चोट के कारण बीडल्यूएफ एशियन लेग इवेंट से बाहर हुए लक्ष्य सेन

भारतीय खिलाड़ी को बेंगलुरु में ट्रेनिंग सेशन के दौरान चोट लग गई, जिसके बाद उन्हें कुछ हफ्ते आराम की सलाह दी गई है।

लेखक लक्ष्य शर्मा ·

भारत के शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन (Lakshya Sen) को चोट की वजह से एशियन लेग ऑफ इवेंट से अपना नाम वापस लेना पड़ा। कोरोना के कारण लंबे समय बाद बैडमिंटन सीजन की शुरुआत हो रही है लेकिन लक्ष्य इसमें हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

19 साल के इस खिलाड़ी को ट्रेनिंग के दौरान चोट लग गई थी और अब डॉक्टर ने उन्हें कोर्ट पर लौटने से पहले कुछ हफ्ते आराम करने को कहा है।

लक्ष्य सेन के ट्रेनिंग सेंटर प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन एकेडमी (Prakash Padukone Badminton Academy) ने ओलंपिक चैनल को बताया कि “उन्हें कुछ दिन पहले शरीर के पिछले हिस्से में चोट लगी थी और उन्होंने कल डॉक्टर से सलाह ली। हालांकि यह ज्यादा गंभीर नहीं है लेकिन लक्ष्य को दोबारा ट्रेनिंग शुरू करने से पहले कुछ हफ्तों के आराम की सलाह दी गई है।”

इसके अलावा ट्रेनिंग सेंटर की तरफ से बताया गया कि “लक्ष्य इस महीने होने वाले दो थाईलैंड ओपन में हिस्सा नहीं ले पाएंगे लेकिन हमें उम्मीद है कि वह उसके बाद होने वाले टूर्नामेंट में खेलते नजर आएंगे।”

साल 2018 यूथ ओलपिंक (Youth Olympics) के कांस्य पदक विजेता लक्ष्य सेन ने साल 2020 में खेले गए कुछ टूर्नामेंट्स में हिस्सा लिया था।

इस दौरान भारतीय खिलाड़ी इन टूर्नामेंट्स में ज्यादा आगे नहीं बढ़ पाया हालांकि इस दौरान उन्होंने कई बड़े खिलाड़ियों को  मात दी। लक्ष्य ने बैडमिंटन एशिया टीम चैंपियनशिप में एशियन गोल्ड मेडलिस्ट जोनाथन क्रिस्टी (Jonathan Christie) को हराया तो वहीं डेनमार्क में खेली गई ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में उन्होंने पूर्व वर्ल्ड चैंपियन विक्टर एक्सेलसेन (Viktor Axelsen) को कड़ी टक्कर दी।

इसी प्रदर्शन की बदौलत वह पिछले साल मार्च में अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग (27) पर पहुंचने में सफल रहे, इसके बाद कोरोना महामारी के कारण रैंकिंग को फ्रिज कर दिया गया था।

अब लंबे ब्रेक के बाद भारतीय शटलर कोर्ट पर वापसी के लिए तैयार था लेकिन चोट ने उन्हें घेर लिया। बीडब्ल्यूएफ इवेंट के एशियाई लेग के लिए भारतीय दल रविवार को बैंकॉक के लिए रवाना हुआ। थाईलैंड और भारत के बीच एयर बबल के समझौते को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है, इसी वजह से थाईलैंड की यात्रा शुरू करने से पहले भारतीय शटलर दुबई जाएंगे।

यूके से बैंकॉक पहुचेंगी पीवी सिंधु

वहीं वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु (PV Sindhu) रविवार को यूके से बैंकॉक पहुंच सकती हैं।

 थाईलैंड 12 जनवरी से लेकर 31 जनवरी तक BWF वर्ल्ड टूर फाइनल्स के अलावा दो सुपर 1000 इवेंट्स की मेजबानी करने के लिए तैयार है।

स्थानीय आयोजकों ने खिलाड़ियों और अधिकारियों के लिए सख्त गाइडलाइन बना रखी है, जिसे सभी को फॉलो करना आवश्यक है। थाईलैंड पहुंचने वाले सभी लोगों को बैंकॉक पहुंचने से 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना होगा और उसके बाद 14 दिन होटल में क्वारंटाइन रहना होगा।