अपनी प्रेरणा अन्निका सोरेनस्टैम से मिलना अदिति अशोक के लिए रहा बेमिसाल

रियो 2016 के दौरान भारतीय अदिति अशोक का के दो सपने पूरे हुए, एक ओलंपिक गेम्स में खेलना और दूसरा अपनी प्रेरणा से मिलना।

भारत में खेल और खिलाड़ियों को एक अलग ही दर्जा दिया जाता है। पिछले कुछ समय में हर तरह के खल को बढ़ावा मिला है और इसमें गोल्फ का नाम भी शामिल है।

भारतीय गोल्फ़ की बात करें तो इस दशक में कई खिलाड़ियों ने अपना नाम कमाया है और उनमे से एक हैंअदिति अशोक (Aditi Ashok)। साल 2016 भारतीय गोल्फर अदिति अशोक के लिए काफी अच्छा रहा था। इस साल अदिति ने दो लेडीज़ यूरोपियन टाइटल (Ladies European Tour LET) अपने नाम किए थे। एक खिताब घरेलू ज़मीन पर खेलते हुए आया था तो एक अपने देश से बाहर। इसके बाद इन्होने रियो ओलंपिक गेम्स 2016 (Rio Olympic Games 2016) की और रुख किया और वहां भी अच्छा प्रदर्शन किया। गेम्स की वजह से भारतीय गोल्फर ने लेडीज़ प्रोफेशनल गोल्फ एसोसिएशन (Ladies Professional Golf Association LPGA) का टिकट भी हासिल किया।

18 वर्षीय गोल्फर के लिए वह एक सुनहरे सपने जैसा था और इसी वजह से उन्हें अपनी बचपन की प्रेरणा अन्निका सोरेनस्टैम (Annika Sorenstam) से भी मिलने का मौका मिला।

ओलंपिक चैनल से बात करते हुए अदिति ने बताया “मैंने पढ़ा था कि कैसे उन्होंने 6 से 7 साल तक LPGA टूर में अपना दबदबा बनाया हुआ था।”

इस स्वीडिश स्टार के नाम 72 LPGA टूर विक्ट्री हैं। साल 2018 में इस दिग्गज ने खेल को छोड़ने का फैसला किया था। रियो गेम्स के दौरान अन्निका सोरेनस्टैम कॉमेंट्री टीम का हिस्सा रहीं थी और इसी मौके पर अदिति ने अपनी प्रेरणा से मुलाकात की थी।

अदिति ने आगे बताया “आखिरकार रियो के दौरान मैं उनसे मिल पाई। वे कुछ होल (गोल्ड फील्ड के होल) तक मेरे साथ चलींं और इस बीच हमने बातचीत भी की। यह एक उम्दा अनुभव था।” गौरतलब है कि अदिति अशोक को साल 2016 में ‘LET रुकी ऑफ़ द ईयर’ का अवार्ड भी मिला था। यही खिताब अन्निका सोरेनस्टैम ने 23 साल पहले जीता था।

यह कहना गलत नहीं होगा कि बेंगलुरु की इस गोल्फर ने भारत का काफ़ी नाम रोशन किया है। बातचीत के दौरान अदिति ने आगे बताया “बचपन में मैं केवल पुरुषों का गोल्फ देखा करती थी और उस समय ‘टाइगर वुड्स’ (Tiger Woods) को देखना मुझे काफी पसंद था। मुझे याद है मैं जल्दी उठा करती थी और उन्हें खेलते देखा करती थी।”

फिलहाल भारतीय गोल्फर अदिति अशोक ज़्यादातर USA में खेलती हैं और अभी खेल की दुनिया में उनका सफ़र बहुत लंबा है और वे इसे सफल बनाने की पूरी कोशिश कर रही हैं।

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया? इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करें!