नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में पहुंचने का लक्ष्य बनाएं: हरमन

भारत के हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर नीरज चोपड़ा के कंधे से उम्मीदों को बोझ कम करने की कोशिश भी कर रहे हैं।

भारतीय एथलीट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर वोल्कर हरमन जेवलिन स्टार नीरज चोपड़ा के ऊपर से उम्मीद का बोझ कम करना चाहते हैं ताकि वह दबाव में ना आ जाएं। इस खिलाड़ी से सभी भारतीय अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में पदक की उम्मीद कर रहे हैं।

वोल्कर हरमन ने द हिंदू से बातचीत के दौरान कहा कि “जेवलिन में प्रतिस्पर्धा काफी मुश्किल है क्योंकि कई खिलाड़ी ऐसे हैं जो 90 मीटर से भी ऊपर थ्रो कर सकते हैं”। इसी के साथ उसका वह पहला ओलंपिक है और एथलीट को दबाव से निपटने के लिए ओलंपिक के एक सर्कल से निकलना बेहतर होता है। मैं उसके ऊपर कोई दबाव नहीं डालना चाहता”

नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra), जिन्होंने साल 2018 में एशियन गेम्स (Asian Games) के साथ साथ कॉमनवेल्थ गेम्स (Commonwealth Games) में भी गोल्ड मेडल जीता था, उन्होंने इस साल जनवरी में 87.87 मीटर थ्रो कर टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया था। क्वालिफाई करने के लिए 85 मीटर का लक्ष्य निर्धारित था।

22 साल के इस खिलाड़ी के नाम नेशनल रिकॉर्ड भी है और वह टोक्यो ओलंपिक में भारत की तरफ से पदक जीतने की बड़ी उम्मीद है, लेकिन वोल्कर को लगता है कि इस युवा खिलाड़ी को सबसे पहले जापान में फाइनल में पहुंचने की कोशिश करनी चाहिए। इस खिलाड़ी से पदक जीतने की उम्मीद साल 2024 में की जानी चाहिए।

2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने के बाद भारतीय जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा 
2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने के बाद भारतीय जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने के बाद भारतीय जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा 

वोल्कर हरमन ने कहा कि मुझे लगता है कि “उसे फाइनल में पहुंचने पर ध्यान देना चाहिए, अगर आप टॉप 8 खिलाड़ियों में जगह बनाते हो तो कुछ भी संभव हो सकता है। मैं ये नहीं कहूंगा कि नीरज मेडल जीतेगा, यह बहुत जल्दी होगा। हां अगर वह ऐसा कर पाने में सफल हुए तो निश्चित तौर पर हम सभी को बहुत खुशी होगी लेकिन मुझे लगता है कि उसे यह गोल साल 2024 के लिए बनाना चाहिए।”

इसके अलावा भारतीय हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर ने कहा कि नीरज चोपड़ा के साथ साथ शिवपाल सिंह (Shivpal Singh) ( एक और जेवलिन खिलाड़ी जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया) 2021 ओलंपिक के लिए बेहतर आकार में होना होगा क्योंकि उनकी उम्र एक साल बढ़ चुकी होगी।

वोल्कर हरमन ने आगे कहा कि “दोनों ही खिलाड़ी बेहतर आकार में है और जिसके कारण उनका हालही प्रदर्शन काफी अच्छा रहा था लेकिन उस समय से वह एक साल बड़े होंगे”। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि “उनकी उम्र अभी बहुत कम है इसलिए मुझे लगता है कि 2021 में भी उनका प्रदर्शन अच्छा रहेगा।”

शिवपाल सिंह ने ओलंपिक का कोटा पिछले ही महीने एसीएनडबल्यू लीग मीटिंग में 85.47 मीटर थ्रो कर हासिल किया था। भारत के जेवलिन कोच और महान खिलाड़ी यूवे होन (Uwe Hohn) का मानना ​​है कि शिवपालऔर नीरज दोनों के पास 90 मीटर के ऊपर थ्रो करने की काबिलियत है।

नीरज चोपड़ा, शिवपाल सिंह, रेसवॉकर्स केटी इरफान (KT Irfan) और भावना जाट, अविनाश साबले, जो 3000 मीटर स्टीपलचेज़ में माहिर हैं, पहले ही टोक्यो के लिए भारतीय दल में शामिल है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!