मुक्केबाज़ों के फिटनेस लेवल को स्थिर रखने में जुटे बर्गमैस्को 

भारतीय महिला बॉक्सिंग टीम के हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर वीडियो कॉल के माध्यम से खिलाड़ियों को इस कठिन घड़ी में फिट रखने में मदद कर रहे हैं।

देश भर में लॉकडाउन की वजह से सभी पर कई तरह की पाबंदी लग गई है और स्पोर्ट्स भी इससे अछूता नहीं रहा। भारतीय महिला बॉक्सिंग टीम इस मुश्किल वक्त में भी सकारात्मक सोच के साथ आगे देख रही है।

इस हालात में भारतीय बॉक्सिंग टीम के हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर रैफेल बर्गमैस्को (Raffaele Bergamasco) ने कमान संभाल रखी है।

इटालियल बर्गमैस्को जो अभी दिल्ली में रह रहे हैं, उन्होंने कहा कि वह रोजाना खिलाड़ियों से बात करते हैं और उनके साथ प्लान साझा करते हैं। स्पोर्ट्स स्टार से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि “बिलकुल, मैं सभी बॉक्सर के संपर्क में हूं और वीडियो कॉल के जरिए मैं रोज़ सभी से बात करता हूं।”

इसके अलावा उन्होंने कहा कि “मैं उन्हें ऐसे प्रोग्राम दे रहा हूं, जो वह कम संसाधन और तमाम परेशानियों के बावजूद भी कर पाएं। मैं उन्हें सीधा वीडियो कॉल करता हूं और कमी होने पर उन्हें बताता हूं”।

रैफेल बर्गमैस्को के कारण टीम के प्रदर्शन में हुई सुधार

महिला मुक्केबाजी टीम के साथ जुड़े बर्गमैस्को का कहना है कि यह प्रक्रिया यह सुनिश्चित करने के लिए है कि मुश्किल स्थिति के बावजूद मुक्केबाज शीर्ष आकार में रहें ताकि एक बार सामान्य प्रशिक्षण शुरू हो जाए तो वे अपने खेल को आगे ले जा सकें। इससे उनका काफी समय बचेगा।

रैफेल बर्गमैस्को महिला बॉक्सिंग टीम के साथ साल 2017 से जुड़े हुए हैं और उनकी मेहनत और परिश्रम की वजह से हम टीम के प्रदर्शन में सुधार देख सकते हैं।

 अब तक 4 महिला बॉक्सर्स ने टोक्यो 2020 ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर लिया है, इनमें से ज्यादातर साल 2012 लंदन ओलंपिक में हिस्सा ले चुके हैं। अगर अम्मान में एशियाई ओलंपिक क्वालीफाइंग स्पर्धा में उन सभी के प्रदर्शन पर नजर डालें तो इस लिस्ट में और नाम शामिल हो सकते हैं।

इस तरह की सफलता के बावजूद अफवाहें फैल रही है कि रैफेल बर्गामास्को की नौकरी COVID-19 महामारी को देखते हुए जल्दी ही जा सकती है।

इसके बावजूद इटालियन चितिंत नहीं है और उनका कहना है कि वह नहीं बल्कि उनका काम बोलेगा। उन्होंने कहा कि "यह सामान्य है कि हर विनाशकारी स्थिति के बाद सभी जॉब प्रोफाइल पर इसके परिणाम पड़ते हैं और खेल भी इससे अछूता नहीं है, लेकिन मैं भारत में बिताए अपने समय और काम से खुश हूं। ओलंपिक के टलने के बाद सभी के पास फाइनल तैयारी के लिए बहुत समय है”।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि "तो, इस तरह की धारणाएं निराधार हैं, हम सभी विश्व स्तर पर एक साथ हैं और इस लड़ाई में हमे डॉक्टर्स के लिए प्रार्थना करनी चाहिए, जो अपनी जान जोखिम में डालकर हमारी जिंदगी बचा रहे हैं”।

ओलंपिक क्वालिफायर में टीम के प्रदर्शन के बाद भारतीय खेल प्राधिकरण (Sports Authority of India) और बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (Boxing Federation of India) आश्ववासन दिया है कि उनका कार्यकाल साल 2021 तक बढ़ाया जाएगा। अब रैफेल बर्गमैस्को बाधाओं के बिना अपना अच्छा काम जारी रख सकते हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!