने इसे स्थगित कर के एक सराहनीय काम किया है अन्यथा ओलंपिक का आकर्षण खत्म हो जाता। इस निर्णय से मुझे यकीन है कि इसका (आकर्षण) बच गया है।”

अभिषेक वर्मा: सार्वजनिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक था

अभिषेक वर्मा (Abhishek Verma) ने स्पोर्टस्टार को बताया कि, “ये सार्वजनिक हित को ध्यान में रखते हुए एक महत्वपूर्ण घोषणा है साथ ही साथ सार्वजनिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ये आवश्यक था। अगले साल सभी देशवासी पूर्ण रूप से स्वस्थ्य होकर इसमें भाग ले सकेंगे।”

मनु भाकर: मुझे यकीन है कि सोच का एक हिस्सा इसमें चला गया है

मनु भाकर (Manu Bhakar) ने स्पोर्टस्टार को बताया कि, “मानव स्वास्थ्य प्राथमिकता है। मुझे यकीन है कि ये बहुत सोच समझ कर फैसला लिया गया है। WHO और सरकारी दिशा निर्देशों का पालन करें और घर पर रहें।”

अदिति अशोक: सावधानी बरतना ज्यादा बेहतर है

भारतीय महिला गोल्फर अदिति अशोक (Aditi Ashok) ने गोल्फ चैनल को बताया कि, "मुझे खुशी है कि ऐसा निर्णय लिया गया है। ये केवल समय की बात थी क्योंकि स्वास्थ्य और सुरक्षा हमेशा सबसे महत्वपूर्ण होती है और गलती करने से बेहतर है सावधानी बरतना। उम्मीद है जब भी हम प्रतिस्पर्धा करेंगें, तो हम बिना किसी COVID-19 के डर के अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देंगे। मैं घर पर तैयारी कर रही हूं और इसी तरह आगे भी कड़ी मेहनत करती रहूँगी।”