साइना नेहवाल, किदांबी श्रीकांत को डेनमार्क ओपन में मिला मनपसंद ड्रॉ

भारतीय बैडमिंटन स्टार नेहवाल और किदांबी 6 महीने के बाद किसी भी स्पर्धा में भारत का प्रतिनिधित्व करते नज़र आएंगे।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

पूर्व भारतीय सर्वश्रेष्ठ रैंक बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) की नज़र 13 अक्टूबर से शुरू होने वाले सुपर 750 डेनमार्क ओपन पर है। दोनों ही शटलर प्रोफेशनल बैडमिंटन में वापसी करने की पूरी कोशिश करते नज़र आएंगे।

विश्व नंबर-20 साइना नेहवाल पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बनेंगी, जो डेनमार्क में फ्रांस की रैंक नंबर-135 की याले होयॉक्स (Yaelle Hoyaux) के खिलाफ खेलती नज़र आएंगी। ग़ौरतलब है कि यह मुकाबला महिला एकल वर्ग में खेला जाएगा।

विश्व रैंक 14 पर काबिज़ किदांबी श्रीकांत का सामना 52वीं रैंक के टोबी पेंटी (Toby Penty) के साथ होगा। इतना ही नहीं दूसरे राउंड में किदांबी हमवतन शुभंकर डे (Subhankar Dey) के खिलाफ अपने कौशल को आज़माते दिखाई दे सकते हैं।

5वीं सीड के खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने डेनमार्क ओपन 2017 को अपने नाम किया था। हालांकि यही खिलाड़ी टोक्यो 2020 की रेस में फिलहाल 22वें नंबर पर हैं और सर्वश्रेष्ठ 16 ही अपने कारवां को ओलंपिक गेम्स की ओर ले जा सकते हैं।

सुपर 750 इवेंट भारतीय शटलर किदांबी को रैंकिंग से जुड़े अंक तो नहीं देंगे लेकिन मुकाबलों में वापसी करने का सुनहरा अवसर ज़रूर साथ लाएंगे।

किदांबी ने ESPN से बातचीत के दौरान कहा, “मैं डेनमार्क में खेलने के लिए उत्साहित हूं। मुझे अपनी आखिरी प्रतियोगिता खेले हुए 6 महीने हो गए हैं और यह एक लंबा अरसा होता है।”

“मैं डेनमार्क इस सोच से नहीं जा रहा की मुझे रैंकिंग अंक नहीं मिलेंगे। चाहे वह गिने जाएं या न जाएं, मैं तब भी वहां जीतने की कोशिश करूंगा।

किदांबी श्रीकांत की नज़रें डेनमार्क ओपन को दूसरी बार जीतने पर हैं।

भारतीय पुरुष एकल वर्ग में 6 खिलाड़ी मौजूद हैं और किदांबी श्रीकांत उनमे से एक हैं। बैडमिंटन के उभरते सितारे लक्ष्य सेन (Lakshya Sen) का सामना फ्रांस के क्रिस्टो पापोव (Christo Popov) से होगा और दिग्गज अजय जयराम (Ajay Jayaram) और पारुपल्ली कश्यप (Parupalli Kashyap) कोर्ट पर एंडर्स एंटोसेन (Anders Antonsen) और कोकी वातानाबे (Koki Watanabe) के खिलाफ उतरेंगे।

यह प्रतियोगिता बायो बबल के अंतर्गत खेली जाएगी और सभी खिलाड़ियों के लिए यह एक नया अनुभव होगा। कश्यप ने इस सिलसिले पर बात करते हुए द न्यू इंडियन एक्सप्रेस से कहा “हम खेल रहे हैं, इसी बात से हम खुश हैं। मैं सोच रहा हूं कि वहां की व्यवस्था क्या होगी।”

शुभंकर डे ने इस विषय पर कहा “बहुत समय बाद हम किसी स्पर्धा के लिए जा रहे हैं और हमे उस मानसिक स्थिति में आना पड़ेगा। किसी भी मुकाबले को खेलना मुश्किल होने है।”

भारत का डेनमार्क ओपन का लक्ष्य

महिला एकल

साइना नेहवाल बनाम याले होयाक्स

पुरुष एकल

कोकी वातानाबे बनाम पारुपल्ली कश्यप

लक्ष्य सेन बनाम क्रिस्टो पापोव

अजय जयराम बनाम एंडर्स एंटोसेन

शुभंकर डे बनाम जेसन एंथनी हो-शू

टोबी पेंटी बनाम किदांबी श्रीकांत