पिता के COVID-19 के टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने की वजह से सारलोरलक्स ओपन से हटे लक्ष्य सेन

अपने पिता के कोरोना टेस्ट में पोजिटिव रिजल्ट आने के बाद लक्ष्य सेन ने प्रतियोगिता से बाहर होने का फैसला किया।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) ने बुधवार को बताया कि डीके सेन (DK Sen) का COVID-19 का रिपोर्ट पोजिटिव आया है, जिसके कारण गत चैंपियन लक्ष्य सेन (Lakshya Sen) ने जर्मनी के सार्कब्रोकन में खेले जा रहे सुपर 100 सारलोरलक्स ओपन (SaarLorLux Open) से अपना नाम वापस ले लिया है।

लक्ष्य सेन और उनके पिता डीके सेन ने भारत लौटने का फैसला किया है, लेकिन अभी एक और टेस्ट होना बाकी है।

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी को पहले दौर में बाई मिली थी और बुधवार को USA के हॉवर्ड शू (Howard Shu) के खिलाफ अपने खिताब की रक्षा करने के अभियान की शुरूआत करनी थी। शू को अब वॉकओवर दे दिया गया है।

19-वर्षीय सेन दो सप्ताह पहले सीज़न की शुरूआत करने वाले डेनमार्क ओपन से प्रतिस्पर्धात्मक एक्शन में लौटे थे। सेन दूसरे दौर में पहुंचने के बाद डेनमार्क में पीटर गाडे अकादमी में प्रशिक्षण ले रहे थे।

लक्ष्य सेन के पिता और कोच डीके सेन के फिजियो रविवार को सारलोरलक्स ओपन के लिए सारब्रुकेन पहुंचे थे।

उन्हें पास के फ्रैंकफर्ट जाने की सलाह दी गई थी, जो सारब्रुकेन से तीन घंटे दूर है।

मंगलवार को आए टेस्ट के रिपोर्ट के बाद से पता चला है कि लक्ष्य और उनके फिजियो का रिपोर्ट नेगेटिव आया है, लेकिन उनके पिता का रिपोर्ट पोजिटिव था।

इसके बाद लक्ष्य सेन ने टूर्नामेंट आयोजकों को सूचित किया और अन्य खिलाड़ियों को इस खतरनाक वायरस से बचाने के इरादे से उन्होंने सिंगल्स से अपना नाम वापस ले लिया।D

लक्ष्य सेन ने सारलोरलक्स ओपन के बाद पीटर गाडे अकादमी में प्रशिक्षण की योजना बनाई थी और उन्हें फ्रांस के नेशनल स्पोर्ट्स सेंटर प्रशिक्षण देने के लिए भी आमंत्रित किया गया था। हालांकि, उन योजनाओं पर अब पानी फिर गया है।

सेन के बाहर होने और मालविका बंसोड (Malvika Bansod) के पहले दौर से हार कर बाहर होने का मतलब है कि अजय जयराम (Ajay Jayaram) और 2018 के चैंपियन शुभंकर डे (Subhankar Dey) ही सरलोरलक्स ओपन में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बचे हैं।

दोनों बुधवार को अपने दूसरे दौर के मैच खेलने वाले हैं।