बैडमिंटन

टोयोटा थाईलैंड ओपन के पहले राउंड में साइना नेहवाल हुई धराशायी

साइना नेहवाल के फोरहैण्ड शॉट्स ने उनका साथ नहीं दिया और वहीं परुपाली कश्यप को थाईलैंड ओपन से चोट के चलते बाहर होना पड़ा।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) मंगलवार को टोयोटा थाईलैंड ओपन के पहले राउंड में हार गईं हैं। नेहवाल को कोर्ट पर उनकी पुरानी प्रतिद्वंदी रत्चानोक इंतानोन (Ratchanok Intanon) ने 21-17, 21-8 से मात दी।

नेहवाल के लिए यह लगातार दूसरी बड़ी हार बन कर सामने आई। इससे पहले भारतीय बैडमिंटन स्टार को बुसानन ओंगबह्मरुंगफान (Busanan Ongbhamrungphan) ने योनेक्स थाईलैंड ओपन के दूसरे राउंड में पस्त किया था।

नेहवाल ने अपने मुकाबले को ज़रा धीमे शुरू किया और भारतीय शटलर इससे पहले मुकाबले का पहला अंक अपने नाम करतीं उस पहले रत्चानोक इंतानोन ने 5-0 की बढ़त अपने हाथ में रख ली थी।

पलटवार करते हुए नेहवाल ने 4 अहम अंक अपने नाम किए लेकिन अपने अनुभव का प्रयोग करते हुए इंतानोन ने कोर्ट का बखूबी इस्तेमाल किया और 11-7 से खुद को आगे रखा।

लंदन 2012 गेम्स में ब्रॉन्ज़ मेडल जीतने वाली नेहवाल खतरनाक फोरहैण्ड शॉट्स मारने शुरू किए लेकिन ज़्यादा अंक बटोरने में असफल रहीं नतीजन इंतानोन ने पहली गेम अपने नाम करली थी।

दूसरी गेम में थाई खिलाड़ी मानों कुछ अलग ही सोच कर आईं ही और उन्होंने आते ही आक्रामक तेवर दिखाने शुरू कर दिए। हालांकि इस बार नेहवाल ने उनके शॉट्स का अच्छा जवाब दिया और और अपने उपर हो रहे हमलों के आगे डट कर कड़ी रहीं।

मुकाबले के आगे बढ़ने पर भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी से न चाहते हुए भी कुछ त्रुइयान देखी गईं जिसका खामियाज़ा उन्हें पॉइंट्स के रूप में भोगना पड़ा। अब आक्रामक 11-5 से आगे चल रही थी।

मध्य समय के बाद भी नेहवाल के खेल में ज़्यादा बदलाव नहीं दिखा और उनके लॉन्ग शॉट्स और वाइड सर्व उनका साथ नहीं दे पा रहे थे। ऐसे में उनकी प्रतिद्वंदी ने आसानी से मुकाबले अपने नाम किया और अपने कारवां को आगे बढ़ाने में सफल रहीं।

वहीं साइना नेहवाल के पति परुपाली कश्यप (Parupalli Kashyap) को इंजरी के चलते दूसरी गेम से खुद ही बाहर जाना पड़ा।

कश्यप का मुकाबला डेनमार्क के रासमुस गेम्के (Rasmus Gemke) के खिलाफ चल रहा था और मुकाबले की शुरुआत में ही उन्हें चोट के कारण खेल छोड़ना बड़ा इस कारणवश गेम्के को थाईलैंड ओपन के दूसरे राउंड में प्रवेश करने से कोई न रोक सका।

वर्मा रहे जिया पर भारी

भर्त्त शटलर समीर वर्मा (Sameer Verma) भी इसी प्रतियोगिता में मलेशिया के ली जी जिया (Lee Zii Jia) के खिलाफ कोर्ट में उतरे और अपने बेहतरीन खेल की बदौलत पहले राउंड को 18-21, 27-25, 21-19 के स्कोर से जीत लिया।

पहली गेम में ज्यादार समय वर्मा ने बढ़त अपने हक में रखी हुई थी लें 17वें पॉइंट के बाद वह एक भी अंक जीतने में असफल रहे और इस वजह से जिया उनसे आगे निकल गए और पहली गेम को जीतने में सफल भी रहे।

दूसरी गेम में समीर वर्मा ने मानों हार न मानने की कसम खाई हुई थी और जिया के खिलाफ डट कर खड़े हो गए। दोनों ही खिलाड़ी उम्दा पदर्शन दिखा रहे थे और एक दूसरे को अंक बटोरने से रोक रहे थे। अंततः दूसरी गेम में भारतीय शटलर समीर वर्मा 27-25 से विजयी साबित हुए।

आखिरी गेम में वर्मा से चालाकी भरा खेल दिखाया और शुरुआत में ही 8-4 से बढ़त अपने खेमे में रखी। जिया ही कहां हार मानने वाले थे और 20-19 के स्कोर पर उन्होंने वर्मा को 3 बार ब्रेक पॉइंट अर्जित करने से रोका। हालांकि मौका मिलते ही भारतीय बैडमिंटन स्टार समीर वर्मा ने एक अहम अंक प्राप्त किया और साथ ही मुकाबले को भी अपने नाम किया।

भारतीय खेमे की ख़बरों के लिए हमारे टोयोटा थाईलैंड ओपन के लाइव ब्लॉग को फॉलो करें।

मुख्य तस्वीर: बैडमिंटन फोटो- तस्वीर साभार BWF