उबेर कप में मिले मौक़े को पूरी तरह से भुनाना चाहती हैं युवा शटलर मालविका बनसोड़

पिछले साल की जूनियर एशियन चैंपियन नागपुर की रहने वाली युवा शटलर मालविका बनसोड़ डेनमार्क में पीवी सिंधु और साइना नेहवाल के साथ भारतीय ड्रेसिंग रूम साझा करने के लिए तैयार हैं।

लेखक सैयद हुसैन ·

युवा भारतीय शटलर मालविका बनसोड़ (Malvika Bansod) को देखकर ऐसा लगता है जैसे उनपर कोरोना वायरस (COVID-19) महामारी का कोई असर नहीं है। बल्कि उन्हें अभी सिर्फ़ इस बात का इंतज़ार है कि कब वह भारतीय बैडमिटंन दल के साथ डेनमार्क के लिए रवाना होती हैं, जहां उबेर कप खेला जाना है।

उबेर कप आधिकारिक महिला वर्ल्ड टीम चैंपियनशिप है, जो डेनमार्क के आर्हस में 3 अक्टूबर से 11 अक्टूबर के बीच खेला जाएगा।

मालविका ने इससे पहले 2019 में किसी अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में शिरकत की थी जब वह बांग्लादेश इंटरनेशनल चैलेंज में नज़र आईं थीं। इसके बाद वह लगातार घरेलू प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले रहीं थीं लेकिन मार्च में लगे लॉकडाउन ने खेल गतिविधियों पर विराम लगा दिया था।

2019 की एशियन जूनियर चैंपियन के बेहतरीन खेल को आख़िरकार बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया (BAI) ने परखा और अब उन्हें इस प्रतिष्ठित उबेर कप में भारतीय दल का हिस्सा बनाया गया।

मालविका बनसोड़ उबेर कप में भारतीय बैडमिंटन दल का हिस्सा होंगी, जिसका नेतृत्व पीवी सिंधु और साइना नेहवाल करेंगी। तस्वीर साभार: BAI

प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया (PTI) से बातचीत मालविका बनसोड़ ने कहा, “कई ऐसे महीने गुज़रे जहां कोई खेल नहीं हो पाया, लिहाज़ा मैं इस दौरे को लेकर काफ़ी उत्साहित हूं। हालांकि इसको लेकर मैं ज़्यादा चिंतित भी नहीं।“

“ये पहली बार है जब मेरा नाम उबेर कप में शामिल किया गया है, इसलिए मैं बहुत ख़ुश हूं। मैं पिछले दो महीनों से ख़ुद को फ़िट रखने के लिए जमकर मेहनत कर रही थी। मैंने जूनियर भारतीय कोच संजय मिश्रा के साथ भी कई सत्रों में अभ्यास किया है, मैं पूरी तरह फ़िट हूं। मुझे पपूरी उम्मीद थी कि मेरा नाम भारतीय दल में आएगा, देश का प्रतिनिधित्व करना गर्व की बात है।“

मालविका बनसोड़ की हालिया सफलताएं

2015 में मालविका जूनियर सर्किट में खेलती आ रही हैं, मालविका पिछले साल तब सुर्ख़ियों में आईं थीं जब उन्होंने एक के बाद एक मालदिव्स इंटरनेशनल फ़्यूचर सीरीज़ और नेपाल इंटरनेशनल सीरीज़ पर कब्ज़ा जमाया था।

इसके बाद उन्होंने अपनी उपस्थिति एशिया जूनियर चैंपियनशिप में धमाकेदार अंदाज़ में जर्द कराई, जहां 83वीं नंबर की मालविका ने विश्न नंबर-1 फिट्टायापॉर्न चाइवान (Phittayaporn Chaiwan) को हराते हुए सभी को चौंका दिया था।

मालविका भी मानती हैं कि चाइवान को हराना और एशिया जूनियर चैंपियनशिप का ख़िताब जीतना उनके करियर का सबसे बेहतरीन पल था।

“एशिया जूनियर चैंपियनशिप के अलावा मैंने कई घेरलू जूनियर और सीनियर टूर्नामेंट में जीत दर्ज की, साथ ही साथ पिछले साल कुछ अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ भी जीती। इसलिए मेरे लिए ये एक बेहतरीन साल रहा है।“

ओलंपिक पदक विजेताओं से सीखने का मौक़ा

उबेर कप के लिए भारतीय दल में युवा और अनुभव का शानदार मिश्रण है। मालविका बनसोड़ जैसी युवा प्रतिभा के लिए ये एक शानदार अवसर है, जहां वह पीवी सिंधु (PV Sindhu), साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और अश्विनी पोनप्पा (Ashwini Ponappa) जैसी दिग्गजों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खेलेंगी।

भारतीय मुख्य जूनियर राष्ट्रीय कोच संजय मिश्रा (Sanjay Mishra) ने भी कहा कि युवाओं के लिए ये एक बेहतरीन अवसर होगा।

“युवाओं के लिए ये किसी अवसर से कम नहीं क्योंकि वहां पीवी सिंधु और साइना जैसी ओलंपिक पदक विजेता भी होंगी। युवाओं के लिए अपने सीनियर करियर की ये एक शुरुआत है, लिहाज़ा उनके लिए आने वाले समय में ये काफ़ी फ़ायदेमंद होगा।“

भारतीय उबेर कप दल: पीवी सिंधु, साइना नेहवाल, आकर्षी कश्यप, मालविका बनसोड़, अश्विनी पोनप्पा, एन सिक्की रेड्डी, पूजा डांडू, संजना संतोष, पूर्वीषा एस राम और जक्कमपुड़ी मेघना।