गोल्फ

भारतीय गोल्फर अनिर्बान लाहिडी ने की ‘द साइंटिस्ट’ ब्रायसन डीचंब्यू की तारीफ़

यूएस ओपन चैंपियन ब्रायसन डीचंब्यू गोल्फ के लिए एक नया वैज्ञानिक दृष्टिकोण लेकर आए हैं और अनिर्बान लाहिड़ी को लगता है कि उनकी अविश्वसनीय प्रतिभा सबका ध्यान अपनी ओर खींचती है।

लेखक विवेक कुमार सिंह ·

ब्रायसन डीचंब्यू (Bryson DeChambeau) वो नाम है, जो गोल्फ के लिए अलग ही दृष्टिकोण रखता है, इनके आस पास भी दुनिया में कोई नहीं।

गोल्फ कोर्स में अपने शानदार खेल की वजह से ही 27 वर्षीय डीचंब्यू ने टूर पर ‘द साइंटिस्ट’ का नाम हासिल किया।

अमेरिकी गोल्फर ने ड्राइव कोण जैसे पहलुओं पर विशेष ध्यान दिया और ऑफ-सीज़न के दौरान लगभग 40 पाउंड अपने ड्राइव में शक्ति को बढ़ाने के लिए लगाए। ब्रायसन डीचंब्यू हाल ही में पीजीए टूर पर सबसे बड़े ड्राइवर बने हैं, जिसने पिछले महीने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक अविश्वसनीय 400-यार्ड ड्राइव पोस्ट किया था।

ये गोल्फ के करीब पहुंचने का एक तरीका है जो पहले कभी नहीं किया गया है और जबकि कुछ को लगता है कि ये एक क्रांतिकारी तरीका है, हालांकि कई दूसरे लोगों को इस पर संदेह भी है।

भारतीय गोल्फर अनिर्बान लाहिड़ी (Anirban Lahiri) ने ओलंपिक चैनल से कहा, "मुझे लगता है कि ब्रायसन ने जो किया है वो वास्तव में सराहनीय है, क्योंकि किसी ने भी उनको ये सिखाया नहीं है।"

"उन्होंने वास्तव में कड़ी मेहनत की है, वो खेल के नियमों का पालन करते हुए ऐसा कुछ कर रहे हैं और ऐसा कुछ भी नहीं कर रहे हैं जिससे उन्हें अनुचित लाभ मिले।"

ब्रायसन ने अपना पहला यूएस ओपन सितंबर में विंग्ड फुट में जीता, जहां उन्होंने सटीकता का शानदार प्रदर्शन किया था।

उन्होंने औसतन 325 गज की ड्राइव खेली थी, जो यूएस ओपन चैंपियन के लिए सबसे बड़ी ड्राइव थी, जबकि उन्होंने सिर्फ 23 फेयरवेज़ मारे थे, जो किसी भी यूएस ओपन विजेता के लिए सबसे कम था।

ब्रायसन डीचंब्यू ने द मास्टर्स से पहले गत चैंपियन टाइगर वुड्स के साथ अगस्ता नेशनल में अभ्यास किया।

डीचंब्यू ने यूरोपीय टूर पर एक साथ PGA टूर पर छह खिताब भी जीते हैं और यही वजह है कि अनिर्बान लाहिड़ी को लगता है कि 'साइंटिस्ट' के बारे में संदेह खत्म हो गया है।

"चलो इस बात को ज्यादा नहीं बढ़ाते हैं - आप गोल्फ की गेंद को सबसे लंबी दूरी तक मारकर टूर्नामेंट नहीं जीतते हैं, आप इसके लिए सबसे कम शॉट लेते हैं।”

लाहिड़ी ने कहा, “जो लोग उनसे खुश नहीं हैं, वे इस तथ्य को भूल रहे हैं कि उन्होंने गेंद को अच्छी तरह से नियंत्रित किया है।”

“और गोल्फ, दूसरे खेलों की तरह वर्षों से खेला जा रहा है। 80 और 90 के दशक के गोल्फर अब पूरी तरह से बदल गए हैं। मुझे लगता है कि हम सभी को खेल के साथ आगे बढ़ने के की जरूरत है।”

ब्रायसन डीचंब्यू गुरुवार को द मास्टर्स के खेलने के लिए पहुंच गए हैं। जो कि खिताब के प्रबल दावेदार हैं।

प्रसिद्ध अगस्ता नेशनल कोर्स का लेआउट उनकी खेलने की शैली के अनुरूप है और अगर वो दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित गोल्फ टूर्नामेंट में अपना दूसरा प्रमुख ख़िताब जीतते हैं, तो ये उनके विरोधियों को एक और मजबूत संदेश देगा।

भारत में देखिए PGA टूर का सीधा प्रसारण

गोल्फ फैंस भारत में यूरोस्पोर्ट और यूरोस्पोर्ट HD चैनलों पर पीजीए टूर का प्रसारण देख सकते हैं।