साइना नेहवाल ने बैडमिंटन एकेडमी खोलने की तरफ़ बढ़ाए क़दम

लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता को धर्मशाला में बैडमिंटन एकेडमी खोलने के लिए ज़मीन मिल गई है।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

भारत के उभरते हुए बैडमिंटन खिलाड़ियों को जल्दी ही वर्ल्ड क्लास सुविधाओं के साथ ट्रेनिंग करने का मौका मिलेगा, क्योंकि लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल (Saina Nehwal) ने अपने एकेडमी को खोलने की तरफ पहला कदम बढ़ा दिया है।

साइना नेहवाल को हिमाचल प्रदेश राज्य खेल विभाग से हरी झंडी मिलने के साथ ही बैडमिंटन एकेडमी स्थापित करने के लिए धर्मशाला शहर में साढ़े छह एकड़ में फैली जमीन मिल गई है।

यह फैसला साइना नेहवाल और उनके पति भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पारुपल्ली कश्यप (Parupalli Kashyap) को उनके सपने को साकार करने का अवसर दे रहा है।

2012 लंदन ओलंपिक की कांस्य-पदक विजेता ने पिछले महीने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से अपील की थी, जिसमें कहा गया था कि उत्तर भारत में युवाओं को बेहतर सुविधा देने के मकसद से वह एक एकेडमी खोलना चाहती हैं।

अगर फिलहाल भारत की प्रमुख बैडमिंटन एकेडमी की बात करें तो वह हैदराबाद की पुलेला गोपीचंद एकेडमी (Pullela Gopichand Academy) और बेंगलुरु स्थित प्रकाश पादुकोण एकेडमी (Prakash Padukone Badminton Academy) है।

ये दोनों एकेडमी ही भारत के साउथ क्षेत्र में है, जिसकी वजह से नॉर्थ के खिलाड़ियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

नेहवाल और कश्यप धर्मशाला में बैडमिंटन एकेडमी खोलने के इच्छुक थे, इसकी एक और वजह है। दरअसल पहाड़ी शहर, धर्मशाला, समुद्र तल से 1,457 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जो भारत में उच्चतम स्थानों में से एक है।

स्टार खिलाड़ियों को लगता है कि यह स्थान शटलरों को उच्च-ऊंचाई प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आदर्श है क्योंकि खिलाड़ियों को विदेशों में कुछ इसी तरह के मौसम में प्रतिस्पर्धा करनी होती है।

अब अगर साइना नेहवाल का एकेडमी खोलने का प्लान सफल हो जाता है तो भारत में एक और बेहतर सुख सुविधा वाली एकेडमी होगी।

भारत के नेशनल टीम के कोच पुलेला गोपीचंद (Pullela Gopichand) देश की सबसे सफल एकेडमी चला रहे हैं तो वहीं महान खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण (Prakash Padukone) भारत के पहले ऐसे पूर्व खिलाड़ी हैं, जिन्होंने खुद की एकेडमी खोली है।

इसके अलावा पूर्व ओलंपियन ज्वाला गुट्टा (Jwala Gutta) ने भी इसी कदम पर बढ़ते हुए पिछले महीने ही हैदराबाद में ज्वाला गुट्टा एकेडमी का शुभारंभ किया है।