भारतीय बॉक्सर कोलोन वर्ल्ड कप के लिए हैं तैयार

पहले केमिस्ट्री कप यानी कोलोन बॉक्सिंग वर्ल्ड कप में 8 देशों से 100 मुक्केबाज़ 13 भारवर्गों में हिस्सा लेंगे। यह प्रतियोगिता 16 दिसंबर से शुरू होगी।

लेखक जतिन ऋषि राज ·

साल ख़त्म होने से पहले भारतीय बॉक्सर जर्मनी में होने वाले कोलोन बॉक्सिंग वर्ल्ड कप (Cologne Boxing World Cup) में स्पर्धा करते हुए दिखाई देंगे। इस इवेंट का आयोजन 16 से 20 दिसंबर के बीच किया जाएगा।ग़ौरतलब है कि 9 पुरुष और 5 महिला भारतीय बॉक्सर अक्टूबर के महीने से इटली में ट्रेनिंग कर रहे हैं और उनकी नज़र टोक्यो गेम्स और वर्ल्ड ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स पर है।

इस साल जब कोई स्पर्धा नहीं हुई तो ऐसे में कोलोन बॉक्सिंग वर्ल्ड कप सभी मुक्केबाज़ों के लिए बेहद ख़ास होगा। हर कोई इसके ज़रिए अपनी लय को पाने की कोशिश करेगा और अपने कौशल को और ज़्यादा निखारना चाहे 

यूरोपियन बॉक्सिंग कन्फेडरेशन द्वारा आयोजित कोलोन बॉक्सिंग वर्ल्ड कप में भारत और यूरोप से लगभग 100 मुक्केबाज़ हिस्सा लेंगे और प्रतियोगिता की शान को बढ़ाएँगे। नीदरलैंड, बेल्जियम, पोलैंड, क्रोएशिया, यूक्रेन और जर्मनी से 13 भारवर्गों में मुक्केबाज़ अपने जौहर को दिखाते नज़र आएंगे। 

ग़ौरतलब है कि कोलोन बॉक्सिंग वर्ल्ड कप, जर्मनी अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग टूर्नामेंट केमिस्ट्री कप (Chemistry Cup) का नया नाम है।बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया ऑफ़ इंडिया (Boxing Federation of India – BFI) ने गुरुवार को इस बात की पुष्टि कर बताया कि जो टीम भारत वापस लौटने वाली थी वह अब स्पर्धा करने के बाद ही लौटेगी।

भारतीय पुरुष मुक्केबाज़ों ने अक्टूबर मेंएलेक्सिस वास्टीन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था लेकिन वहीं मार्च में हुए एशियन बॉक्सिंग क्वालिफायर्स के बाद महिला मुक्केबाज़ अब सीधा कोलोन बॉक्सिंग वर्ल्ड कप में स्पर्धा करेंगी।

Amit Panghal: India boxing's big new hope

Already picking up a silver medal at the World Championships and gold at th...

भारतीय महिला बॉक्सिंग के हेड कोच रैफेल बर्गमैस्को (Raffaele Bergamasco) का मानना है कि यह स्पर्धा लड़कियों के लिए बेहद ख़ास है

न्यू इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए बर्गमैस्को ने बताया “हम इस प्रतियोगिता में एथलीटों की फॉर्म को परखने के लिए हिस्सा ले रहे हैं। ऐसा कुछ प्लान में नहीं था लेकिन बिना स्पर्धा के इतना लंबा समय बिताने के बाद हमने प्रतियोगिता में हिस्सा लेने का निर्णय लिया।”

“एक बार हमे बाकी प्रतिभागियों (देशों) का पता चल जाए तो हम अपनी रणनीति पर भी काम कर सकते हैं।”

 वहीं पुरुष मुक्केबाज़ों के लिए इस स्पर्धा का मतलब कुछ कड़े प्रतिभागियों के खिलाफ रिंग में उतर कर खुद को आजमाना होगासैंटियागो निवा (Santiago Nieva) ने इस विषय पर बात करते हुए कहा “अब हमें इटली में अभ्यास करते हुए लगभग एक महीना हो गया है और अब हम यहाँ स्पर्धा करने के लिए आए हैं। फ्रांस में हमने कुछ कड़ी स्पर्धा में भाग लिया था और उसके बाद इटली में कुछ फ्रेंडली मुकाबले भी खेले थे और अब जर्मनी में एक मज़बूत प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। 

“इन सभी मौकों से हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारे खिलाड़ी स्पर्धा के लिए तैयार हों और ओलंपिक गेम्स के लिए ऊपरी-सीड पर तैनात भी हों।”

9 भारतीय बॉक्सर टोक्यो ओलंपिक गेम्स के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं। अब जब अगले साल ओलंपिक बॉक्सिंग क्वालिफ़ायर्स का आयोजन किया जाएगा तो ऐसे में भारत और ज़्यादा मुक्केबाज़ों को क्वालिफाई करना चाहेगा।