सात्विक और चिराग को ओलंपिक में क्वालिफाई में मदद करेंगे 2012 ओलंपिक के सिल्वर मेडलिस्ट मैथियास बोए

भारतीय सरकार ने टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम के तहत दोनों बैडमिंटन खिलाड़ियों के आवेदन को मान लिया है।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने के लक्ष्य को सामने रखते हुए भारतीय युगल खिलाड़ी सात्विकसाईराज रैंकिरेड्डी (Satwisairaj Rankireddy) और चिराग शेट्टी (Chirag Shetty) ने लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता मैथियास बोए (Mathias Boe) को अपने कोच के रूप में चुना है।

डेनमार्क का ये महान खिलाड़ी अगले हफ्ते हैदराबाद में भारतीय युगल टीम के साथ जुड़ेंगे। इस दौरान वह अश्विनी पोनप्पा (Ashwini Ponnappa) और एन सिक्की रेड्डी (N Sikki Reddy) के साथ भी काम करेंगे।

बोए इंडोनेशिया के फ्लेंडी लिम्पेले की जगह लेंगे, जिन्होंने पिछले साल व्यक्तिगत कारणों से इस पद को छोड़ दिया था।

भारतीय युगल टीम इससे पहले एशियन लिम्पेले और किम टैन के अंडर प्रशिक्षण लिया लेकिन बोए के आने के साथ ही अब ट्रेनिंग में यूरोपियन फ्लेवर भी देखने को मिलेगा ।

चिराग शेट्टी ने ओलंपिक चैनल से बातचीत में बताया कि “हां, दोनों के खेलने में काफी अंतर है लेकिन वह पिछले साल ही रिटायर हुए हैं। इसलिए उन्हें शीर्ष 10 में मौजूद प्रतिभा के बारे में पता है और आगे बढ़ने के लिए हमें क्या करना चाहिए, यह समझाने में हमारी मदद कर सकते हैं।"

इसके अलावा उन्होंने कहा कि इसके अलावा, बोए और कार्स्टन मोगेंसन (उनके डबल्स पार्टनर) का टाइट मैचों में जीतने का शानदार रिकॉर्ड है। बोए सर्व और नेट गेम का जबरदस्त खिलाड़ी रहे हैं। और यह एक ऐसा क्षेत्र है जिस पर हमें काम करने की आवश्यकता है। बोए के साथ काम करने से हमें बहुत बड़ी मनोवैज्ञानिक बढ़त मिलेगी।”

फोटो: मैथियास बोए ने 2012 लंदन खेलों में पार्टनर कार्स्टन मोगेंसन के साथ ओलंपिक रजत पदक जीता।

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी टोक्यो 2020 के लिए कट बनाने के लिए प्रबल दावेदार है, इस समय वह रेस टू टोक्यो में नौवें स्थान पर हैं। वहीं टॉप 16 जोड़ियां ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करेंगी।

भारतीय जोड़ी ने ओलंपिक ईयर की शानदार शुरुआत की है। इस जो़ड़ी ने टोयटा थाईलैंड ओपन (Toyota Thailand Open) के सेमीफाइनल तक का सफर तय किया। अब बोए के आने के बाद सतविकसाईराज रैंकीरेड्डी को विश्वास है कि उनका खेल अलग लेवल पर पहुंच जाएगा।

स्पोर्ट्स ऑथरिटी ऑफ इंडिया की प्रेस रिलीज में सतविकसाईराज ने कहा कि “जब हम बैंकॉक में अपना दूसरा टूर्नामेंट खेल रहे थे तो हम आश्वस्त थे। हम फिट हैं और हमारे अंदर आग है लेकिन हमें मानसिक रूप से बहुत बेहतर करने की जरूरत है। बोए की नियुक्ति से हमें टाइट मैच जीतने में मदद मिलेगी।"

भारतीयों को अगली बार मार्च में स्विस ओपन सुपर 300 कार्यक्रम में देखा जाएगा।

अपने खेल के दिनों के दौरान, मैथियास बोए यूरोप में 2012 ओलंपिक में एक रजत, दो ऑल इंग्लैंड ओपन खिताब और 2013 विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में एक रजत के साथ सबसे ज्यादा चर्चा में रहे।

डेन प्रीमियर बैडमिंटन लीग का भी हिस्सा थे, जो भारत में एक फ्रेंचाइजी आधारित प्रतियोगिता थी, जहां उन्होंने पुणे 7 एस के लिए चिराग शेट्टी के साथ हिस्सा लिया था।