गोल्फ़ कोर्स के बजाय छत पर अभ्यास कर रही हैं अदिति अशोक, वापसी के लिए हैं बेक़रार

22 साल की ये गोल्फ़र इस समय बेंगलुरु में अपने घर पर हैं और लॉकडाउन के दौरान छत पर अभ्यास कर रही हैं।

भारतीय गोल्फर अदिति अशोक (Aditi Ashok) ने सभी खिलाड़ियों को लेडीज PGA (LPGA) टूर पर छूट देने के फैसले की सराहना की है जो इस सीजन में छूट दी गई थी कि 2021 के लिए भी अपने कार्ड रखें।

इस दौरे पर जाने वाली एकमात्र भारतीय गोल्फर अदिति अशोक ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) को बताया कि, "ये LPGA का एक शानदार कदम है।" "ये LPGA की अंतरराष्ट्रीय नेचर के लिए अनिवार्य था।’’

उन्होंने कहा, "कई खिलाड़ी अलग-अलग देशों से हैं इसलिए खिलाड़ियों और उनके देश के नियमों के साथ तालमेल बैठाना मुश्किल होता।"

"ये एक बड़ी राहत है और ये वो छोटी सी चीज है जिसके बारे में हमें खेलते समय सोचना होगा।"

इस साल केवल चार LPGA कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं, फरवरी के आख़िर में ISPS हांडा महिला ऑस्ट्रेलियाई ओपन प्रस्तावित है।

2019 के अंत में शानदार प्रदर्शन की वजह से उसे 2020 तक अपना कार्ड बनाए रखने में मदद मिली, हालांकि, इस साल उनके LPGA सीजन की शुरुआत में सभी दौरे के इवेंट्स को रोक दिया गया था जिसकी वजह से 2021 में होने वाले इवेंट्स के बारे में उन्हें संदेह था।

LPGA की घोषणा के बाद उन्हें थोड़ी राहत ज़रुर मिली है।

बोनविले में लेडीज़ क्लासिक में लेडीज़ यूरोपियन टूर और ऑस्ट्रेलिया में न्यू साउथ वेल्स ओपन में बेहतरीन प्रदर्शन के बाद अदिति अशोक ने टोक्यो ओलंपिक से पहले अपने शानदार प्रदर्शन की झलक दिखाई थी।

सरकार द्वारा भारत में लॉकडाउन लागू करने से पहले अदिति अशोक ने संयुक्त राज्य अमेरिका जाने की योजना बनाई थी।

लेकिन सभी यात्राओं को रद्द करने की घोषणा होने के बाद 22 वर्षीय ने बेंगलुरु में ही अपने घर वापस रहने का फैसला किया।

वापसी के लिए हैं बेक़रार

भारत में LPGA टूर की स्थिति सुरक्षित और लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील के साथ, अदिति अशोक अब मैदान पर उतरने और बचे हुए सीज़न में अपनी फॉर्म को बरकरार रखने के लिए उत्सुक हैं।

“मुझे कोर्स पर खेलना बहुत पसंद है। लेकिन अब, मुझे नियमों के अनुरूप होना है, भीड़ को देखना, समय के साथ तालमेल बैठाना है, देखना पड़ेगा कि मैं कितनी बार घर से बाहर निकल सकती हूं और खेल सकती हूं।’’

22 वर्षीय भारतीय गोल्फर ने कहा, "ये थोड़ा अलग होने वाला है, लेकिन मुझे यकीन है कि हर एथलीट तैयारी करने की पूरी कोशिश कर रहा है।"

‘’कोर्स पर अभ्यास करना ही विकल्प नहीं है। अपने खेल पर काम करने की इच्छाशक्ति को नहीं रोका जा सकता है।’’

अदिति अशोक ने अपनी बात ख़त्म करते हुए कहा कि, “मैंने अपनी छत पर पहले से ही अभ्यास करना शुरू कर दिया है। मैंने बहुत से चीज के साथ गेंदों को हिट किया है, लोहे से लेकर लकड़ी तक को मैंने इस्तेमाल किया है। मैं बहुत सी नई तरकीब भी सीख रही हूं।”

LPGA को अभी आधिकारिक तारीख की घोषणा करना बाकी है, हालांकि, एसोसिएशन ने सुझाव दिया है कि जुलाई के अंत में टूर का एक्शन फिर से शुरू होगा। 

PGA टूर पर 11 जून से चार्ल्स श्वाब चैलेंज के साथ गोल्फ जल्द ही फिर से शुरू होने वाला है।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!