अनिर्बान लाहिड़ी रिकॉर्ड 21 बर्डीज़ के साथ बर्मुडा चैंपियनशिप में T-11 पर रहे

फ़ाइनल राउंड में 67 के स्कोर के साथ अनिर्बान लाहिड़ी ने ये तय कर दिया था कि वह टॉप-10 से बस एक पायदान ही नीचे रहेंगे, इस सीज़न ये उनका दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।

लेखक सैयद हुसैन ·

भारतीय गोल्फ़र अनिर्बान लाहिड़ी (Anirban Lahiri) ने रविवार को PGA टूर के बर्मुडा चैंपियनशिप में रिकॉर्ड प्रदर्शन के साथ टूर्नामेंट 11वें स्थान पर ख़त्म किया।

इस सीज़न में ये भारतीय गोल्फ़र का दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था, इससे पहले उन्होंने सितंबर में हुई कोरल्स चैंपियनशिप में 6ठे स्थान पर रहे थे।

लाहिड़ी ने इससे पहले तेज़ हवाओं और मुश्किल हालातों में कमाल का प्रदर्शन करते हुए वीकेंड के लिए आसानी से कट हासिल किया था। इसके बाद उन्होंने तीसरे राउंड में 6 बर्डीज़ लगाई थी, रियो 2016 ओलंपियन चौथे और फ़ाइनल राउंड में शबाब पर थे।

रविवार को चौथे राउंड की शुरुआत में लाहिड़ी ने पहले चार होल्स में दो बर्डीज़ लगाते हुए अपने इरादे साफ़ कर दिए थे। इसके बाद पार-5 सातवें पर उन्होंने एक और बर्ड़ी लगाई लेकिन फ़्रंट नाइन उन्होंने बोगी के साथ समाप्त की।

भारतीय गोल्फ़र अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित करते जा रहे थे, पार4-15वें पर भी उन्होंने एक और बर्डी लगाई।

हालांकि 16वें पर उन्होंने एक बोगी ज़ाया की लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपना संयम बनाए रखा और आख़िरी दो होल्स पर भी लगातार दो बर्डी के साथ लाहिड़ी ने ये राउंड 4-अंडर 67 के साथ ख़त्म किया। उनका कुल स्कोर अब तक 10-अंडर हो चुका था।

कमाल की बात ये है कि लाहिड़ी के स्टिक से आई कुल 21 बर्डीज़ वहां मौजूद किसी भी खिलाड़ी से ज़्यादा थी। जो इस बात का भी सबूत है कि भारतीय गोल्फ़र लगातार कैसे शानदार होते जा रहे हैं।

लाहिड़ी ने अपने इस प्रदर्शन के बारे में कहा, “इस सप्ताह मैं अपने प्रदर्शन से ख़ुश हूं। हालांकि मैंने कई छोटी ग़लतियां भी की हैं जो मुझे थोड़ा निराश भी कर गई। इस बात का भी मलाल है कि बेहद क़रीब से मैं टॉप-10 फ़िनिश चूक गया।“

टोक्यो ओलंपिक में भारतीय गोल्फर अनिर्बान लाहिड़ी का सपना अपने देश को सम्मानित करना है।

ब्रायन गे रहे चैंपियन

अमेरिकी गोल्फ़र ब्रायन गे (Brian Gay) ने आख़िरकार 7 साल बाद PGA टूर ख़िताब अपने नाम किया। उन्होंने प्ले-ऑफ़ के ज़रिए अपने ही हमवतन विंधैम क्लार्क (Wyndham Clark) को शिकस्त देकर बर्मुडा चैंपियनशिप जीता।

48 वर्षीय गे ने इससे पहले 2013 में हुमाना चैलेंज जीता था, संयोग से वह प्रतियोगिता भी उन्होंने प्ले-ऑफ के द्वारा जीती थी। चार राउंड के ख़त्म होने के बाद गे और क्लार्क दोनों ही एक समान 15-अंडर के स्कोर पर थे।