वापसी के साथ फ़ौआद मिर्ज़ा का मक़सद है टोक्यो का टिकट हासिल करना

7 महीने के अंतराल के बाद फ़ौआद मिर्ज़ा ने जर्मनी के क्रॉस कंट्री इवेंट में हिस्सा लिया, फ़ौआद की नज़र टोक्यो ओलंपिक में जगह बनाने पर है।

क़रीब 7 महीनों के लंबे अंतराल के बाद रिंग में वापसी कर रहे भारत के स्टार घुड़सवार फ़ौआद मिर्ज़ा (Fouaad Mirza) जर्मनी के वेस्टरस्टेड स्टैंडर्ड शो में अपने प्रदर्शन से ख़ुश नज़र आए।

भारतीय घुड़सवार ने पिछले साल नवंबर में टोक्यो ओलंपिक कोटा हासिल करने के बाद पहली बार रिंग में उतरे थे। अब उनकी नज़र टोक्यो 2020 का व्यक्तिगत टिकट हासिल करने पर है। कोरोना वायरस (COVID-19) की वजह से फ़ौआद पिछले 7 महीनों से किसी तरह के इवेंट में हिस्सा नहीं ले पाए थे।

पूरी दुनिया में लॉकडाउन होने के बाद फ़ौआद जर्मनी में ही फंस गए थे, जो उनके लिए सही भी रहा क्योंकि वह वहां ओलंपिक चैंपियन सैंड्रा ऑफ़र्थ (Sandra Auffarth) के अंदर लगातार प्रैक्टिस कर रहे थे।

और जैसे ही जर्मनी में क्रॉस कंट्री इवेंट की घोषणा हुई, वह उसमें शिरकत करने के लिए उपलब्ध थे।

हिन्दुस्तान टाइम्स के साथ बातचीत में फ़ौआद ने कहा, ‘’मेरी पिछली प्रतिस्पर्धा को हुए महीनो बीत गए जब मैंने नवंबर में फ़्रांस में शिरकत की थी।‘’

फ़ौआद मिर्ज़ा  फर्नहिल फेसटाइम और दजारा 4 के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे। तस्वीर साभार: फ़ौआद मिर्ज़ा/ट्विटर  
फ़ौआद मिर्ज़ा फर्नहिल फेसटाइम और दजारा 4 के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे। तस्वीर साभार: फ़ौआद मिर्ज़ा/ट्विटर  फ़ौआद मिर्ज़ा फर्नहिल फेसटाइम और दजारा 4 के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे। तस्वीर साभार: फ़ौआद मिर्ज़ा/ट्विटर  

अपने नए घोड़े दजारा 4 के साथ CCI 3 स्टार प्रतिस्पर्धा में बेंगलुरु के रहने वाले फ़ौआद 51वें नंबर पर रहे थे। जिसे फ़ौआद एक बेहतरीन प्रदर्शन मानते हैं क्योंकि वह तब बहुत नर्वस थे।

‘’प्रतियोगिता का पहला भाग ड्रेसेज था, और तब मैं थोड़ा नर्वस था। मैं जानता था कि ये इसलिए है क्योंकि काफ़ी दिनों से मैंने कोई प्रतिस्पर्धा नहीं की थी, लेकिन जैसे ही मैंने शुरुआत की, सब ठीक हो गया था।‘’

फ़ौआद ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा, ‘’लेकिन एक घुड़सवार के तौर पर, मैंने थोड़ा रिंग रस्ट दिखाया। ये बस ऐसा था कि मैं वहां गया और शांति से राइडिंग की, जहां मुझे घोड़े से और तालमेल बैठाना चाहिए था।‘’

ड्रेसेज के अलावा इस तीन दिवसीय CCI 3 स्टार प्रतियोगिता में क्रॉस कंट्री और शो जंपिंग इवेंट भी था जिसमें अपने प्रदर्शन से ये भारतीय घुड़सवार संतुष्ट नज़र आया।

‘’प्रतिस्पर्धा बहुत ज़्यादा मुश्किल नहीं थी और जिस तरह से उसने (दजारा-4) छलांग लगाई वह शानदार था। क्रॉस कंट्री राउंड में तो उसने एक मशीन की तरह प्रदर्शन किया, सारे हर्डल्स को पार किया और मैंने जितनी उम्मीद की थी उससे कहीं बेहतर प्रदर्शन किया।‘’

टोक्यो 2020 में जगह बनाने के लिए फ़ौआद मिर्ज़ा को अपने बचे हुए MER को CCI 4 स्टार लॉन्ग फ़ॉर्मेट में हासिल करना ज़रूरी है।
टोक्यो 2020 में जगह बनाने के लिए फ़ौआद मिर्ज़ा को अपने बचे हुए MER को CCI 4 स्टार लॉन्ग फ़ॉर्मेट में हासिल करना ज़रूरी है।टोक्यो 2020 में जगह बनाने के लिए फ़ौआद मिर्ज़ा को अपने बचे हुए MER को CCI 4 स्टार लॉन्ग फ़ॉर्मेट में हासिल करना ज़रूरी है।

टोक्यो ओलंपिक के टिकट पर है नज़र

ओलंपिक कोटा हासिल करने के बाद फ़ौआद मिर्ज़ा की नज़र है व्यक्तिगत तौर पर टोक्यो में जगह बनाने पर।

इसके लिए उन्हें CCI 4 स्टार के लंबे प्रारुप में MER (मिनिमम एलिजिबिलिटी रिकॉयरमेंट) हासिल करना होगा।

फ़ौआद यहां से हर एक प्रतियोगिता और ट्रेनिंग में इसी मक़सद को ध्यान में रखकर उतर रहे हैं।

जर्मनी के दिग्गज घुड़सवार सैंड्रा ऑफ़र्थ जिनके नाम लंदन 2012 में स्वर्ण पदक (टीम इवेंट) और कांस्य पदक (व्यक्तिगत) रहा है इसके अलावा रियो 2016 में भी उन्होंने टीम इवेंट में रजत पदक जीता था। उनके अंदर रहते हुए फ़ौआद मिर्ज़ा यूरोप में कई प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेते हुए नज़र आएंगे।

उन्होंने अपनी बात ख़त्म करते हुए कहा, ‘’कई राष्ट्रीय शो भी होने वाले हैं, इसके अलावा शो जंपिंग प्रतिस्पर्धा भी होनी है जिसमें मैं इस सप्ताहांत शिरकत करने वाला हूं। जो एक ट्रेनिंग की तरह का शो होगा, कम से कम घोड़ों से ज़्यादा मेरे लिए।‘’

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!