सितंबर में हो सकती है भारतीय एथलीट्स की मैदान में वापसी

नेशनल बॉडी को आशा है कि साल 2020 का इस्तेमाल भारतीय एथलीट्स की फ़िटनेस और ट्रेनिंग के लिए किया जाना चाहिए ताकि अगले साल होने वाले ओलंपिक के लिए तैयार हो सकें।

एथलेटिक्स फ़ेडरेशन ऑफ इंडिया (AFI) को आशा है कि घरेलू सीज़न की शुरुआत सितंबर से हो जाएगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से 100 से अधिक अधिकारियों की उपस्थिति में हुई विशेष आम बैठक (एसजीएम) में गवर्निंग बॉडी ऑफ स्पोर्ट इन इंडिया ने इस कैलेंडर पर सहमति जताई। इस बैठक में हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर वोल्कर हरमन, मुख्य कोच बहादुर सिंह और उप मुख्य राधाकृष्णन नायर ने भी हिस्सा लिया

कैलेंडर के अनुसार, सीज़न की शुरुआत 12 सितंबर से इंडियन ग्रां प्री Indian Grand Prix) के साथ होगी। इसके बाद 20-24 सितंबर को ओपन नेशनल (Open Nationals) होंगे। वहीं फेडरेशन कप (Federation Cup ) का आयोजन 5-9 अक्टूबर के बीच किया जाएगा।

वहीं दूसरी इंडियन ग्रां प्री का आयोजन 20 अक्टूबर को किया जाएगा, जबकि इंटर स्टेट एथलीट्स प्रतियोगिता 29 अक्टूबर से 2 नवंबर तक होगी। वर्ल्ड एथलीट्स संस्था ने ओलंपिक क्वालिफिकेश के समय को 30 नवंबर तक के लिए स्थगित कर दिया है। इसका मतलब ये है कि एथलीट्स को फिटनेस हासिल करने का समय मिल जाएगा, जो कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी के कारण वह कर पाए थे।

AFI प्लानिंग कमेटी के चेयरमैन डॉ. ललित के भनोट ने SGM को संबोधित करते हुए कहा, "हमने दो चरणों में प्रतियोगिता के लिए योजना बनाई थी लेकिन एक में हमें विलंब करना पड़ा।"

कैलेंडर को बनाने के पीछे क्या उद्देश्य था इस पर हरमन ने कहा कि हमारा पूरा फोकस 2021 में होने वाले ओलंपिक पर है। क्वालिफिकेशन शुरू होने से पहले हम चाहते हैं कि भारतीय एथलीट्स घरेलू सीजन में पूरी तरह से तैयार हो जाएं। इससे उन्हें क्वालिफिकेशन में काफी मदद मिलेगी।

हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि “हमने केवल इंटरनेशनल नहीं बल्कि घरेलू स्थिति पर भी विचार किया है। हमें उम्मीद है कि सितंबर से नवंबर तक तैयारी कर सकते हैं। इस कैलेंडर को बनाने के पीछे मुख्य वजह ये है कि एथलीट्स इंटरनेशनल लेवल के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाएं।”

2021 में होने वाले ओलंपिक के क्वालिफिकेशन पर नज़रें

हरमन ने बताया कि “घरेलू सीजन के बाद सीनियर एथलीट्स अगले सेशन के लिए तैयारी करेंगे। हम चाहते हैं कि मार्च में होने वाली पहली प्रतियोगिता (IGPs) से पहले सभी एथलीट्स पूरी मेहनत से कड़ी ट्रेनिंग करें ताकि इसका फायदा उन्हें वहां हो।”

इसके अलावा उन्होंने कहा,“ओलंपिक में भाग लेने वाले एथलीट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रशिक्षण और प्रतिस्पर्धा के लिए जाएंगे। वहीं जून में भारत में अंतिम क्वालीफाइंग स्पर्धा इंटर-स्टेट एथलीट्स होगी।”

इसके साथ ही एसजीएम ने सर्वसम्मति से पदाधिकारियों के कार्यकाल का विस्तार करने पर भी सहमति व्यक्त की, जब तक कि सदस्य मिलकर बैठक के लिए एक साथ चुनाव नहीं कर सकते।

गवर्निंग बॉडी को संबोधित करते हुए एएफआई के अध्यक्ष एडिले जे सुमारिवाला (Adille J Sumariwalla) ने कहा कि “महासंघ चुनाव के संचालन के लिए एक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त कर प्रतिनिधियों के नामांकन को सुरक्षित करने के लिए आगे बढ़ गया था लेकिन कोरोनवायरस वायरस महामारी ने उन्हें चुनाव स्थगित करने पड़े।”

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!