ओलंपिक को ध्यान में रखते हुए थाइलैंड में अपने नए सीजन की शुरूआत करेंगे पीवी सिंधु और साई प्रणीत

बी साई प्रणीत, पीवी सिंधु और साइना नेहवाल जनवरी में थाईलैंड में होने वाले सीज़न-ओपनिंग इवेंट्स में भारतीय बैडमिंटन टीम को मजबूती प्रदान करेंगे।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया (BAI) ने अगले महीने थाईलैंड में शुरू होने वाले 1000 सुपर इवेंट्स के लिए एक मजबूत टीम की घोषणा की है। इस टीम में भारत के शीर्ष क्रम के शटलर, बी साई प्रणीत (B Sai Praneeth) भी शामिल है, जो इस मौके का फायदा उठाने के लिए बेकरार हैं।

BAI ने दो थाईलैंड ओपन और BWF वर्ल्ड टूर फाइनल्स के लिए अपनी भागीदारी की पुष्टि की, जिसके तुरंत बाद ओलंपिक चैनल से बात करते हुए साई प्रणीत ने कहा कि नए साल में होने वाली प्रत्येक प्रतियोगिता ओलंपिक पर केंद्रित होगी।

साई प्रणीत ने 2021 के लिए अपनी योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा, "ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करना है और वहां पदक जीतना है।"

“मुझे कोई प्रतिस्पर्धा किए हुए बहुत लंबा समय हो गया है। मैं तैयार हूं और प्रतिस्पर्धा में वापस आने के लिए उत्सुक हूं। मैं पिछले कुछ महीनों से ट्रेनिंग कर रहा हूं। लेकिन मैंने कोई प्रतिस्पर्धा नहीं की है। जहां तक मैं मानता हूं, फिट होना और मैच फिट होना दो अलग चीजें हैं।” 

बी साई प्रणीत के साथ, भारतीय बैडमिंटन टीम में ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु (PV Sindhu), साइना नेहवाल (Saina Nehwal), युगल खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा (Ashwini Ponnappa), एन सिक्की रेड्डी (N Sikki Reddy), चिराग शेट्टी (Chirag Shetty), सत्विकसाईराज रैंकीरेड्डी (Satiwiksairaj Rankireddy) और पूर्व विश्व नंबर 1 श्रीकांत किदांबी शामिल हैं।

पीवी सिंधु जनवरी में होने वाले थाइलैंड ओपन के साथ बैडमिंटन कोर्ट में वापसी करेंगी

हालाँकि साई प्रणीत ने 2020 के सीजन में सराहनीय प्रदर्शन किया था, जिसकी वजह से वो दुनिया के शीर्ष 10 में प्रवेश करने में सफल रहे – लेकिन साल की शुरूआत में वो उस लय को बरकरार नहीं रख सके। COVID-19 महामारी कैलेंडर को रोकने से पहले उन्होंने सभी छह मैच गंवाए थे। 

आठ महीने के लंबे ब्रेक के बाद कोर्ट में वापसी करते हुए, 28 वर्षीय साई प्रणीत को अगले साल जुलाई में टोक्यो खेलों से पहले अपना फॉर्म वापस पाने की उम्मीद है।

भारतीय शटलर ने कहा, “लक्ष्य तो वही है। लेकिन यह देखा जाना बाकी है कि मैं महामारी से पहले जिस स्तर पर था, उसे वापस कैसे पा सकता हूं।”

उन्होंने कहा, “साल के पहले कुछ इवेंट्स में कुछ ज्यादा उम्मीद नहीं है क्योंकि बहुत लंबे ब्रेक के बाद मेरी पहली प्रतियोगिता होगी। ऐसा इसलिए नहीं कि मैं कुछ महीनों के लिए चोटिल हो गया था। बैडमिंटन में 8-10 महीने का ब्रेक बहुत लंबा समय होता है। 

“मुझे ये भी ध्यान रखने की आवश्यकता है कि हर बार जब हम खेलने उतरेंगे तो अपने लय में वापस आने के लिए खेलेंगे। थाइलैंड में मिले अवसर का फायदा उठाना होगा। हां, मैं खेलने के लिए उत्साहित हूं। यहां अतिरिक्त प्रोत्साहन, अतिरिक्त ऊर्जा हमेशा रहती है। मुझे उम्मीद है कि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दे सकता हूं।”

उनकी विश्व रैंकिंग (13) को देखते हुए, साई प्रणीत टोक्यो ओलंपिक में खेलने के लिए योग्य हैं। लेकिन भारतीय शटलर को नए साल में अपने प्रदर्शन को जारी रखना होगा।

लेकिन शटलरों को अभी भी 2021 सीज़न के भविष्य के बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं है, साई प्रणीत ने किसी भी ठोस योजना को तैयार करने से पहले स्थिति को देखने की बात कही।

उन्होंने कहा, "हां, प्रतिस्पर्धाएं आ रही हैं लेकिन हमें अभी भी यकीन नहीं है कि कौन सी इवेंट्स आगे बढ़ेंगी और कैसे।"

"यूरोपीय इवेंट्स मार्च में शुरू होती हैं, हमारी एकमात्र आशा ये है कि स्थिति तब तक बेहतर हो जाएंगी और हम वहां खेल सकते हैं। जब भी हमारे पास सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा, मैं अपने कैलेंडर पर काम करने के लिए बेहतर स्थिति में रहूंगा। लेकिन अभी के लिए पूरा फोकस ओलंपिक पर है।''